World Thrift Day: जाने क्या है इस दिन का महत्व, क्यों मनाया जाता है हर साल

World Thrift Day: जाने क्या है इस दिन का महत्व, क्यों मनाया जाता है हर साल

World Thrift Day: हर साल 31 अक्टूबर को दुनिया भर में मनाया जाता है, लेकिन भारत में यह दिन सालाना 30 अक्टूबर को मनाया जाता है। यह दिन बचत के महत्व को बढ़ावा देने के लिए मनाया जाता है और आज की दुनिया में पैसे की बचत बहुत महत्वपूर्ण है। यह व्यक्तियों के साथ-साथ देश की अर्थव्यवस्था के लिए याद किया जाने वाला एक महत्वपूर्ण दिन है। बचत, जैसा कि हम सभी जानते हैं, आर्थिक विकास में योगदान करने वाले प्रत्येक जमाकर्ता के लिए एक आवश्यकता है।

अंतराष्ट्रीय बचत दिवस की स्थापना 30 अक्टूबर, 1924 को इटली के मिलान में हुई थी। पहली विश्व बचत बैंक कांग्रेस (World Society of Savings Banks) के के काल हुई थी। कांग्रेस के अंतिम दिन इतालवी प्रोफेसर फिलिपो रवीज़ा ने इस दिन को विश्व बचत दिवस’ के रूप में घोषित किया था। कांग्रेस के प्रस्तावों में इस बात पर फैसला लिया गया कि ‘विश्व बचत दिवस’ को पूरी दुनिया में बचत को बढ़ावा देने के लिए समर्पित किया जाएगा। इसका मकसद लोगों में बैंकों के प्रति विश्वास को बनाये रखने के लिए प्रोत्साहित करना था, जो प्रथम विश्व युद्ध के बाद लगभग समाप्त हो चुका था। शुरूआती दौर में जनता को स्कूलों, कार्यालयों, महिला संघों, खेल आदि के समर्थन के माध्यम से पैसे बचाने के महत्व के बारे में जागरूक किया गया। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद सेविंग लोगोँ की जरूरत बन गई।

World Thrift Day 2021: Date, history, theme and understanding the  importance of savings - Information News

वर्तमान परिवेश में बचत जरूरी है। आज सबकुछ अर्थ यानी मुद्रा से संभव है। आसान शब्दों में कहें तो जीने के लिए मुद्रा आधार है। इससे आप विषम परिस्थिति में भी सुखमय जीवन व्यतीत कर सकते हैं। वहीं, अगर आपके पास पैस नहीं रहते हैं, तो विषम परिस्थिति में आपको कर्ज लेने पड़ सकते हैं। इसके लिए आज से बचत करने का संकल्प लें। सोच समझकर पैसे खर्च करें। अनावश्यक खर्च बिल्कुल न करें।

विश्व बचत दिवस 2021 का विषय “बचत के महत्व को समझना” है। जैसा कि थ्रिफ्ट शब्द अपने आप में बुद्धिमानी से खर्च करने का वर्णन करता है, विश्व बचत दिवस ने लोगों को बचत की शक्ति के बारे में शिक्षित किया।