27 C
Lucknow
मंगलवार, अक्टूबर 19, 2021
Array

सबसे पहले 30 करोड़ लाभार्थियों को मुफ्त कोरोना वैक्सीन लगाएगी सरकार

Must read

T-20 World Cup: हेड कोच रवि शास्त्री का अंतिम टूर्नामेंट, बोले खिलाड़ियों को ज्यादा तैयारी की नहीं है जरूरत

T-20 World Cup में भारतीय क्रिकेट टीम अपना पहला मुकाबला 24 अक्टूबर को पाकिस्तान के खिलाफ खेलेगी। वहीं टीम इंडिया के हेड...

Rajasthan: थाने मे फर्श पर बैठी महिला विधायक, दारू पार्टी पर दिया बड़ा बयान

हाल ही मे राजस्थान(Rajasthan) के जोधपुर में एक महिला विधायक के रिश्तेदार का शराब पीकर गाड़ी चलाने के वजह से चालान कट...

BJP से मुक्त हुए बाबुल सुप्रियों, लोकसभा स्पीकर को सौंपा इस्तीफा, TMC मे जाने के बाद लिया फैसला

मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस(TMC) के नेता बाबुल सुप्रियो ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से मिलकर सांसद पद से इस्तीफा दे दिया है।...

UP विधानसभा चुनाव से पहले प्रियंका गांधी का बड़ा ऐलान, बोली UP में 40 फीसदी टिकट महिलाओं को

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने 2022 में होने वाले UP विधानसभा चुनाव को लेकर मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की।...

नई दिल्ली. कोरोना वायरस महामारी से जूझ रहे लोगों को वैक्सीन की दरकार है. भारत में भी उम्मीद का जा रही है कि भारत बायोटेक फरवरी तक अपनी स्वदेशी वैक्सीन ‘कोवैक्सिन’ को लॉन्च कर सकता है. एक ओर हर भारतीय वैक्सीन के इंतजार में है, वहीं केंद्र सरकार ने सबसे पहले 30 करोड़ लाभार्थियों को टीका लगाने की योजना बनाई है. इन लाभार्थियों में डॉक्टर्स, नर्स, बुजुर्ग जैसे वर्ग के लोग शामिल होंगे.

केंद्र वैक्सीन की डिलीवरी प्रक्रिया की तैयारी में व्यस्त है. इससे पहले भी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्ष वर्धन ने कहा था कि राज्य सरकारों से प्राथमिकता दिए जाने वाले लोगों की पहचान करने के लिए कह दिया गया है. खास बात है कि इन 30 करोड़ लाभार्थियों को सरकार मुफ्त में वैक्सीन लगाएगा.

वैक्सीन लगाए जाने के लिए सरकार ने इन लाभार्थियों को चार वर्गों में बांटा है. खास बात है कि इन समूहों में शामिल लोगों को ट्रैक करने के लिए आधार कार्ड का इस्तेमाल किया जाएगा. हालांकि, अगर लाभार्थी के पास आधार कार्ड नहीं है, तो भी कोई बात नहीं. किसी भी सरकारी फोटो आइडेंटिटी का उपयोग किया जा सकेगा.

 

1.     एक करोड़ हेल्थ प्रोफेशनल्स: डॉक्टरों, नर्स और आशा वर्कर्स के अलावा इस समूह में MBBS छात्र

2.     दो करोड़ फ्रंटलाइन कार्यकर्ता: इस समूह में नगर पालिका कर्मी, पुलिसकर्मी और सशस्त्र बलों के जवान होंगे.

3.     50 की उम्र से ज्यादा 26 करोड़ लोग: इस उम्र के लोगों को कोविड 19 की चपेट में आने की संभावना ज्यादा है. ऐसे में 50 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को लाभार्थियों में शामिल किया गया है.

4.     बीमारियों से जूझ रहे एक करोड़ लोग: इस समूह में 50 की उम्र से कम लोग शामिल होंगे. इस समूह में वे लोग शामिल होंगे, जो डायबिटीज जैसी गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं.

- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

T-20 World Cup: हेड कोच रवि शास्त्री का अंतिम टूर्नामेंट, बोले खिलाड़ियों को ज्यादा तैयारी की नहीं है जरूरत

T-20 World Cup में भारतीय क्रिकेट टीम अपना पहला मुकाबला 24 अक्टूबर को पाकिस्तान के खिलाफ खेलेगी। वहीं टीम इंडिया के हेड...

Rajasthan: थाने मे फर्श पर बैठी महिला विधायक, दारू पार्टी पर दिया बड़ा बयान

हाल ही मे राजस्थान(Rajasthan) के जोधपुर में एक महिला विधायक के रिश्तेदार का शराब पीकर गाड़ी चलाने के वजह से चालान कट...

BJP से मुक्त हुए बाबुल सुप्रियों, लोकसभा स्पीकर को सौंपा इस्तीफा, TMC मे जाने के बाद लिया फैसला

मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस(TMC) के नेता बाबुल सुप्रियो ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से मिलकर सांसद पद से इस्तीफा दे दिया है।...

UP विधानसभा चुनाव से पहले प्रियंका गांधी का बड़ा ऐलान, बोली UP में 40 फीसदी टिकट महिलाओं को

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने 2022 में होने वाले UP विधानसभा चुनाव को लेकर मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की।...

Cruise Drugs Case: आर्यन खान के साथ शिवसेना! नेता किशोर तिवारी ने याचिका दायर कर उठाई आवाज

Cruise Drugs Case: बॉलीवुड के बादशाह खान यानि शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान के बचाव में बॉलीवुड सितारों के अलावा अब...