30 C
Lucknow
रविवार, अगस्त 1, 2021

सरकारी परियोजनाओं के लिए पेड़ काटे जाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट जारी करेगा दिशा-निर्देश,नियम ना मानने पर मिलेगी सजा

Must read

केरल में एक दिन में 22 हजार से अधिक नए कोरोना केस सामने आने से बढ़ी अन्य राज्यों की चिंता

केरल में मंगलवार को कोरोना के 22,129 नए मामले सामने आए हैं और 156 लोगों की कोरोना से मौत हो गई है....

जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ में बादल फटने की घटना से 4 की मौत 30 से ज्यादा लोग अभी भी लापता

जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ में लगातार हो रही भारी बारिश के बाद प्राकृतिक आपदा ने लोगों को अपनी चपेट में लिया है.किश्तवाड़...

बाराबंकी सड़क हादसे में 20 की मौत पीएम मोदी और राष्ट्रपति ने हादसे पर जताया दु:ख

यूपी के बाराबंकी में भीषण सड़क हादसे में कुल 20 लोगों की मौत हो गई है. जबकि कई लोग अभी भी गंभीर...

पेगासस जासूसी मामले में राहुल गांधी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेगासस जासूसी मामले में बीजेपी पर एक के बाद एक कई आरोप लगाते हुए गृह...

सरकारी परियोजनाओं के लिए जिस तरह से देश के अलग-अलग हिस्सों में कई बार देखा गया है कि पेड़ों की अन्धाधुन्ध कटाई कर दी जाती है.वहीं अब सुप्रीम कोर्ट ने भी कहा है कि वो सरकारी परियोजनाओं के लिए पेड़ काटे जाने को लेकर दिशा-निर्देश बनाएगा.सुप्रीम कोर्ट ने कहा है ये तय किया जाना जरूरी है कि कितनी उम्र के पेड़ों को बिल्कुल नहीं काटा जा सकता है.साथ ही ये भी तय करना होगा कि किस तरह की नस्ल के पेड़ हैं जिनकी पर्यावरण की उपयोगिता को देखते हुए उन्हें नहीं काटा जाना चाहिए.

My Bharat News - Article 85 1
चीफ जस्टिस की अध्यक्षता मे बनाई जाएगी कमेटी

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि काटे गए पेड़ों का मूल्यांकन कर उनकी लागत परियोजना की लागत में जोड़ी जानी चाहिए.3 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट की तरफ से एक गठित कमेटी ने बताया था कि एक पेड़ साल भर में 75 हजार रूपये का ऑक्सीजन और खाद पैदा करता है.जिससे ये अंदाजा लगाया जा सकता है कि पुराने और मजबूत पेड़ों की कीमत 75 हजार या उससे ज्यादा हो सकती है.सुप्रीम कोर्ट की ओर से बनायी गयी कमेटी अब से रिपोर्टों और दूसरे तथ्यों को ध्यान में रखते हुए सरकारी परियोजनाओं के लिए पेड़ों को काटने पर प्रोटोकॉल तैयार करेगा.

My Bharat News - Article 77 2
सीनियर वकील प्रशांत भूषम ने दाखिल की याचिका

दरअसल ये मामला पश्चिम बंगाल में सेतु भारतमाला परियोजना के तहत 5 रेलवे ओवरब्रिज के निर्माण का है.जहां पर परियोजना के लिए 356 पेड़ काटे जाने हैं.एसोसिएशन फ़ॉर प्रोटेक्शन ऑफ डेमोक्रेटिक राइट्स नाम की संस्था ने वकील प्रशांत भूषण के ज़रिए इसका विरोध करते हुए याचिका दाखिल की है.नेशनल हाईवे 112 को रेलवे क्रॉसिंग मुक्त करने के लिए बन रहे इन ओवरब्रिजों के निर्माण का विरोध करते हुए एनजीओ ने कहा है कि जो पेड़ परियोजना के लिए काटे जाएंगे, वो काफी पुराने और मजबूत पेड़ हैं.उन्हें नहीं काटा जाना चाहिए.सरकार को आर्थिक विकास के नाम पर पर्यावरण का नुकसान करने की अनुमति नहीं दी जा सकती.

My Bharat News - Article 34 4
पं बंगाल में शुरू होने वाली सेतु भारतमाला परियोजना के लिए काटे जाने हैं 356 पेड़
My Bharat News - Article 144eb02f b81d 4313 bd86 350723e51ebb

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस शरद अरविंद बोबड़े की अध्यक्षता वाली बेंच ने आज कहा कि मामले में ये देखने की भी जरूरत है कि किस तरह के पेड़ों को नहीं काटा जाना चाहिए.कितनी उम्र के पेड़ इतने उपयोगी हो जाते हैं कि उन्हें बिल्कुल नहीं काटना चाहिए. कोर्ट ने कहा कि इस मसले पर भी एक विशेषज्ञ समिति से रिपोर्ट ली जानी चाहिए. इससे भविष्य के लिए दिशानिर्देश बनाने में आसानी होगी.

- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

केरल में एक दिन में 22 हजार से अधिक नए कोरोना केस सामने आने से बढ़ी अन्य राज्यों की चिंता

केरल में मंगलवार को कोरोना के 22,129 नए मामले सामने आए हैं और 156 लोगों की कोरोना से मौत हो गई है....

जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ में बादल फटने की घटना से 4 की मौत 30 से ज्यादा लोग अभी भी लापता

जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ में लगातार हो रही भारी बारिश के बाद प्राकृतिक आपदा ने लोगों को अपनी चपेट में लिया है.किश्तवाड़...

बाराबंकी सड़क हादसे में 20 की मौत पीएम मोदी और राष्ट्रपति ने हादसे पर जताया दु:ख

यूपी के बाराबंकी में भीषण सड़क हादसे में कुल 20 लोगों की मौत हो गई है. जबकि कई लोग अभी भी गंभीर...

पेगासस जासूसी मामले में राहुल गांधी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेगासस जासूसी मामले में बीजेपी पर एक के बाद एक कई आरोप लगाते हुए गृह...

बीएसपी के प्रबुद्ध सम्मेलन में दिखे प्रभु श्रीराम और परशुराम के पोस्टर अयोध्या से की सम्मेलन की शुरूआत

यूपी विधान सभा चुनाव 2021 से पहले ब्राह्मणों को अपने पाले में लाने के लिए बीएसपी ब्राह्मण सम्मेलन कर रही है. अयोध्या...