UP: खाद संकट से जान गंवाने वाले किसानों के परिवार से मिलीं प्रियंका गांधी, कर्ज चुकाने का किया वादा

UP: खाद संकट से जान गंवाने वाले किसानों के परिवार से मिलीं प्रियंका गांधी, कर्ज चुकाने का किया वादा

UP में होंने वाले विधानसभा चुनाव की वजह से सारी पार्टी एक एके बाद एक दाव खेलने पर लगी हैं। कभी अपने तोहफ़ों का पिटारा खोलते हैं तो कभी जनता के बीच उतरकर चुनावी रैलयों के जरिए अलग अलग जाती के मतदाताओं को अपनी तरफ खीचने की कोशिश में लगे रहते हैं। इसी क्रम में कांग्रेस लगातार अपनी सियासत तेज करने मे लगी है। ऐसे में ललितपुर में खाद संकट के बीच किसानों की जान जाने के बाद कांग्रेस ने प्रदेश सरकार पर हमला शुरू कर दिया है। इसी बीच कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी यहां मृतक किसानों के परिजनों से मिलने पहुंची हैं।

दरअसल, ललितपुर में खाद संकट के चलते जान गंवाने वाले 4 किसानों के परिवार से कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मुलाकात की। प्रियंका ने परिजनों से मिलकर उन्हें सांत्वना दी। इस दौरान एक मृतक किसान की पत्नी रोते-रोते बेहोश हो गईं तो प्रियंका ने उन्हें पानी पिलाया। प्रियंका गांधी ने सभी किसानों के परिवारों का कर्ज चुकाने का वादा किया।

Lalitpur Congress Leader Priyanka Gandhi Meets The Relatives Of The  Deceased Farmers Said The Government Has Completely Failed - ललितपुर: मृतक  किसानों के परिजनों से मिलीं कांग्रेस महासचिव ...

इसी बीच प्रियंका ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यूपी सरकार पूरी तरह फेल हो चुकी है, उसने किसानों को नजरअंदाज किया। सबसे पहले प्रियंका कस्बा पाली निवासी मृतक किसान बब्लू (40) के घर पहुंचीं। उन्होंने वहां मृतक किसान की पत्नी और बेटे से मुलाकात कर संवेदनाएं व्यक्त की। कर्ज और खाद के चलते परेशान बब्लू ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी।

इसके बाद प्रियंका किसान भोगी पाल के परिजनों से मिलने नयागांव पहुंचीं। 55 साल के भोगी पाल खाद के लिए लाइन में लगे थे लेकिन अचानक तबीयत खराब होने के कारण जमीन पर ही गिर गए। बाद में उनकी मौत हो गई।

Uttar Pradesh: ललितपुर पहुंचीं प्रियंका गांधी, मृतक किसान के परिवार से की  मुलाकात, जाना हाल | Priyanka Gandhi reached the deceased farmer family in  Lalitpur | TV9 Bharatvarsh

कांग्रेस महासचिव मैलवारा खुर्द निवासी किसान सोनी अहिरवार (40) के घर पहुंची। सोनी पिछले 3-4 दिन से लाइन में लगने के बावजूद खाद न मिलने के कारण परेशान थे। मानसिक तनाव में उन्होंने फांसी लगाकर जान दे दी थी। बनयाना, नाराहाट निवासी महेश कुमार बुनकर (36) की मौत खाद के लिए लगी लंबी लाइन में हुई थी। मौत की वजह हार्ट अटैक बताई गई।

प्रियंका ने किसान परिवारों से मिलकर उनका कर्ज चुकाने का वादा किया। उन्होंने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ‘अब बोरियों में खाद की कम मात्रा दी जा रही है और दाम भी बढ़ा दिए गए हैं। ऐसे में वे (किसान) क्या करेंगे? उनके पास बहुत सारी समस्याएं हैं लेकिन सरकार नहीं सुन रही है। वे (सरकार) जानते हैं कि किसान महीनों से सड़कों पर हैं। उन्हें वाहनों से कुचला जा रहा है।’ प्रियंका ने आगे कहा, ‘सरकार फेल हो चुकी है, उसने किसानों को पूरी तरह नजरअंदाज किया। यह अकेले सिर्फ 4 किसानों की बात नहीं है, यह पूरे बुंदेलखंड की बात है।