Fri. Jul 19th, 2024

लोकसभा 2024 में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने राष्ट्रीय लोकदल और जयंत चौधरी के भारतीय जनता पार्टी के साथ जाने के सवाल पर जवाब दिया है उन्होंने कहा कि जयंत सुलझे हुए और पढ़े लिखे नेता हैं मुझे उम्मीद है कि वह किसानों की लड़ाई को कमजोर नहीं करेंगे सपा नेता ने कहा कि जयंत चौधरी जी बहुत सुलझे हुए और पढ़े लिखे इंसान हैं राजनीति को वो समझते हैं मुझे उम्मीद है कि किसानों की लड़ाई और उत्तर प्रदेश की खुशहाली को लेकर जो संघर्ष चल रहा है उसे वो कमजोर नहीं होने देंगे इसके अलावा अखिलेश यादव ने अयोध्या दौरे पर भी प्रतिक्रिया दी उन्होंने कहा कि जब भगवान राम का बुलावा आएगा तब मैं अपने परिवार के साथ जाऊंगा कांग्रेस नेता राहुल गांधी की अगुवाई वाली भारत जोड़ो न्याय यात्रा में शामिल होने के सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा कि चूंकि लखनऊ के सबसे करीब रायबरेली है इसलिए मैं वहां से यात्रा में शामिल रहूंगा सपा सांसद डिंपल यादव ने भी इस पर प्रतिक्रिया दी उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता जयंत बीजेपी के साथ जाएंगे संसद परिसर में पत्रकारों से वार्ता के दौरान डिंपल ने कहा कि रालोद के नेता और राज्यसभा सांसद जयंत चौधरी ऐसा कोई कदम नहीं उठाएंगे जिससे किसानों को क्षति पहुंचे सपा सांसद ने कहा कि जिस तरह भाजपा सरकार किसानों के विरुद्ध काम कर रही है बजट में किसी भी प्रकार की एमएसपी का जिक्र नहीं है भाजपा के द्वारा हमारी पहलवान बहनों का अपमान हुआ है मैं नहीं मानती की आरएलडी के नेता जयंत चौधरी इस तरह का कोई कदम उठाएंगे जिससे किसानों को नुकसान पहुंचे हालिक अखिलेश को उम्मीद तो नितिश कुमार से भी थी जो इंडिया गठबंधन के सूत्रधार थे लेकिन उन्होने इंडिया गठबधन के साथ क्या किया वो किसी से छिपा नही है अखिलेश कितना भी भरोसा जयन्त चौधरी पर करें या उनसे उम्मीद लगाकर बैठे लेकिन अन्दरथाने सारी बाते सेट हो चुकी है। सूत्रो से तो ये पता लगा है कि आरलडी और बीजेपी को लेकर चार सीट की बात फाइनल हो गई है सिर्फ पाचवी सीट मुजफ्फरनगर को लेकर मथन चल रहा है यह वही सीट है जिसे लेकर सपा के साथ आरएलडी का पेच फसा था अब देखना होगा की बीजेपी मुजफ्फरनगर की सीट झोली में डालकर क्या जयन्त चौधरी को अपने पाले में कामयाब कर पाएगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *