10 फरवरी से यूपी में खोले जाएंगे 6वीं से 8वीं कक्षा तक के स्कूल,पेरेंटस एसोसिएशन ने जताई नाराजगी

My Bharat News - Article 1232
स्कूलों को खोले जाने को लेकर पेरेंटस ने जताई नाराजगी

कोरोना महामारी के दौर से ही काफी लम्बे समय तक बंद रहे स्कूलों को अब खोले जाने को लेकर पेरेंटस एसोसिएशन ने इस पर अपनी नाराजगी जताई है.उत्तर प्रदेश में शासन के निर्देश पर 10 फरवरी से कक्षा 6 से लेकर 8 तक के बच्चों के लिए स्कूल खोलने की तैयारी शुरू हो चुकी है.स्कूल खोले जाने की घोषणा के बाद ही सरकार की ओर कोरोना के चलते कई तरह के प्रोटोकॉल और गाइडलाइन भी तय की गई हैं लेकिन इसके बावजूद सरकार के इस फैसले पर कुछ पेरेंटस एसोसिएशन के सदस्यों ने इस पर आपत्ति जताई है.

My Bharat News - Article 78
मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश योगी आदित्यनाथ

बेसिक शिक्षा विभाग के प्रस्ताव को सीएम योगी आदित्यनाथ ने मंजूरी दे दी है.सीएम ने कोविड को सीरियसली लेते हुए केंद्र सरकार की गाइडलाइंस का पालन करने के लिए स्कूलों को निर्देश दिए हैं.वहीं सरकार की ओर से बताया गया है कि मौजूदा स्थितियों को देखते हुए आगे भी कक्षा 1 से 5वीं तक के स्कूली बच्चों के लिए स्कूल 1 मार्च से खोले जाएंगे.

My Bharat News - Article 657
स्कूल चलें हम

वहीं सरकार के इस फैसले पर नोएडा के पैरेंटस एसोसिएशन ने अपनी नाराजगी जताते हुए सरकार को गैर जिम्मेदाराना ठहराते हुए उनके इस आदेश का विरोध किया है.ऑल नोएडा स्कूल पैरंट्स असोसिएशन के अध्यक्ष का कहना है कि सरकार छोटे बच्चों का स्कूल अभी खोलकर गलत कार्य कर रही है.कोरोना वैक्सीन आने के बाद अभी भी कोरोना का असर खत्म नहीं हुआ है.जो बच्चों के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है.

My Bharat News - Article 432
स्कूलों को केन्द्र सरकार की कोरोना गाइडलाइन का करना होगा पालन

इसके अलावा गौतमबुद्ध नगर पैरंट्स वेलफेयर सोसायटी के संस्थापक का इस पूरे मामले पर कहना है कि कई पैरंट्स से इस विषय पर बात हुई, सब नाराज हैं.सरकार करीब 2 महीने रुककर स्कूल खोलते तो अच्छा होता.सरकार की ओर से 1 मार्च को नर्सरी के बच्चों के भी स्कूल खोलने का आदेश जारी किया गया है जिससे सभी पैरंट्स में डर का माहौल बना हुआ है.

My Bharat News - Article 765 1
विभिन्न पेरेंटस एसोसिएशन ने सरकार के फैसले पर जताई नाराजगी

आपको बता दें कि पेरेंटस सोसिएशन के सदस्यों ने बताया कि कई स्कूल अपने टीचर्स से फोन करवाकर पैरंट्स पर बच्चों को स्कूल बुलाने दवाब बना रहे हैं.उन्हें धमकाया जा रहा है कि अगर स्कूल पें उपस्थित नहीं हुए तो प्रैक्टिकल में मार्क्स नहीं दिए जाएंगे, नाम काट दिया जाएगा जो सरासर गलत है.

My Bharat News - Article 22
स्कूलों के रवैये पर पेरेंटस हुए नाराज