Thu. Jun 13th, 2024

दो दिन पहले लखनऊ में स्थित FI टावर टावर को अवध घोषित किया गया था | Fi टावर पर बने 2 फ्लोर अवैध घोषित कर ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की जानी थी | एलडीए ने नोटिस भी जारी किया था की ये टॉवर अवैध रूप से बनाये गए हैं | इस टावर के मालिक मुख्तार अंसारी के करीबी बिल्डर सिराज अहमद हैं | आपको बता दे कि मुख्तार अहमद के करीबी बिल्डर शोएब इकबाल, मोनिस इकबाल, सिराज अहमद और माइकल इनके खिलाफ कैसरबाग में एफआईआर भी दर्ज है। गौरतलब है कि लखनऊ विकास प्राधिकरण ने मुख्तार अंसारी के करीबी बिल्डर के एफआई हॉस्पिटल को सील कर दिया है | यह अस्पताल लखनऊ में बर्लिंगटन क्रॉसिंग पर स्थित है |

ये माज़रा 24th दिसंबर को शुरू हुआ था और कल ख़त्म हुआ | आपको बताते चले कि लखनऊ हाईकोर्ट की बेंच ने इस ध्वस्तीकरण पर रोक लगा दिया है | हाइकोर्ट के जस्टिस राजन राय और जसप्रीत की बेंच ने एलडीए को चेयरमैन और लखनऊ कमिश्नर को फटकार लगाई और तत्काल ध्वस्तीकरण रोकने का आदेश दिया | छुट्टी के दिन FI टावर में रहे लोगों ने हाईकोर्ट की बेंच में स्पेशल अपील की जिसके तहत लखनऊ हाईकोर्ट ने इस पर रोक लगाई | एलडीए के द्वारा 7वां 8वां और 9वां मंजिला को अवैध बताया गया था जिसपर एलडीए कार्यवाही करने वाला था | नीचे के तमाम गैराज को एलडीए के द्वारा ध्वस्त किया गया था | अब FI टावर ध्वस्तीकरण की कार्यवाही को रोक दिया गया है और बायर्स के हक़ में फैसला सुनाया गया | अब देखना ये है की आगे क्या होगा और क्या एलडीए फिर से डरायेगा FI टावर में रहने वाले लोगों को |

रिपोर्ट माइ भारत न्यूज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *