Tue. Feb 27th, 2024
स्वामी प्रसाद मौर्या

विवादित टिप्पड़ियों से घिरे हुए स्वामी प्रसाद मौर्या ने एक बार फिर से विवादित टिप्पड़ी कर दिया है | स्वामी प्रसाद कर्पूरी ठाकुर सेना की ओर से गाजीपुर के लंका मैदान में आयोजित एक कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। इस कार्यक्रम मे बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर का शताब्दी वर्ष जयन्ती समारोह मनाया गया। इस दौरान समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा कि उनका जीवन हम सबके लिए प्रेरणास्रोत है। कर्पूरी ठाकुर के बताये रास्ते पर चलकर ही इस मुल्क को भाजपा की तानाशाही हुकूमत से छुटकारा दिला सकते हैं। अयोध्या में हुए प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को जनता के बुनियादी सवालों से ध्यान हटाने के लिए भाजपा का पाखंड बताते हुए उन्होंने कहा कि देश के संविधान और लोकतंत्र पर गहरा संकट है। भाजपा सरकार जनता के मौलिक अधिकारों पर कुठारघात कर रही है। वह विरोधियों की आवाज दबाने के लिए सीबीआई और ईडी का दुरुपयोग कर रही है।

स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि, ‘अपने परिवार में मरने वालों की लाशों में प्राण प्रतिष्ठा कर दो, वो अमर हो जाएंगे | यदि प्राण प्रतिष्ठा करने से पत्थर सजीव हो जाए, तो कोई जीवित क्यों नहीं हो सकता | जो खुद भगवान हैं, सबका कल्याण करते हैं | हम इंसान की क्या हैसियत उनकी प्राण प्रतिष्ठा कर सके | ये सब ढोंग और आडम्बर है | इसका मतलब है हम भगवान के अस्तित्व को नकार रहे हैं | भगवान राम हजारों वर्ष से पूजे जा रहे हैं, उनके करोड़ों भक्त हैं | इससे पहले स्‍वामी प्रसाद ने राम मंदिर आंदोलन के दौरान कारसेवकों पर तत्कालीन यूपी सरकार द्वारा गोलियां चलवाने का बचाव करते हुए उन कारसेवकों को अराजक तत्व करार दिया था | स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा था कि तत्कालीन सरकार ने अमन चैन कायम रखने के लिए अराजक तत्वों पर उस समय गोलियां चलवाई थी| सरकार ने अपना कर्तव्य निभाया था | मौर्य ने इसके साथ ही बीजेपी पर प्रहार करते हुए आरोप लगाया कि शिक्षा का निजीकरण हो रहा है, बेरोजगारी बढ़ रही है, महंगाई अपनी पूरी चरम सीमा पर है, लेकिन सरकार राम मंदिर के जरिये लोगों का असल मुद्दों से ध्यान भटका रही है |

स्वामी प्रसाद मौर्य ने ब्राह्मण समाज को लेकर भी विवादित बयान दिया था | उन्‍‍‍‍‍‍‍‍होंने कहा था कि हिंदू धर्म नहीं बल्कि यह ब्राह्मणों द्वारा बनाया गया | उन्होंने कहा कि ब्राह्मणवाद की जड़ें बहुत गहरी हैं | उन्होंने कहा कि समाज में सभी विषमताओं का कारण भी ब्राह्मण ही है | सही मायने में जो ब्राह्मण धर्म है उसी को हिंदू धर्म बताकर देश के दलितों आदिवासियों और पिछड़ों को मकड़जाल में फंसाने की साजिश रची गई | इस विवादित बयान को लेकर के समाजवादी पार्टी के पूर्व मंत्री आईपी सिंह ने स्वामी प्रसाद मौर्या पर निशाना साधते हुए कहा, ‘बेटी राम मंदिर जाकर भाजपा की मदद कर रही है और स्वामी प्रसाद मौर्य उलूल-जुलूल बयान देकर।अब उन्होंने हम सभी के आराध्य प्रभु श्री राम तक को नहीं छोड़ा, इससे साफ है कि स्वामी प्रसाद मौर्य भाजपा के एजेंट हैं। वह ऐसी बातें भाजपा के इशारे पर करते हैं और फिर मीडिया उसका ठीकरा सपा पर फोड़ती है। मेरी माननीय श्री अखिलेश यादव जी से विनती है कि इस भाजपा एजेंट पर अविलंब कार्यवाही कर इन्हें पार्टी से निष्कासित किया जाय।’ अब देखना यह होगा की समाजवादी पार्टी की लुटिया डूबेगी या अखिलेश यादव समय रहते हुए अपनी नैया पार लगाएंगे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *