34 C
Lucknow
शनिवार, जुलाई 24, 2021

दिल्ली की तीन बॉर्डरों पर डटे किसान, नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा- किसानों के साथ हो रहा आतंकवादियों जैसा व्यवहार

Must read

पेगासस जासूसी मामले में राहुल गांधी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेगासस जासूसी मामले में बीजेपी पर एक के बाद एक कई आरोप लगाते हुए गृह...

बीएसपी के प्रबुद्ध सम्मेलन में दिखे प्रभु श्रीराम और परशुराम के पोस्टर अयोध्या से की सम्मेलन की शुरूआत

यूपी विधान सभा चुनाव 2021 से पहले ब्राह्मणों को अपने पाले में लाने के लिए बीएसपी ब्राह्मण सम्मेलन कर रही है. अयोध्या...

टीएमसी सांसद शांतनु सेन पूरे सत्र के लिए हुए सस्पेंड पेपर फाड़ने के लिए उपसभापति ने की कार्यवाही

टीएमसी सांसद शांतनु सेन ने गुरुवार को राज्यसभा में जो दुर्व्यव्हार किया था उसके लिए उन्हें मानसून सत्र के बाकी दिनों के...

लश्कर ए तैयबा के दो आतंकियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर

उत्तरी कश्मीर के सोपोर में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है.आंतकियों के मारे...

नई दिल्ली. नए किसान कानून के विरोध में किसानों का आंदोलन चौथे दिन भी जारी है. किसान अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे किसान तीनों बॉर्डर पर डटे हुए हैं. किसानों के प्रदर्शन को अब नेताओं का भी साथ मिलना शुरू हो गया है. आज सुबह से ही किसानों की ओर से किए जा रहे प्रदर्शन का समर्थन कर रहे नेता केंद्र सरकार की आलोचना करते दिखाई दे रहे हैं. शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा है कि किसानों के साथ आतंकियों जैसा बर्ताव किया जा रहा है ज​बकि पंजाब कांग्रेस के नेता नवजो​त सिंह सिद्ध ने कहा है कि किसानों के साथ अपराधियों जैसा व्यवहार किया जा रहा है.

प्रसिद्ध क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा, 10 हजार किसान सत्याग्रहियों पर एफआईआर दर्ज की गई है जो एक रिकॉर्ड है. जो लोग देश की रक्षा के लिए सुरक्षा कवच बने, स्वतंत्रता ​संग्राम में सबसे ज्यादा यही के लोग शहीद हुए, सबसे ज्यादा यही के लोगों को परमवीर चक्र मिला है, जिन्होंने हरित क्रांति की शुरुआत की और जिन्होंन भारत के 80 करोड़ गरीबों को खाद्य सुरक्षा दी. क्या ये सब अपराधी हैं.

इससे पहले शिवसेना नेता संजय राउत ने भी केंद्र सरकार की आलोचना करते हुए कहा, जिस तरह से किसानों को दिल्ली में आने से रोका गया है, ऐसा लगता है कि वे देश के नहीं, बल्कि बाहर के किसान हैं. उनके साथ आतंकवादियों जैसा बर्ताव किया जा रहा है. इस तरह का बर्ताव करना देश के किसानों का अपमान करना है.

गृह मंत्री के प्रस्ताव को किसानों ने किया खारिज

नए कृषि कानून को वापस लेने तथा अपनी फसल के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे किसानों ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के प्रस्ताव को खारिज कर दिया है. किसान नेताओं की बैठक में शामिल स्वाराज पार्टी के नेता योगेंद्र यादव ने कहा, आज सुबह पंजाब के 30 किसान संगठनों की मीटिंग हुई. अमित शाह जी के बयान के बाद कल रात गृह सचिव की तरफ से भेजी गई चिट्ठी में कृषि कानून पर बातचीत के लिए सड़कें खाली करके बुराड़ी आने की जो शर्त लगाई गई थी, किसानों ने उसे नामंजूर कर दिया है.

- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

पेगासस जासूसी मामले में राहुल गांधी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेगासस जासूसी मामले में बीजेपी पर एक के बाद एक कई आरोप लगाते हुए गृह...

बीएसपी के प्रबुद्ध सम्मेलन में दिखे प्रभु श्रीराम और परशुराम के पोस्टर अयोध्या से की सम्मेलन की शुरूआत

यूपी विधान सभा चुनाव 2021 से पहले ब्राह्मणों को अपने पाले में लाने के लिए बीएसपी ब्राह्मण सम्मेलन कर रही है. अयोध्या...

टीएमसी सांसद शांतनु सेन पूरे सत्र के लिए हुए सस्पेंड पेपर फाड़ने के लिए उपसभापति ने की कार्यवाही

टीएमसी सांसद शांतनु सेन ने गुरुवार को राज्यसभा में जो दुर्व्यव्हार किया था उसके लिए उन्हें मानसून सत्र के बाकी दिनों के...

लश्कर ए तैयबा के दो आतंकियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर

उत्तरी कश्मीर के सोपोर में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है.आंतकियों के मारे...

सिद्धू ने संभाली पंजाब प्रदेश अध्यक्ष की कमान कैप्टन अमरिंदर से जंग के बीच सिद्धु की हुई ताजपोशी

कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष की कमान संभाली ली है. चंडीगढ़ में आयोजित एक कार्यक्रम में सिद्धू की...