NASA Mission Moon: लैन्डिंग यान के निर्माण में हो रही देरी, अब 2025 मे चाँद की सतह पर उतरेगा आर्टेमिस-3

NASA Mission Moon: लैन्डिंग यान के निर्माण में हो रही देरी, अब 2025 मे चाँद की सतह पर उतरेगा आर्टेमिस-3

NASA ने चांद की सतह पर इंसानों को फिर से भेजने के अपने मिशन मून(Mission Moon) को एक साल और बढ़ा दिया है।इससे पहले बताया जा रहा था की 2024 तक चांद पर अंतरिक्ष यात्रियों को भेजने का लक्ष्य निर्धारित किया जा रहा है लेकिन अब इस मिशन को एक ओर साल बढ़ाने का फैसला लिया जा रहा है। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का यह बहुत महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट था, लेकिन मंगलवार को नासा प्रमुख ने जानकारी देते हुए बताया कि अब 2025 तक अंतरिक्ष यात्रियों को चांद की सतह पर भेजने की तैयार की जा रही है।

लैंडिंग यान के निर्माण में क्यों हो रही देरी

आपको बात दे की आर्टेमिस नाम के इस मिशन के तहत लैंडिंग यान के निर्माण में देरी हो रही है। नासा के बिल नेल्सन ने बताया कि आर्टेमिस यान के निर्माण के लिए स्पेसएक्स से संबंध पर कानूनी कारणों से देरी हो रही है, इसी कारण से इस मिशन को एक साल के लिए अब बढ़ा दिया गया है।

चांद की सतह पर उतरेगा आर्टेमिस-3

NASA प्रमुख ने कहा कि आर्टेमिस-3 के निर्माण के लिए स्पेसएक्स के साथ कानूनी तकरार के कारण देरी हो रही है। मुकदमेबाजी में सात महीन से ज्यादा का समय बीत चुका है। इसलिए इस मिशन के 2025 से पहले शुरू होने की कोई संभावना नहीं है। बताया जा रहा है की आर्टेमिस-3 अपोलो-11 की तरह चांद की सतह पर उतरेगा ओर वहा रुकेगा भी ।