Tue. Jun 18th, 2024
जानिए कौन सी मूर्ति गर्भ गृह में होगी स्थापित क्या है उसकी विशेषताएं

अयोध्या। जानिए कौन सी मूर्ति गर्भ गृह में होगी स्थापित क्या है उसकी विशेषताएं पहली बार ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताई भगवान राम लला की चयनित मूर्ति की विशेषता।
श्यामल रंग के पत्थर की है,
5 वर्ष के बालक की है,
मूर्ति खड़ी है,
5 वर्ष के बालक का स्वरूप दिया गया है,
5 वर्ष के बालक की कोमलता, चेहरा कितना कोमल, मुस्कान कैसी, आंखों की दृष्टि कैसी, शरीर कैसा,
उसमें देवत्य है, वह भगवान राम का अवतार है, विष्णु का अवतार है और वह राजा का बेटा भी है, राजा पुत्र है देवत्य है लेकिन 5 वर्ष का है, ऐसी प्रतिमा तैयार हो गई है, तीन मूर्तिकारों ने तीन अलग-अलग मूर्ति बनाई है, उसमें से एक मूर्ति को प्रभु की प्रेरणा से स्वीकार कर लिया गया है, सभी मूर्तियां हमारे पास रहेगी, सबने बड़े तन्मयता से काम किया है सबका सम्मान होगा, यह मूर्ति लगभग पैर की उंगली से कंपेयर करें आंख की भाव ललाट यह 51 इंच ऊंची है, इसके ऊपर मस्तक मुकुट थोड़ा आभामंडल, मूर्ति की प्रतिष्ठा इसकी पूजा विधि 16 जनवरी से प्रारंभ हो जाएगी, मूर्ति को गर्भ गृह में अपने आसन पर 18 जनवरी की दोपहर में स्थापित कर दी जाएगी, यह मूर्ति लगभग डेढ़ टन की है,एकदम पत्थर है, श्यामल है, विशेषता यह रखी गई है अगर जल से स्नान हो दूध से स्नान हो पत्थर का कोई प्रभाव दूध और पानी पर नहीं पड़ना चाहिए,अगर उसे जल का आचमन कर ले तो उसका शरीर पर कोई दुषपरिणाम न हो,इसका विचार किया गया है, ऊंचाई का विचार तब हुआ प्रत्येक वर्ष रामनवमी के दिन दोपहर को 12:00 बजे जब सूर्य भगवान चमक रहे हो तो उनकी किरणें राम लला के ललाट पर आकर पड़े इस वैज्ञानिक कार्य को भारतवर्ष के अंतरिक्ष वैज्ञानिकों ने संपन्न किया है, इस आधार पर ऊंचाई का निर्णय लिया गया, राम मंदिर परिसर में महर्षि वाल्मीकि, महर्षि वशिष्ठ, महर्षि विश्वामित्र, महर्षि अगस्त्य, निषाद राज,माता शबरी अहिल्या का मंदिर बनाया जाएगा, जटायु की प्रतिमा पहले से ही स्थापित कर दी गई है, 22 जनवरी मेरे व्यक्तिगत रूप से जैसे हिंदुस्तान के जीवन में 15 अगस्त 1947 है, 26 जनवरी के बाद रात 12:00 बजे तक करे सकेंगे राम लला का दर्शन, 26 तारीख के बाद लोग आए अयोध्या, करें राम लला का दर्शन, जब तक दर्शन पूरा नहीं हो जाएगा तब तक मंदिर खुला रहेगा, हो सकता है कुछ लोग नाराज हो जाए की 5 वर्ष के बच्चे को जगा कर रखा हुआ है,चंपत राय ने दी जानकारी,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *