चित्रकूट जेल में यूपी के बड़े गैंगस्टर मुकीम काला और मेराजुद्दीन की हुई हत्या, मुख्तार अंसारी का खास गुर्गा माना जाता रहा था मेराजुद्दीन

My Bharat News - Article WhatsApp Image 2021 05 14 at 13.46.41
चित्रकूट जेल के भीतर हुई भीषण गैंगवार में मारा गया मुख्तार का खास गुर्गा

उत्तर प्रदेश की चित्रकूट जेल में कैदियों के बीच हुए खूनी संघर्ष में यूपी के 3 बड़े गैंगस्टर मारे गए हैं. अंशु दीक्षित नाम के कैदी ने पश्चिम उत्तर प्रदेश के बड़े गैंगस्टर मुकीम काला और मेराजुद्दीन की हत्या कर दी, बाद में जेल के अंदर डबल मर्डर करने वाले अंशु दीक्षित को पुलिस ने मार गिराया है.

My Bharat News - Article 56 2
जेल के भीतर दो गुटों में गैंगवार होने से मचा हड़कंप

मारे गए गैंगस्टरों में मेराजुद्दीन नाम का अपराधी यूपी के डॉन मुख्तार अंसारी का खास गुर्गा माना जाता है.आपको बता दें कि जेल में मारा गया मुकीम काला वही अपराधी है जिसने NIA ऑफ़िसर तंजील अहमद को दिन दहाड़े मौत के घाट उतार दिया था. ये वही अपराधी है जिसने तंजील अहमद को मारने से पहले प्रैक्टिस के तौर पर लखनऊ में निर्दोष होटल मैनेजर की गोली मारकर हत्या कर दी थी.

My Bharat News - Article 57
मारे गए गैंगस्टरों में मेराजुद्दीन मुख्तार का खास गुर्गा माना जाता रहा है

उत्तर प्रदेश में योगीराज आते ही अपराधियों में ख़ौफ़ का ऐसा माहौल पैदा हुआ कि मुकीम ने अदालत के भीतर कहा था कि मुझे जंजीरों में जकड़ दो ताकि पुलिस मेरे एनकाउंटर का कोई बहाना ना ढूंढ सके.आपको बता दें कि मुकीम काला पश्चिम उत्तर प्रदेश का खूंखार अपराधी था, इसने बहुतों के घर उजाड़े हैं.

My Bharat News - Article 67 2
जेल के भीतर ही तीन लोगों की हत्या होने से जेल परिसर में बढ़ा दी गई है सुरक्षा व्यवस्था

ऐसा कहा जाता है कि 2012 से 2017 के बीच इस खूंखार अपराधी के चलते पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कैराना में जो पलायन की स्थिति पैदा हुई थी उसके लिए ये भी जिम्मेदार था.आपको बता दें कि चित्रकूट जेल में वेस्ट यूपी का गैंस्टर मुकीम काला बंद था,वहीं एक दूसरा गैंगस्टर अंशुल दीक्षित भी इसी जेल में बंद था.शुक्रवार को दोनों के बीच किसी बात को लेकर ठन गई,दोनों एक दूसरे पर गोलियां बरसाने लगे.ताबड़तोड़ गोलियां चलने से जेल के अंदर हड़कंप मच गया.

मौके पर अधिकारी पहुंचे तब तक मुकीम काला की मौत हो चुकी थी,एक अन्य अपराधी मेराज की भी गोली लगने से मौत हो गई.सूचना पर चित्रकूट डीएम और एसपी भी मौके पर पहुंचे.अंशुल लगातार गोलियां बरसाता रहा.उसे रोकने के लिए अधिकारियों ने चेतावनी भी दी थी.

My Bharat News - Article 89 2
गैंगवार होने की सूचना पाते ही मौके पर डीएम व एसपी भी भारी फोर्स के साथ पहुंचे

लेकिन अंशुल छिपकर गोलियां चलाने लगा,जेल प्रशासन का कहना है कि अंशुल ने अन्य कैदियों को भी मारने की धमकी दी.तमाम प्रयास के बाद भी वो काबू में नहीं आया तो पुलिस को मजबूरन उसके ऊपर भी गोलियां चलानी पड़ीं और इस दौरान कार्रवाई में वह मारा गया.

My Bharat News - Article WhatsApp Image 2021 05 14 at 13.06.36
ताबड़तोड़ गोलियां चलाने वाला अंशुल दीक्षित भी पुलिस कार्रवाई में मारा गया

बताया ये भी जा रहा है कि अंशुल दीक्षित सुलतानपुर की जेल से, मुकीम को बनारस जिला जेल से और मेराज अली को कुछ दिन पहले ही चित्रकूट की जेल में ट्रांसफर किया गया था.