15 C
Lucknow
सोमवार, नवम्बर 29, 2021

व्हाइट,ब्लैक के बाद यलो फंगस का पहला केस आया सामने दोनों से ज्यादा खतरनाक है ये फंगस

Must read

गौतम गंभीर को तीसरी बार मिली जान से मारने की धमकी

पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद गौतम गंभीर को फिर जान से मारने की धमकी मिली है। गौतम गंभीर को कथित तौर पर...

UPTET पेपर लीक मामला- सीएम ने कहा- आरोपियों पर गैंगेस्टर और रासुका के तहत कार्रवाई, संपत्ति भी होगी जब्त

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीईटी की परीक्षा लीक मामले को काफी गंभीरता से लिया है। उन्होंने आरोपियों के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट के...

चिरंजीवी ने कोरियोग्राफर के इलाज के लिए दिए 3 लाख

राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता कोरियोग्राफर शिवशंकर मास्टर कोविड-19 से लड़ रहे हैं. कोरियोग्राफर फिलहाल अस्पताल में भर्ती हैं और बताया जा रहा है...

दुनिया में कोरोना से हाहाकार, इजराइल में विदेशियों के आने पर पाबंदी, ब्रिटेन में हाई अलर्ट, साउथ अफ्रीका में लॉकडाउन का विरोध

साउथ अफ्रीका में कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन मिलने बाद दुनिया अलर्ट पर है। इजराइल ने तमाम विदेशी नागरिकों की देश में...

पूरा देश पहले ही कोविड-19  की दूसरी लहर और उसके बाद आए ब्‍लैक फंगस साथ में व्‍हाइट फंगस से त्रस्‍त है. वहीं अब देश में यलो फंगस ने भी मुश्किलें बढ़ाने के लिए अपनी दस्‍तक दे दी है. उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में यलो फंगस का पहला मामला सामने आया है. यलो फंगस का शिकार हुए इस मरीज का फिलहाल गाजियाबाद के एक अस्पताल में इलाज चल रहा है.

My Bharat News - Article 1 10
ब्लैक और व्हाइट फंगस से ज्यादा खतरनाक बताया जा रहा यलो फंगस

यलो फंगस के आने पर विशेषज्ञों ने इस फंगस के लक्षण भी बता दिए हैं. यलो फंगस के मरीज को सुस्ती, भूख कम होना या बिल्कुल भूख न लगने जैसे शुरुआती लक्षण आते हैं. साथ ही मरीज का वजन भी कम होने लगता है. वहीं गंभीर मामलों में मवाद आने, घावों के धीमी गति से ठीक होने, कुपोषण, अंगों का काम करना बंद करने जैसी स्थिति पैदा हो जाती है. इसके मरीज की आंखें भी अंदर धंस जाती हैं. 

My Bharat News - Article 3ं
यलो फंगस की चपेट में आने पर मरीज के इलाज में देरी होने पर जा सकती है जान

कहा जा रहा है कि यलो फंगस बाकी दोनों यानी कि ब्‍लैक और व्‍हाइट फंगस से ज्‍यादा खतरनाक है क्‍योंकि ये घातक बीमारी शरीर के अंदर शुरू होती है और काफी बाद में इसके लक्षण बाहर दिखाई देते हैं. ऐसे में लक्षण दिखते ही तत्‍काल ट्रीटमेंट शुरू कर देना ही समझदारी है.

My Bharat News - Article 1े4
यूपी के गाजियाबाद में यलो फंगस का पहला मामला आया सामने

बाकी दोनों फंगस की तरह यलो फंगस का संक्रमण होने के पीछे का कारण भी गंदगी और नमी ही है. लिहाजा अपने घर के अंदर और आस-पास सफाई रखें. बैक्टीरिया और फंगस को विकसित होने से रोकने के लिए जितनी जल्दी हो सके पुराने खाद्य पदार्थों को हटा दें. इसके अलावा घर में नमी का होना भी बैक्टीरिया और फंगस को बढ़ाता है. घर में नमी को मापते रहें और इसे 30% से 40% से ज्‍यादा न होने दें. 

My Bharat News - Article 9ज
यलो फंगस से बचाव के लिए घरों में स्वच्छता है जरूरी
- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

गौतम गंभीर को तीसरी बार मिली जान से मारने की धमकी

पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद गौतम गंभीर को फिर जान से मारने की धमकी मिली है। गौतम गंभीर को कथित तौर पर...

UPTET पेपर लीक मामला- सीएम ने कहा- आरोपियों पर गैंगेस्टर और रासुका के तहत कार्रवाई, संपत्ति भी होगी जब्त

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीईटी की परीक्षा लीक मामले को काफी गंभीरता से लिया है। उन्होंने आरोपियों के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट के...

चिरंजीवी ने कोरियोग्राफर के इलाज के लिए दिए 3 लाख

राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता कोरियोग्राफर शिवशंकर मास्टर कोविड-19 से लड़ रहे हैं. कोरियोग्राफर फिलहाल अस्पताल में भर्ती हैं और बताया जा रहा है...

दुनिया में कोरोना से हाहाकार, इजराइल में विदेशियों के आने पर पाबंदी, ब्रिटेन में हाई अलर्ट, साउथ अफ्रीका में लॉकडाउन का विरोध

साउथ अफ्रीका में कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन मिलने बाद दुनिया अलर्ट पर है। इजराइल ने तमाम विदेशी नागरिकों की देश में...

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, कई गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश में रविवार यानी 28 नवंबर को हो रही यूपी शिक्षक पात्रता परीक्षा रद्द (UPTET Exam 2022) कर दी गई है....