30 C
Lucknow
रविवार, अगस्त 1, 2021

हाइड्रोसील का ऑपरेशन कराने गए बुजुर्ग की कर दी नसबंदी

Must read

केरल में एक दिन में 22 हजार से अधिक नए कोरोना केस सामने आने से बढ़ी अन्य राज्यों की चिंता

केरल में मंगलवार को कोरोना के 22,129 नए मामले सामने आए हैं और 156 लोगों की कोरोना से मौत हो गई है....

जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ में बादल फटने की घटना से 4 की मौत 30 से ज्यादा लोग अभी भी लापता

जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ में लगातार हो रही भारी बारिश के बाद प्राकृतिक आपदा ने लोगों को अपनी चपेट में लिया है.किश्तवाड़...

बाराबंकी सड़क हादसे में 20 की मौत पीएम मोदी और राष्ट्रपति ने हादसे पर जताया दु:ख

यूपी के बाराबंकी में भीषण सड़क हादसे में कुल 20 लोगों की मौत हो गई है. जबकि कई लोग अभी भी गंभीर...

पेगासस जासूसी मामले में राहुल गांधी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेगासस जासूसी मामले में बीजेपी पर एक के बाद एक कई आरोप लगाते हुए गृह...

झारखंड के देवघर जिले में एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसने सबको हैरान कर दिया। दरअसल, यहां 60 साल के एक बुजुर्ग की नसबंदी कर दी गई, जबकि वह हाइड्रोसील का ऑपरेशन कराने गया था। आरोप है कि सरकारी लक्ष्य पूरा करने के मकसद से डॉक्टरों ने जानबूझकर नसबंदी कर दी। फिलहाल पीड़ित ने देवघर डीसी से मामले की शिकायत की, जिन्होंने जांच का आदेश दिया है।

यह है पूरा मामला
देवघर जिले के सारवां प्रखंड के मंझलाडीह गांव में रहने वाले 60 वर्षीय हरि राणा दिव्यांग हैं। उनके भतीजे आनंद कुमार ने बताया कि चाचा देख नहीं पाते हैं और हाइड्रोसील से पीड़ित थे। ऐसे में उन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर के पास ले गए थे। चिकित्सक की सलाह पर 30 नवंबर को चाचा का हाइड्रोसील का ऑपरेशन किया गया, लेकिन उस दौरान उनकी नसबंदी कर दी गई।
लक्ष्य पूरा करने के लिए हुई हरकत
बताया जा रहा है कि जिस वक्त हरि राणा का हाइड्रोसील का ऑपरेशन होना था, उस दौरान स्वास्थ्य केंद्र में परिवार नियोजन पखवाड़ा चल रहा था। ऐसे में अपना लक्ष्य पूरा करने के मकसद से चिकित्सकों ने बुजुर्ग की नसबंदी भी कर डाली।

पीड़ित ने डीसी से की शिकायत
मामले की जानकारी होने पर आनंद ने देवघर डीसी मंजूनाथ भजंतरि से शिकायत की। डीसी ने इसे बड़ी लापरवाही माना और सिविल सर्जन को जांच का आदेश दे दिया। आनंद का कहना है कि अगर मेरे चाचा को इंसाफ नहीं मिला तो मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से मामले की शिकायत की जाएगी

ऐसे हुआ मामले का खुलासा
बुजुर्ग हरि राणा ने बताया कि 30 नवंबर को ऑपरेशन रूम में चिकित्सकों ने एक कागज पर मुझसे हस्ताक्षर कराए थे। मैं नेत्रहीन हूं, जिसके चलते मुझे पता नहीं चला कि उस कागज पर क्या लिखा था। 10 दिसंबर को गांव के स्वास्थ्यकर्मी प्रकाश कुमार ने अस्पताल का कागज देखा तो हाइड्रोसील के ऑपरेशन के साथ-साथ नसबंदी होने की भी जानकारी दी।

- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

केरल में एक दिन में 22 हजार से अधिक नए कोरोना केस सामने आने से बढ़ी अन्य राज्यों की चिंता

केरल में मंगलवार को कोरोना के 22,129 नए मामले सामने आए हैं और 156 लोगों की कोरोना से मौत हो गई है....

जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ में बादल फटने की घटना से 4 की मौत 30 से ज्यादा लोग अभी भी लापता

जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ में लगातार हो रही भारी बारिश के बाद प्राकृतिक आपदा ने लोगों को अपनी चपेट में लिया है.किश्तवाड़...

बाराबंकी सड़क हादसे में 20 की मौत पीएम मोदी और राष्ट्रपति ने हादसे पर जताया दु:ख

यूपी के बाराबंकी में भीषण सड़क हादसे में कुल 20 लोगों की मौत हो गई है. जबकि कई लोग अभी भी गंभीर...

पेगासस जासूसी मामले में राहुल गांधी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेगासस जासूसी मामले में बीजेपी पर एक के बाद एक कई आरोप लगाते हुए गृह...

बीएसपी के प्रबुद्ध सम्मेलन में दिखे प्रभु श्रीराम और परशुराम के पोस्टर अयोध्या से की सम्मेलन की शुरूआत

यूपी विधान सभा चुनाव 2021 से पहले ब्राह्मणों को अपने पाले में लाने के लिए बीएसपी ब्राह्मण सम्मेलन कर रही है. अयोध्या...