Tripura में शांतिभंग करने से लक्ष्मीपुर और कैलाशहर में धारा 144 लागू

Tripura में शांतिभंग करने से लक्ष्मीपुर और कैलाशहर में धारा 144 लागू

त्रिपुरा(Tripura) में 2 अलग-अलग घटनाओं में शांतिभंग करने पर लक्ष्मीपुर और कैलाशहर में धारा 144 लागू कर दी गयी है। उनाकोटी पुलिस के अनुसार कैलाशहर में लक्ष्मीपुर में काली मंदिर में अज्ञात बदमाशों द्वारा तोड़फोड़ की गई। वहीं एनएसयूआई और तृणमूल छात्र परिषद के कार्यकर्ताओं द्वारा एबीवीपी नेता पर भी हमला किया गया।

2 अलग अलग घटनाओ की वजह से त्रिपुरा के लक्ष्मीपुर और कैलाशपुर में शांतिभंग होने से धार 144 लागू कर दी गई हैं। उनाकोटी पुलिस के मुताबिक कैलाशहर में बीते दिन बदमाशों ने लक्ष्मीपुर में काली मंदिर में तोड़फोड़ की। वहीं एनएसयूआई और तृणमूल छात्र परिषद के कार्यकर्ताओं द्वारा एबीवीपी नेता पर भी हमला किया गया।

दरअसल, उत्तर त्रिपुरा जिले के चमतील इलाके में मंगलवार शाम को विश्व हिंदू परिषद की एक रैली के दौरान एक मस्जिद में तोड़फोड़ की गई और दो दुकानों में आग लगा दी गई थी। घटना के कुछ समय बाद उनाकोटी के डीएम यूके चकमा ने कहा कि कैलाशहर में चाकू मारने की घटना के आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

इलाके में धारा 144 लागू है और स्थिति नियंत्रण में है। उन्होंने लोगों से कानून का पालन करने की अपील की और कहा कि न तो अफवाहें फैलाएं और न ही उन पर विश्वास करें। उत्तर त्रिपुरा जिले में मंगलवार शाम को विश्व हिंदू परिषद (विहिप) की एक रैली के दौरान चमटिल्ला इलाके में एक मस्जिद में तोड़फोड़ की गई और दो दुकानों में आग लगा दी गई थी। विहिप ने बांग्लादेश में हिन्दुओं के खिलाफ हाल में हुई हिंसा के विरोध में रैली का आयोजन किया था।

त्रिपुरा सरकार ने शुक्रवार को कहा कि बाहरी असामाजिक तत्वों ने राज्य में अशांति फैलाने की साजिश रची और एक मस्जिद के जलने की फर्जी तस्वीर इंटरनेट मीडिया पर प्रसारित कर राज्य की छवि खराब की।राज्य के सूचना एवं संस्कृति मंत्री सुशांत चौधरी ने कहा, पुलिस ने जांच की और पाया कि उत्तरी त्रिपुरा जिले के पानीसागर में कोई मस्जिद नहीं जलाई गई है, जैसा कि इंटरनेट मीडिया पोस्ट में दावा किया गया था।