Mon. Mar 4th, 2024

भारत में महंगाई बढ़ी है या घाटी है यह तो केवल जनता ही बता पाएगी | लेकिन इस बढ़ती महंगाई को देखते हुए केंद्रीय सार्वजनिक वितरण एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल ने आम जनता को भारत चना दाल, आटा के बाद अब भारत चावल का उपहार दे रहे हैं | बढ़ती महंगाई पर नियंत्रण की कोशिशों के तहत केंद्र सरकार यह शुभ कार्य कर रही है | आपको बता दें कि केंद्रीय खाद्य, सार्वजनिक वितरण एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल ने मंगलवार को पांच एवं दस किलो के पैक में 29 रुपये प्रति किलो वाला ‘भारत राइस’ ब्रांड चावल लांच किया है। इसकी बिक्री नैफेड एवं एनसीसीएफ (भारतीय राष्ट्रीय उपभोक्ता सहकारी संघ) के साथ केंद्रीय भंडार के आउटलेट एवं प्रमुख ई-कामर्स प्लेटफार्म के माध्यम से की जाएगी। सरकार ने दावा किया है कि यह चावल औसत खुदरा कीमत से लगभग 34 प्रतिशत सस्ता है। अब कितना सस्ता है यह तो आम जनता ही बता पाएगी |

पहले चरण में खुदरा बाजार में बिक्री के लिए पांच लाख टन चावल उतारा गया है। गोयल ने कहा कि सरकार की इस पहल से मध्यम् वर्ग को राहत मिलेगी। उन्होंने कहा कि सरकारी प्रयासों से टमाटर और प्याज के मूल्यों को तेजी से नीचे लाने में मदद मिली है। गोयल ने कहा कि भारत आटा की लांचिंग के बाद आटे की महंगाई दर पिछले छह महीने से शून्य बनी हुई है। भारत राइस से चावल की महंगाई में भी यही असर दिखेगा। सरकार दैनिक उपभोग की वस्तुओं की कीमतों को किफायती बनाने के लिए सक्रिय है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, पिछले वर्ष की तुलना में इस बार चावल के मूल्य में 13.50 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। उपभोक्ता मामल के विभाग अनुसार, चावल क औसत खुदरा मूल्य मंगलवार क 43.98 रुपये किलो रहा, जबकि पिछले वर्ष समान तिथि में यह 38.1 रुपये किलो था। इस महंगाई की मार में सरकार की चावल , आटा, दाल स्कीम कितना राहत देगी अब ये देखना बाकी है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *