Modi Surname: मानहानि मामले में राहुल गांधी की पेशी, सूरत कोर्ट ने 29 अक्तूबर को पेश होने का दिया आदेश

Modi Surname: मानहानि मामले में राहुल गांधी की पेशी, सूरत कोर्ट ने 29 अक्तूबर को पेश होने का दिया आदेश

राहुल गांधी ने 13 अप्रैल 2019 को चुनावी रैली में मोदी सरनेम(Modi Surname) को लेकर टिप्पणी की थी। जिसको लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी को सूरत कोर्ट ने 29 अक्टूबर को पेश होने का आदेश दिया है।

गौरतलब है कि जिसके बाद गुजरात के भाजपा विधायक पुरनेश मोदी ने उनके खिलाफ मानहानि का मामला दर्ज कराया था। सूरत हाईकोर्ट में इसी मामले में सुनवाई चल रही है। 

इससे पहले भी कई बार राहुल गांधी सूरत कोर्ट में पेश हो चुके हैं। पिछली बार हुई पेशी में जज ने राहुल गांधी से सवाल किया था कि क्या उन्हें अपना गुनाह कबूल है। इस पर राहुल गांधी ने जवाब दिया था कि उन्हें गुनाह कबूल नहीं है। राहुल गांधी के वकील किरीट पानवाला ने बताया की, अदालत ने सोमवार को राहुल गांधी को दो नए गवाहों के बयानों पर अपना बयान दर्ज कराने के लिए 29 अक्टूबर को पेश होने का मौखिक तौर पर आदेश दिया। बताया जा रहा है की वह उस दिन अदालत में दोपहर तीन बजे से शाम छह बजे के बीच पेश हो सकते हैं।

आपको बता दे, कर्नाटक में 13 अप्रैल 2019 को चुनाव प्रचार के दौरान राहुल गांधी ने कहा था कि नीरव मोदी, ललित मोदी, नरेंद्र मोदी सभी का सरनेम कॉमन क्यों है। उन्होंने आगे कहा था कि सभी चोरों का सरनेम मोदी ही क्यों होता है? 

इसके साथ ही की राहुल गांधी के अदालत में आखिरी बार पेश होने के बाद से दो और गवाहों ने कर्नाटक के कोलार में तत्कालीन निर्वाचन अधिकारी और भाषण रिकॉर्ड करने वाले निर्वाचन आयोग के वीडियो रिकॉर्डर ने बयान दर्ज कराए हैं।