Thu. Feb 22nd, 2024

मुजफ्फरनगर। पुलिस ने लोगों को जाल में फंसाकर उनसे रुपये ऐंठने वाले हनी ट्रैप गिरोह का राजफाश किया है। एक महिला समेत छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है। आरोपितों में महिला का पति और झोलाछाप भी शामिल है। नगर कोतवाली प्रभारी महावीर सिंह चौहान ने बताया कि साहबुद्दीनपुर रोड निवासी कारपेंटर का काम करने वाले एक व्यक्ति ने कोतवाली आकर बताया था कि तीन दिन पहले एक अनजान महिला की उसके मोबाइल पर काल आई थी। महिला ने बताया था कि वह उसे जानती है और उससे मिलना चाहती है। इसके बाद महिला ने वीडियो काल पर अश्लीलता परोसते हुए मिलने को कहा था।21 जनवरी को आरोपित महिला पीड़ित को मिमलाना रोड स्थित नवाब फार्म हाउस के पास खंडहरनुमा इमारत में ले गई और उसके साथ अश्लील हरकत करने लगी। तभी महिला का पति और तीन अन्य लोग वहां आ गए और उसकी वीडियो बनाने के बाद ब्लैकमेल कर 10 लाख रुपये मांगे। विरोध करने पर आरोपित पीड़ित को कार में डालकर चरथावल रोड की तरफ ले गए और डेढ़ घंटे तक कार में घुमाते रहे। तीस हजार में सौदा होने के बाद आरोपितों ने पीड़ित की जेब में रखे 9,500 रुपये और गांरटी के तौर पर बाइक अपने पास रख ली।नगर कोतवाल महावीर सिंह चौहान ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर रविवार शाम को जब आरोपित पीड़ित से रुपये लेने आए तभी सभी आरोपित बिलाल निवासी कुल्हेडी थाना चरथावल, शाहरुख निवासी मोहल्ला बंबा चौक, कस्बा जलालाबाद जिला शामली, शाहबाज निवासी गांव मिमलाना, जावेद निवासी मिमलाना रोड, आबिद निवासी गांव मिमलाना और महिला शाहना पत्नी जावेद को गिरफ्तार कर लिया। आरोपितों से पुलिस ने घटना में प्रयुक्त कार, पीड़ित की बाइक, 95 सौ रुपये और पांच मोबाइल बरामद किए हैं।नगर कोतवाल ने बताया कि बिलाल, शाहना को लोगों के मोबाइल नंबर उपलब्ध कराता है और शाहना दूसरे के नाम पर लिए सिम पर मोबाइल पर बात कर लोगों को जाल में फंसाती है। इसमें शाहना का पति उसकी मदद करता है।शाहरुख मिमलाना रोड पर क्लीनिक चलाता है, लेकिन उसके पास कोई डिग्री नहीं है। शाहबाज अपनी कार लेकर गिरोह के सदस्यों को लेकर जाता है। ये पहले भी कुछ लोगों से इसी तरह वसूली कर चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *