Tue. May 21st, 2024

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ईडी के समक्ष पेश नहीं होंगे। उन्होंने लिखित जवाब भेजा है और नोटिस को अवैध करार दिया है।

दिल्ली शराब घोटाला मामले जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को तीसरा समन जारी कर रखा है। ईडी की ओर से केजरीवाल को नए साल की 3 जनवरी को पेश होने के लिए समन जारी किया गया था। हालांकि, खबर आई है कि केजरीवाल आज बुधवार 3 जनवरी को ईडी के सामने पेश नहीं होने वाले हैं। इससे पहले खबर आई थी कि आम आदमी पार्टी ईडी के समन पर अभी कानूनी राय ले रही है। इस बीच ED के मुख्यालय के बाहर भारी संख्या में पुलिसबल और पैरामिलिटरी फोर्स की तैनाती कर दी गई है।आम आदमी पार्टी ने ईडी के समन पर सवाल उठाते हुए आरोप लगाया है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करने की कोशिश हो रही है। आम आदमी पार्टी ने समन जारी करने की मंशा पर सवाल उठाते हुए कहा कि केजरीवाल को चुनाव से ठीक पहले नोटिस क्यों भेजे गए हैं। केजरीवाल ने ईडी को समन के जवाब में पत्र लिखा है और कहा है कि वह जांच में सहयोग करने को तैयार हैं लेकिन एजेंसी का नोटिस अवैध है। प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी की ओर से दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल को अब तक 3 समन जारी किए जा चुके हैं। हालांकि, एक बार भी वह ईडी के सामने पेश नहीं हुए। पहली बार केजरीवाल को 2 नवंबर को पूछताछ के लिए बुलाया गया था, लेकिन उस वक्त वह चुनाव प्रचार के लिए मध्य प्रदेश चले गए थे। उसके बाद 21 दिसंबर को विपश्यना का हवाला देकर हाजिर नहीं हुए। तीनों बार केजरीवाल ने ED के समन को गैर कानूनी भी बताया है। अरविंद केजरीवाल पेश नहीं होते हैं तो भी ED के पास कई विकल्प हैं। केजरीवाल ED के सामने पेश नहीं हुए तो एजेंसी के अफसर उनके घर पर आकर पूछताछ कर सकते हैं। ED को संतोषजनक जवाब नहीं मिला तो केजरीवाल की गिरफ्तारी हो सकती है। वहीं, ED के सामने पेश न होने पर पहले ज़मानती वारंट जारी हो सकता है और फिर भी पेश नहीं हुए तो गैर ज़मानती वारंट जारी हो सकता है। लगातार पेश न होने पर ED के पास गिरफ्तारी का भी अधिकार है। अब देखना यह है कि बढ़ते दबाव के बीच केजरीवाल आगे क्या कदम उठाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *