भतीजे ने चाचा को उतारा मौत के घाट, लिया पिता की मौत का बदला

My Bharat News - Article

यूपी के वाराणसी में पांच दिन पहले हुए सनसनीखेज कत्ल के मामले में पुलिस ने खुलासा कर दिया है. कातिल कोई और नहीं बल्कि मृतक का भतीजा निकला. जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. उसने अपने चाचा का कत्ल अपने पिता की हत्या का बदला लेने के लिए किया था. 26 साल पहले आरोपी के पिता का मर्डर कर दिया गया था.
मामला वाराणसी के कैंट थाना क्षेत्र का है. जहां छोटा-लालपुर में बीती 21 नवंबर को एक शख्स की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. पुलिस ने पांच दिन में इस केस को सुलझाते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया, जो मृतक का भतीजा है. जिसकी पहचान फरीद खान उर्फ जुगनू के तौर पर हुई है. उसने पुलिस को बताया कि यह कत्ल उसने पिता की हत्या का बदला लेने के लिए किया है. उसके पिता का मर्डर 26 वर्ष पूर्व हुआ था.
पुलिस के मुताबिक आरोपी लॉकडाउन के पहले सीजीएम कोर्ट में मुंशी के तौर पर काम कर रहा था. शुरू से ही बदले की भावना फरीद खान के अंदर दबी हुई थी. पुलिस ने जुगनू को गिरफ्तार कर लिया. उसके पास से अवैध असलहा भी बरामद किया गया है. जिसका इस्तेमाल उसने हत्या के लिए किया था. हत्या की वारदात को अंजाम देने के बाद वह नेपाल भाग गया था.

वहां उसके पास पैसे खत्म हो गए थे. जिसके लिए वो वापस वाराणसी आया था. इस बात की सूचना मुखबिर ने पुलिस को दे दी. सूचना के आधार पर पुलिस ने वाराणसी जिला जेल मार्ग पर आयकर भवन के पास दबिश देकर आरोपी फरीद खान को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में उसने अपने चाचा की हत्या से पर्दा उठाते हुए बताया कि 1992 में उसके चाचा ने ही उसके पिता का मर्डर किया था. इसी के चलते उसके अंदर बदले की भावना थी.