Narak Chaturdashi 2021: छोटी दिवाली पर भी मनाई जाती है हनुमान जयंती, इस तरह करे पूजा, न करे यह काम

Narak Chaturdashi 2021: छोटी दिवाली पर भी मनाई जाती है हनुमान जयंती, इस तरह करे पूजा, न करे यह काम

दिवाली कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मनाई जाती है। दिवाली से एक दिन पहले नरक चौदस(Narak Chaturdashi) या छोटी दिवाली(Choti Diwali) मनाई जाती है। “नरक” पौराणिक राक्षस राजा नरकासुर को संबोदित करता है और “चतुर्दशी” का अर्थ है चौदहवाँ दिन। लेकिन आपको ये नहीं पता होगा कि छोटी दिवाली या नरक चतुर्दशी के दिन ही हनुमान जयंती भी मनाई जाती है। हनुमान जयंती साल में दो बार मनाई जाती है। पहली हनुमान जयंती चैत्र मास की पूर्णिमा को, जबकि दूसरी कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मनाई जाती है। मान्यता है कि आज हनुमान जी की विशेष अराधना करने से सारे संकट दूर हो जाते हैं।

आपको बता दें, छोटी दिवाली पर पूरे शरीर पर तिल का तेल लगाकर स्नान करने की परंपरा है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन तिल के तेल से मालिश करने बाद स्नान करने वालों को शुभ फल मिलते हैं। इस दिन हनुमान जी की मूर्ति स्थापित करी जाती है और धूप, दीप, नवैद्य, दीप जलाकर उनकी पूजा की जाती है। हनुमान जी को गुलाब की माला चढ़ाएं और सिन्दूर लगाएं उसके बाद उनकी आरती करें।

Hanuman Jayanti 2020: Body pain end to this stuti of Hanumanji

इन बातों को ध्यान में रखें –

  1. हनुमान जी की पूजा में सिंदूर का इस्तेमाल जरूर करें। ऐसा करने से इंसान के सारे कष्ट दूर हो जाते हैं। इस दिन बरगद के पेड़ के पत्ते से हनुमान जी की पूजा करने वालों के आर्थिक संकट दूर होते हैं। इसके लिए बरगद के पेड़ के पत्ते को गंगाजल से धोकर हनुमानजी को अर्पित करें।
  2. हनुमान जी की पूजा में उनको पान का बीड़ा जरूर चढ़ाएं। कहा जाता है कि इससे हनुमान जी की विशेष कृपा होती है और तरक्की के रास्ते खुल जाते हैं। इसके अलावा हनुमान जी की पूजा में केवड़े का इत्र और गुलाब की माला भी शामिल करें।
  3. हनुमान जयंती के दिन लाल रंग के वस्त्र पहन कर हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए। हनुमान जी को बूंदी के लड्डू या प्रसाद अवश्य चढ़ाएं।
  4. छोटी दिवाली के दिन पीपल के 11 पत्तों पर लाल चंदन से श्री राम लिखें और इन पत्तों को मंदिर में जाकर हनुमानजी को चढ़ा दें। मान्यता है कि ऐसा करने वाले लोगों को धन का लाभ होता है।
हनुमानजी को प्रसन्न करने का उपाय Aaj ka Rashifal, How to please Hanumanji

छोटी दिवाली पर न करें ये गलतियां –

  1. हनुमान जी की पूजा काले या सफेद रंग के कपड़े पहनाकर बिल्कुल न करें। ऐसा करने पर आपकी पूजा पर नकरात्मक प्रभाव पड़ता है।
  2. हनुमान जी की पूजा करने वाले भक्त को मंगलवार या हनुमान जयंती के व्रत वाले दिन नमक का सेवन नहीं करना चाहिए। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि दान में दी गई वस्तु, विशेष रूप से मिठाई का स्वयं सेवन न करें।
  3. बजरंग बली काफी शांतप्रिय देवता माने जाते हैं, इसलिए उनकी साधना बड़े ही शांत मन से करनी चाहिए। यदि आपका मन अशांत है या फिर आपको किसी बात पर क्रोध आ रहा है, तो ऐसे में हनुमान जी की पूजा न करें।
  4. बहुत कम ही लोग इस बात को जानते हैं कि हनुमान जी की पूजा में कभी भी चरणामृत का प्रयोग नहीं किया जाता है। मांस-मदिरा का सेवन करने के बाद भी न तो हनुमान मंदिर जाएं और न ही उनकी पूजा करें।
  5. हनुमानजी की पूजा करते समय ब्रह्राचर्य व्रत का पालन करना आवश्यक होता है। इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि हनुमान जी बाल ब्रह्मचारी होने की वजह से स्त्रियों के स्पर्श से दूर रहते थे। ऐसे में पूजा के दौरान स्त्रियों को हनुमान जी को स्पर्श नहीं करना चाहिए।