30 C
Lucknow
रविवार, जुलाई 25, 2021
Array

सबसे पहले 30 करोड़ लाभार्थियों को मुफ्त कोरोना वैक्सीन लगाएगी सरकार

Must read

पेगासस जासूसी मामले में राहुल गांधी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेगासस जासूसी मामले में बीजेपी पर एक के बाद एक कई आरोप लगाते हुए गृह...

बीएसपी के प्रबुद्ध सम्मेलन में दिखे प्रभु श्रीराम और परशुराम के पोस्टर अयोध्या से की सम्मेलन की शुरूआत

यूपी विधान सभा चुनाव 2021 से पहले ब्राह्मणों को अपने पाले में लाने के लिए बीएसपी ब्राह्मण सम्मेलन कर रही है. अयोध्या...

टीएमसी सांसद शांतनु सेन पूरे सत्र के लिए हुए सस्पेंड पेपर फाड़ने के लिए उपसभापति ने की कार्यवाही

टीएमसी सांसद शांतनु सेन ने गुरुवार को राज्यसभा में जो दुर्व्यव्हार किया था उसके लिए उन्हें मानसून सत्र के बाकी दिनों के...

लश्कर ए तैयबा के दो आतंकियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर

उत्तरी कश्मीर के सोपोर में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है.आंतकियों के मारे...

नई दिल्ली. कोरोना वायरस महामारी से जूझ रहे लोगों को वैक्सीन की दरकार है. भारत में भी उम्मीद का जा रही है कि भारत बायोटेक फरवरी तक अपनी स्वदेशी वैक्सीन ‘कोवैक्सिन’ को लॉन्च कर सकता है. एक ओर हर भारतीय वैक्सीन के इंतजार में है, वहीं केंद्र सरकार ने सबसे पहले 30 करोड़ लाभार्थियों को टीका लगाने की योजना बनाई है. इन लाभार्थियों में डॉक्टर्स, नर्स, बुजुर्ग जैसे वर्ग के लोग शामिल होंगे.

केंद्र वैक्सीन की डिलीवरी प्रक्रिया की तैयारी में व्यस्त है. इससे पहले भी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्ष वर्धन ने कहा था कि राज्य सरकारों से प्राथमिकता दिए जाने वाले लोगों की पहचान करने के लिए कह दिया गया है. खास बात है कि इन 30 करोड़ लाभार्थियों को सरकार मुफ्त में वैक्सीन लगाएगा.

वैक्सीन लगाए जाने के लिए सरकार ने इन लाभार्थियों को चार वर्गों में बांटा है. खास बात है कि इन समूहों में शामिल लोगों को ट्रैक करने के लिए आधार कार्ड का इस्तेमाल किया जाएगा. हालांकि, अगर लाभार्थी के पास आधार कार्ड नहीं है, तो भी कोई बात नहीं. किसी भी सरकारी फोटो आइडेंटिटी का उपयोग किया जा सकेगा.

 

1.     एक करोड़ हेल्थ प्रोफेशनल्स: डॉक्टरों, नर्स और आशा वर्कर्स के अलावा इस समूह में MBBS छात्र

2.     दो करोड़ फ्रंटलाइन कार्यकर्ता: इस समूह में नगर पालिका कर्मी, पुलिसकर्मी और सशस्त्र बलों के जवान होंगे.

3.     50 की उम्र से ज्यादा 26 करोड़ लोग: इस उम्र के लोगों को कोविड 19 की चपेट में आने की संभावना ज्यादा है. ऐसे में 50 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को लाभार्थियों में शामिल किया गया है.

4.     बीमारियों से जूझ रहे एक करोड़ लोग: इस समूह में 50 की उम्र से कम लोग शामिल होंगे. इस समूह में वे लोग शामिल होंगे, जो डायबिटीज जैसी गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं.

- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

पेगासस जासूसी मामले में राहुल गांधी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेगासस जासूसी मामले में बीजेपी पर एक के बाद एक कई आरोप लगाते हुए गृह...

बीएसपी के प्रबुद्ध सम्मेलन में दिखे प्रभु श्रीराम और परशुराम के पोस्टर अयोध्या से की सम्मेलन की शुरूआत

यूपी विधान सभा चुनाव 2021 से पहले ब्राह्मणों को अपने पाले में लाने के लिए बीएसपी ब्राह्मण सम्मेलन कर रही है. अयोध्या...

टीएमसी सांसद शांतनु सेन पूरे सत्र के लिए हुए सस्पेंड पेपर फाड़ने के लिए उपसभापति ने की कार्यवाही

टीएमसी सांसद शांतनु सेन ने गुरुवार को राज्यसभा में जो दुर्व्यव्हार किया था उसके लिए उन्हें मानसून सत्र के बाकी दिनों के...

लश्कर ए तैयबा के दो आतंकियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर

उत्तरी कश्मीर के सोपोर में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है.आंतकियों के मारे...

सिद्धू ने संभाली पंजाब प्रदेश अध्यक्ष की कमान कैप्टन अमरिंदर से जंग के बीच सिद्धु की हुई ताजपोशी

कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष की कमान संभाली ली है. चंडीगढ़ में आयोजित एक कार्यक्रम में सिद्धू की...