बोरियों के अंदर कंबल में फेंका गया नवजात, घंटों बाद भी रहा जिंदा

My Bharat News - Article

उत्तर प्रदेश के मेरठ में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां पर एक लावारिस नवजात मिला है। नवजात सीमेंट की तीन खाली बोरियों के अंदर भरकर फेंका गया था। झाड़ियों के बीच से बच्चे के रोने की आवाज सुनकर स्थानीय लोगों ने नवजात को बचाया। हैरानी वाली बात यह है कि कंबल और तीन बोरियों के अंदर लिपटे रहने के बावजूद नवजात जीवित है। उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

मामला मेरठ के थाना परतापुर क्षेत्र के शताब्दी नगर सेक्टर-4 का है। सोमवार देर रात लोगों को झाड़ियों से किसी बच्चे के रोने की आवाज आई। कुछ देर बाद वहां लोगों की भीड़ जमा हो गई। आवाज आनी बंद हो गई। वहां एक बोरी पड़ी थी। लोगों को संदेह हुआ कि बच्चे के रोने की आवाज उसी बोरी से आ रही थी।

नवजात को देखकर लोग हुए दंग
राहगीरों ने बोरी झाड़ियों के बाहर निकाली और उसे खंगाला। उसके अंदर एक और बोरी बंधी रखी थी। उसे खोलने के बाद तीसरी बोरी नजर आई। तीसरी बोरी के अंदर एक कंबल रखा था। लोगों ने कंबल खोला तो उसके अंदर एक नवजात रखा था। लोग उसे देखकर दंग रह गए। आनन-फानन में पुलिस को सूचना दी गई। नवजात को अस्पताल ले जाया गया।