नई दिल्ली : पीएम मोदी की मिमिक्री से मशहूर हुए श्याम रंगीला ने थामा AAP का हाथ

My Bharat News - Article shyam rangeela aap twitter aap 1651775152

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मिमिक्री कर मशहूर हुए श्याम रंगीला ने आम आदमी पार्टी का दामन थाम लिया है. आम आदमी पार्टी के राजस्थान चुनाव प्रभारी विनय मिश्रा ने जयपुर में श्याम रंगीला को पार्टी में शामिल कराया. 2 दिन पहले ही दिल्ली में श्याम रंगीला ने आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल से मुलाकात की थी. श्याम रंगीला के पार्टी में शामिल होने पर आप ने कहा, ”श्याम रंगीला लोगों के उदास चेहरों पर अपने व्यंग्य से मुस्कुराहट लाते रहे हैं. अब वो कला के साथ-साथ देश में ‘काम की राजनीति’ करने वाली आम आदमी पार्टी के साथ मिलकर शिक्षा और स्वास्थ्य क्रांति की अलख जगाएंगे.

My Bharat News - Article 1
आम आदमी पार्टी ने ट्वीट कर की पुष्टि

बतौर कॉमेडियन श्याम रंगीला उस समय देश और दुनिया में देखे गए, जब उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मिमिक्री की. कोरोना-लॉकडाउन के समय उन्होंने एक के बाद एक कई वीडियो बनाए और अपने सोशल मीडिया चैनल पर अपलोड किए.अपने कॉमेडी वीडियो के जरिये श्याम ने मोदी सरकार के कामों की आलोचना की थी.श्याम ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी की नकल करते हुए द ग्रेट इंडियन लॉफ्टर चैलेंज में प्रदर्शन किया था.

My Bharat News - Article 2 1
श्याम रंगीला ने ट्वीट कर दी जानकारी

आपको बता दें कि, दिल्ली में श्याम रंगीला ने आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल से मुलाकात की थी. उन्होंने दिल्ली सरकार के स्कूल और मोहल्ला क्लीनिक का दौरा किया था और वहां के व्यवस्था की तारीफ की थी. श्याम रंगीला ने पार्टी ज्वाइन कर कहा, ”मोहल्ला क्लिनिक का कॉन्सेप्ट काफ़ी प्रभावी लगा, आम जनता की स्वास्थ्य संबंधी समस्या का शुरुआती इलाज यहीं से हो जाता है, राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल अस्पताल भी जाना हुआ जहां लोगों ने बताया कि पिछले कुछ वर्षों में यहां सुविधाओं में काफ़ी बदलाव हुआ है और उनका इलाज भी निःशुल्क है.

आम आदमी पार्टी के राजस्थान चुनाव प्रभारी विनय मिश्रा ने जयपुर में श्याम रंगीला को पार्टी में शामिल कराया.

उन्होंने कहा, दिल्ली का जो सरकारी स्कूल देखा वो बहुत बेहतरीन है, हम सब उम्मीद करें कि इस तरह के सरकारी स्कूल हर जगह बने, सभी को ये भी समझना चाहिए कि ये मॉडल किसी पार्टी विशेष का नहीं है, ये चाहे किसी भी सरकार द्वारा बना दिए जायें लेकिन भारत के बेहतर भविष्य के लिए ऐसे स्कूलों की आवश्यकता है.