देश में सबसे कम उम्र की बच्ची को लगी कोरोना वैक्सीन,10 बच्चों पर पूरा किया गया ट्रायल

My Bharat News - Article COVID 19 VACCINATION 620x400 1
कानपुर में सबसे कम उम्र की बच्ची पर को-वैक्सीन का ट्रायल किया गया

कोरोना महामारी से लोगों को बचाने के लिए बड़े स्तर पर टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है. कोरोना की आने वाली तीसरी लहर से पहले ही बच्चों को वैक्सीन लगाने की कवायद तेज की जाने लगी हैं. इसी कड़ी में कानपुर में सबसे कम उम्र की बच्ची पर को-वैक्सीन का ट्रायल किया गया है. जिसकी उम्र ढाई साल से भी कम बताई जा रही है. इससे पहले 2 साल 8 माह के बच्चे पर ट्रायल हुआ था. कानपुर में 10 बच्चों को वैक्सीन लगाने के साथ ही ट्रायल का पहला चरण पूरा हो गया है.

My Bharat News - Article 15 06 2019 injecrt 19314893 192810526
कानपुर में 10 बच्चों को वैक्सीन लगाने के साथ ही ट्रायल का पहला चरण पूरा हो गया है.

बच्चों के वैक्सीनेशन को लेकर चल रहा है ट्रायल को लेकर देश भर में 6 सेंटर बनाए गए थे.जिसमें कानपुर को भी सेंटर बनाया गया था और ट्रायल के लिए प्रखर हॉस्पिटल को चुना गया था. इन अस्पतालों में तीन श्रेणियों दो से 6 साल, 7 से 12 साल और 13 से18 साल के बच्चों में ट्रायल हो रहा है. 6 साल तक के 10 बच्चों में कोवैक्सीन के ट्रायल के तौर पर टीके लगाए गए हैं. जिन बच्चों को वैक्सीन लगाई गई, उनमें लखनऊ के एक वरिष्ठ बाल रोग विशेषज्ञ के बच्चे, उनके भाई के बच्चे, लखनऊ के ही एक रेडियोलॉजिस्ट का बच्चा,एक राजनीतिक पार्टी के प्रदेश स्तरीय प्रतिनिधि का बच्चा, कानपुर देहात के व्यवसायी आदि के बच्चे शामिल हैं.

My Bharat News - Article photo 1623933812
सरकार की तरफ से निर्देश मिलने के बाद बच्चों पर भी वैक्सीनेशन का कार्य शुरू कर दिया जाएगा.

बच्चों पर वैक्सीनेशन के ट्रायल के लिए चुने गए बच्चों को वैक्सीन लगाने से पहले मंगलवार को इन सभी बच्चों की ब्लड जांच, शारीरिक परीक्षण और आरटीपीसीआर जांच कराई गई थी. रिपोर्ट में उपयुक्त पाए जाने पर इन्हें टीके लगाए गए, इन्हें 28 दिन बाद दूसरी रोज लगाई जाएगी.

कानपुर के डॉक्टरों की माने तो जल्द ही बच्चों को लेकर वैक्सीनेशन का काम शुरू हो जाएगा क्योंकि अभी तक के ट्रायल में काफी सफल रहा है और अगर दोनों डोज लगने के बाद स्थिति सामान्य रहती है तो ट्रायल सफल माना जाएगा और जल्द ही सरकार की तरफ से निर्देश मिलने के बाद बच्चों पर भी वैक्सीनेशन का कार्य शुरू कर दिया जाएगा.