Thu. Feb 22nd, 2024
अखिलेश से नहीं डरे स्वामी प्रसाद मौर्याअखिलेश से नहीं डरे स्वामी प्रसाद मौर्या, भ्रह्माण फिर हुए नाराज़ , भड़का हिन्दू समाज

अखिलेश यादव की चेतावनी के बाद भी उनके नेता आपत्तिजनक टिप्पड़ी करने से बाज नहीं आ रहे हैं | दरअसल भ्रह्माण सम्मलेन में कई भ्रह्माणों ने स्वामी प्रसाद मौर्या पर अपनी नाराजगी व्यक्त की थी और इसी विषय पर अखिलेश यादव से जवाब माँगा था | उस समय अखिलेश यादव तो चुप हो गए थे लेकिन उसके बाद उन्होंने सभी कार्यकर्ताओं और समाजवादी पार्टी के तमाम नेताओं को विवादित टिप्पड़ी करने से बचने के लिए बोला था | अब ऐसे में उनके नेता स्वामी प्रसाद मौर्या ने एक बार फिर से विवादित बयान दे दिया है | भ्रह्माण शांत हुए ही थें की अब हिन्दू समाज नाराज़ हो गया | स्वामी प्रसाद मौर्या ने एक समारोह के दौरान एक भड़काऊं भाषण दे दिया | उन्होंने कहा, ‘हिन्दू धर्म नहीं धोखा है यह कुछ लोगो के लिए धंधा है |’ अब इस बयान पर सत्ता का गलियारा गरमा गया है | समाजवादी पार्टि जहां भ्रह्माणों को जोड़ने की बात कर रही थी अब वहीँ हिन्दू समाज उससे नाराज़ होते हुए दिख रहा है |

इस बयान के बाद स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा, ‘1995 में माननीय सर्वोच्च न्यायालय ने अपने आदेश में कहा था कि हिन्दू कोई धर्म नहीं, ये लोगों के जीवन जीने की शैली है | यही नहीं जो सबसे बड़े धर्म के ठेकेदार बनते हैं आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने भी कहा है एक नहीं दो-दो बार कहा कि हिन्दू नाम को कोई धर्म नहीं है बल्कि लोगों का जीवन जीने की एक कला है | स्वामी प्रसाद मौर्य का ये बयान ऐसे समय में आया है जब एक दिन पहले ही सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने महाब्राह्मण सभा में कहा था कि हिन्दू धर्म के खिलाफ टिप्पणियों पर अंकुश लगाया जाएगा | उन्होंने पार्टी के नेताओं के नसीहत दी थी कि वो किसी भी धर्म और जाति को लेकर कोई टिप्पणी न करें | इसके बाद लगा था कि स्वामी प्रसाद मौर्य हिन्दू धर्म के ख़िलाफ़ कोई टिप्पणी नहीं करेंगे | लेकिन लगता है अखिलेश की चेतावनी का मौर्य पर कोई असर नहीं पड़ा है | इस बयान से 2024 के लोकसभा के चुनाव में समाजवादी पार्टी पर बड़ा असर पड़ सकता है | समाजवादी पार्टी जिस तरह का नारा ‘बीजेपी को हटाना है अस्सी हराना है’ दे रही है कहीं स्वामी प्रसाद मौर्या के इस विवादित बयान से पारी उलटी ना हो जाए | अब देखना ये होगा की सपा प्रमुख अखिलेश यादव कहाँ तक स्वामी प्रसाद मौर्या की सुनते हैं और कब इनके विवादित बयानों पर लगाम लगाएंगे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *