34 C
Lucknow
शनिवार, जुलाई 24, 2021

PHD स्कॉलर ने एक साल में बेची 100 किलोग्राम मेफेड्रोन, करता था नशे की मैन्युफैक्चरिंग

Must read

पेगासस जासूसी मामले में राहुल गांधी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेगासस जासूसी मामले में बीजेपी पर एक के बाद एक कई आरोप लगाते हुए गृह...

बीएसपी के प्रबुद्ध सम्मेलन में दिखे प्रभु श्रीराम और परशुराम के पोस्टर अयोध्या से की सम्मेलन की शुरूआत

यूपी विधान सभा चुनाव 2021 से पहले ब्राह्मणों को अपने पाले में लाने के लिए बीएसपी ब्राह्मण सम्मेलन कर रही है. अयोध्या...

टीएमसी सांसद शांतनु सेन पूरे सत्र के लिए हुए सस्पेंड पेपर फाड़ने के लिए उपसभापति ने की कार्यवाही

टीएमसी सांसद शांतनु सेन ने गुरुवार को राज्यसभा में जो दुर्व्यव्हार किया था उसके लिए उन्हें मानसून सत्र के बाकी दिनों के...

लश्कर ए तैयबा के दो आतंकियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर

उत्तरी कश्मीर के सोपोर में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है.आंतकियों के मारे...

राजस्व खुफिया निदेशालय (DRI) ने एक मिली सूचना के आधार पर मेफेड्रोन ड्रग की मैन्युफैक्चरिंग करने वाले एक पीएचडी स्कॉलर और खरीदने वाले शख्स को रंगे हाथों पकड़ लिया है. इस दौरान DRI ने 3.156 किलोग्राम मेफेड्रोन जब्त की जिसकी कीमत करीब 64 लाख रुपये बताई जा रही है. जब DRI की टीम मेफेड्रोन ड्रग का उत्पादन करने वाले के घर गई तो उसे वहां 112 ग्राम मेफेड्रोन के साथ-साथ 12.40 लाख रुपए भी मिले जिसे DRI की टीम ने जब्त कर लिया.

इसके अलावा हैदराबाद के बाहरी इलाके में स्थित क्लैन्डेस्टोन टैबलेट लैब से लगभग 219.5 किलोग्राम कच्चे माल को जब्त किया गया है, जिससे करीब 15-20 किलोग्राम मेफेड्रोन का निर्माण और किया जा सकता था. DRI ने अपनी जांच में पाया है कि मेफेड्रोन के उत्पादन के पीछे मुंबई स्थित एक नेटवर्क काम कर रहा है.

शुक्रवार के दिन इस पूरे मामले के मास्टरमाइंड के अलावा दो और लोगों को गिरफ्तार किया गया है. मेफेड्रोन को मैन्युफैक्चर करने वाले शख्स ने रसायन विज्ञान में पीएचडी की हुई है, जो पहले फार्मा सेक्टर में ही काम करता था. DRI की प्राथमिक जांच में पता चला है कि इस पीएचडी स्कॉलर ने पिछले एक साल में करीब 100 किलोग्राम से अधिक मेफेड्रोन की बिक्री की है.

क्या है मेफेड्रोन ड्रग?
मेफेड्रोन ड्रग कोई दवाई नहीं है बल्कि एक सिंथेटिक खाद की तरह है जो कोकेन और हेरोइन से भी अधिक नशीला पदार्थ है. इसका उपयोग नौजवान नशे के रूप में करने लगे हैं, चूंकि इसकी कीमत कोकेन और हेरोइन जैसे नशीले पदार्थों के मुकाबले काफी कम है इसलिए बीते दिनों से भारत में इसका प्रचलन बढ़ा है. मेफेड्रोन ड्रग नारकोटिक ड्रग्स और साइकोट्रोपिक पदार्थ अधिनियम, 1985 (एनडीपीएस अधिनियम) के अनुसार भारत में प्रतिबंधित है. बोलचाल की भाषा में मेफेड्रोन ड्रग को ‘ड्रोन’ या ‘म्याऊं-म्याऊं’ नाम के कोड से भी जाना जाता है.

- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

पेगासस जासूसी मामले में राहुल गांधी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेगासस जासूसी मामले में बीजेपी पर एक के बाद एक कई आरोप लगाते हुए गृह...

बीएसपी के प्रबुद्ध सम्मेलन में दिखे प्रभु श्रीराम और परशुराम के पोस्टर अयोध्या से की सम्मेलन की शुरूआत

यूपी विधान सभा चुनाव 2021 से पहले ब्राह्मणों को अपने पाले में लाने के लिए बीएसपी ब्राह्मण सम्मेलन कर रही है. अयोध्या...

टीएमसी सांसद शांतनु सेन पूरे सत्र के लिए हुए सस्पेंड पेपर फाड़ने के लिए उपसभापति ने की कार्यवाही

टीएमसी सांसद शांतनु सेन ने गुरुवार को राज्यसभा में जो दुर्व्यव्हार किया था उसके लिए उन्हें मानसून सत्र के बाकी दिनों के...

लश्कर ए तैयबा के दो आतंकियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर

उत्तरी कश्मीर के सोपोर में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है.आंतकियों के मारे...

सिद्धू ने संभाली पंजाब प्रदेश अध्यक्ष की कमान कैप्टन अमरिंदर से जंग के बीच सिद्धु की हुई ताजपोशी

कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष की कमान संभाली ली है. चंडीगढ़ में आयोजित एक कार्यक्रम में सिद्धू की...