Mangalsutra Ad: ट्रोल होने के बाद सब्यसाची ने अपने विज्ञापन को लिया वापस, मध्यप्रदेश के ग्रह मंत्री ने दी चेतावनी

Mangalsutra Ad: ट्रोल होने के बाद सब्यसाची ने अपने विज्ञापन को लिया वापस, मध्यप्रदेश के ग्रह मंत्री ने दी चेतावनी

Mangalsutra Ad: पॉप्युलर फैशन डिजाइनर सब्यसाची मुखर्जी अपने यूनीक आउटफ़िट्स, ब्राइडल कलेक्शन और बॉलीवुड सेलेब्स के साथ उनकी करीबी के चलते हमेशा चर्चा में बने रहते हैं। हाल ही में उन्होंने एक मंगलसूत्र के विज्ञापन के लिए अर्ध नग्न मॉडल का उपयोग किया था। जिसके बाद से वह सोशल मीडिया पर काफी ट्रोल हो गए थे।

इसके साथ ही मध्यप्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी मुखर्जी के इस विज्ञापन पर आपत्ति जताई थी। उन्होंने सब्यसाची को 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया था। जिसके बाद बीते दिन रविवार देर रात सब्यसाची ने अपना यह विवादित विज्ञापन हटा लिया।

अब नरोत्तम मिश्रा ने एक बयान में कहा है कि मेरे पोस्ट के बाद सब्यसाची मुखर्जी ने अपना आपत्तिजनक विज्ञापन वापस ले लिया है। अगर वह ऐसा दोबारा करते हैं तो सीधे कार्रवाई की जाएगी, उन्हें कोई चेतावनी नहीं दी जाएगी। उनसे और उनके जैसे लोगों से हमारी अपील है कि लोगों की धार्मिक भावनाओं को ठेस न पहुंचाएं।

वहीं सब्यसाची ने इंस्टाग्राम पर लिखा, ‘धरोहर और संस्कृति पर सतत चर्चा की पृष्ठभूमि में मंगलसूत्र विज्ञापन का मकसद समावेशिता और सशक्तीकरण पर बातचीत करना था। इस अभियान का मकसद उत्सव मनाना था और हमें इस बात का गहरा दुख है कि इससे हमारे समाज के एक वर्ग को कष्ट पहुंचा है। इसलिए हमने इस विज्ञापन अभियान को वापस लेने का निर्णय लिया हैं।’

आपको बता दे, सब्यसाची ने मंगलसूत्र के विज्ञापन के लिए जो फोटो शेयर की थी, उसमें एक प्लस साइज फीमेल मॉडल मंगलसूत्र के साथ लॉन्जरी पहनी हुई थी। मॉडल के साथ इस फोटो में एक मेल मॉडल भी था, जो शर्टलेस नजर आ रहा था। 

इस विज्ञापन को देखने के बाद लोगों का कहना था कि ‘आप किसका एड दिखा रहे हैं। अब ये जूलरी कोई नहीं पहनेगा, क्योंकि आपने दुनिया को ये दिखाया है कि अगर मैंने ये ज्वैलरी पहनी, तो मैं कोई गंदी महिला हूँगी’। इसी तरह एक यूजर ने लिखा, ‘जिसे खरीदना होगा वो ये फोटो देखकर नहीं खरीदेगा’। वहीं एक यूजर ने सवाल किया कि क्या कोई और तरीका नहीं था इस जूलरी को दिखाने का। एक शख्स ने तो इस एड चेन को बायकॉट करने की अपील की है और कहा है कि ये पोर्न जूलरी का हब बन गया है।