30 C
Lucknow
रविवार, जुलाई 25, 2021

इस गणतन्त्र दिवस पहली बार टूटेगा पिछले 55 सालों का रिकॉर्ड

Must read

पेगासस जासूसी मामले में राहुल गांधी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेगासस जासूसी मामले में बीजेपी पर एक के बाद एक कई आरोप लगाते हुए गृह...

बीएसपी के प्रबुद्ध सम्मेलन में दिखे प्रभु श्रीराम और परशुराम के पोस्टर अयोध्या से की सम्मेलन की शुरूआत

यूपी विधान सभा चुनाव 2021 से पहले ब्राह्मणों को अपने पाले में लाने के लिए बीएसपी ब्राह्मण सम्मेलन कर रही है. अयोध्या...

टीएमसी सांसद शांतनु सेन पूरे सत्र के लिए हुए सस्पेंड पेपर फाड़ने के लिए उपसभापति ने की कार्यवाही

टीएमसी सांसद शांतनु सेन ने गुरुवार को राज्यसभा में जो दुर्व्यव्हार किया था उसके लिए उन्हें मानसून सत्र के बाकी दिनों के...

लश्कर ए तैयबा के दो आतंकियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर

उत्तरी कश्मीर के सोपोर में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है.आंतकियों के मारे...

भारत के 72वें गणतन्त्र दिवस पर इस बार किसी भी देश के राष्ट्रप्रमुख मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद नहीं होंगे.विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में बताया गया है कि कोरोना वायरस की महामारी के कारण इस साल के गणतन्त्र दिवस यानि 26 जनवरी को मुख्य अतिथि के रूप में किसी विदेशी राष्ट्र प्रमुख या सरकार के मुखिया को आमंत्रित नहीं करने का फैसला लिया गया है.आपको बता दें कि पिछले 55 साल में ये पहली बार ऐसा मौका होगा जब भारत का गणतन्त्र दिवस बिना किसी मुख्य अतिथि के मनाया जाएगा.

My Bharat News - Article BORIS
ब्रिटेन प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन

भारत ने इस बार गणतन्त्र दिवस के अवसर पर मुख्य अतिथि के रुप में ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को आमंत्रित किया था.लेकिन ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने अपने देश में कोरोना से बिगड़ते हालातों पर विचार करते हुए अपने दौरे को रद्द कर दिया है. ऐसे समय में जब पूरी दुनिया कोरोना महामारी से निपटने में लगी ही हो,तब किसी नए राष्ट्राध्यक्ष या शासन के प्रमुख को निमंत्रित करना भी आसान कार्य नहीं था.इसीलिए सरकान ने ये निर्णय लेते हे फैसला किया कि देश में इस साल बिना मुख्य अतिथि के गणतंत्र दिवस मनाया जाएगा.

My Bharat News - Article LAL 1
ताशकंद में मौजूद पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री

आपको बता दें कि इससे पहले साल 1966 में भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री रहें लाल बहादुर शास्त्री के देश से बाहर ताशकंद में विपरीत परिस्थितियों में हुई मौत के कारण भी गणतन्त्र दिवस पर आमंत्रित नहीं किया गया था.संवैधानिक नियमों का ध्यान रखते हुए उस समय इंदिरा गांधी ने गणतन्त्र दिवस से दो दिन पहले ही देश के प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी.उस समय भी भारत ने अपना गणतन्त्र दिवस बहुत ही सादगी और शान्तिपूर्ण तरीके से मनाया था.

My Bharat News - Article
1955 में पाकिस्तान के गवर्नर जनरल गुलाम मोहम्मद थे मुख्य अतिथि

देश में प्रति वर्ष मनाए जाने वाले गणतन्त्र दिवस के अवसर पर किसी ना किसी राष्ट्राध्यक्ष या राष्ट्र प्रमुख को मुख्य अतिथि के रुप में आमंत्रित किया जाता है.देश में ये परंपरा संविधान के लागू होने के साथ ही शुरू गई थी.लेकिन बाद में कई सालों तक किसी मुख्य अतिथि को आमंत्रित नहीं किया गया.पहली बार 1950 मे इंडोनेशिया के राष्ट्रपति सुकर्णों देश में गणतन्त्र दिवस के मौके पर मुख्य अतिथि के रुप में पधारे थे.उसके बाद 1954 में भूटान के राजा जिग्मे डोरजी मुख्य अतिथि बने थे,1955 में पाकिस्तान के गवर्नर जनरल गुलाम मोहम्मद मुख्य अतिथि थे.

- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

पेगासस जासूसी मामले में राहुल गांधी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेगासस जासूसी मामले में बीजेपी पर एक के बाद एक कई आरोप लगाते हुए गृह...

बीएसपी के प्रबुद्ध सम्मेलन में दिखे प्रभु श्रीराम और परशुराम के पोस्टर अयोध्या से की सम्मेलन की शुरूआत

यूपी विधान सभा चुनाव 2021 से पहले ब्राह्मणों को अपने पाले में लाने के लिए बीएसपी ब्राह्मण सम्मेलन कर रही है. अयोध्या...

टीएमसी सांसद शांतनु सेन पूरे सत्र के लिए हुए सस्पेंड पेपर फाड़ने के लिए उपसभापति ने की कार्यवाही

टीएमसी सांसद शांतनु सेन ने गुरुवार को राज्यसभा में जो दुर्व्यव्हार किया था उसके लिए उन्हें मानसून सत्र के बाकी दिनों के...

लश्कर ए तैयबा के दो आतंकियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर

उत्तरी कश्मीर के सोपोर में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है.आंतकियों के मारे...

सिद्धू ने संभाली पंजाब प्रदेश अध्यक्ष की कमान कैप्टन अमरिंदर से जंग के बीच सिद्धु की हुई ताजपोशी

कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष की कमान संभाली ली है. चंडीगढ़ में आयोजित एक कार्यक्रम में सिद्धू की...