27 C
Lucknow
मंगलवार, अक्टूबर 19, 2021

सीएम अरविंद केजरीवाल के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करना महंगा पड़ा छात्र को

Must read

T-20 World Cup: हेड कोच रवि शास्त्री का अंतिम टूर्नामेंट, बोले खिलाड़ियों को ज्यादा तैयारी की नहीं है जरूरत

T-20 World Cup में भारतीय क्रिकेट टीम अपना पहला मुकाबला 24 अक्टूबर को पाकिस्तान के खिलाफ खेलेगी। वहीं टीम इंडिया के हेड...

Rajasthan: थाने मे फर्श पर बैठी महिला विधायक, दारू पार्टी पर दिया बड़ा बयान

हाल ही मे राजस्थान(Rajasthan) के जोधपुर में एक महिला विधायक के रिश्तेदार का शराब पीकर गाड़ी चलाने के वजह से चालान कट...

BJP से मुक्त हुए बाबुल सुप्रियों, लोकसभा स्पीकर को सौंपा इस्तीफा, TMC मे जाने के बाद लिया फैसला

मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस(TMC) के नेता बाबुल सुप्रियो ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से मिलकर सांसद पद से इस्तीफा दे दिया है।...

UP विधानसभा चुनाव से पहले प्रियंका गांधी का बड़ा ऐलान, बोली UP में 40 फीसदी टिकट महिलाओं को

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने 2022 में होने वाले UP विधानसभा चुनाव को लेकर मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की।...

अंबेडकर विश्वविद्यालय के अंतिम वर्ष के एक छात्र पर पिछले साल दिसंबर में ऑनलाइन आयोजित किए गए वार्षिक दीक्षांत समारोह के दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने के आरोप में 5,000 रुपये का जुर्माना लगाया गया है.

My Bharat News - Article 80
केजरीवाल के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने के आरोप में 5,000 रुपये का जुर्माना लगाया गया है.

विश्वविद्यालय ने पिछले साल 23 दिसंबर को दीक्षांत समारोह का आयोजन किया था जिसमें दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल मुख्य अतिथि थे. विश्वविद्यालय ने एक बयान में कहा कि इस कार्यक्रम का आयोजन ऑनलाइन किया गया था. कार्यक्रम के दौरान विद्यार्थी ने यूट्यूब के चैट रूम का इस्तेमाल करते हुए कार्यक्रम में बाधा डालने का प्रयास किया था.

My Bharat News - Article 70
विश्वविद्यालय के प्रॉक्टोरियल बोर्ड ने मामले की जांच के लिए एक उप-समिति का गठन किया था.

विश्वविद्यालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है ये कार्रवाई इसलिए की गई क्योंकि छात्र का आचरण अंबेडकर विश्वविद्यालय के छात्रों के लिए निर्धारित और अधिसूचित अनुशासन संहिता का उल्लंघन थी.

वहीं, वाम छात्र संगठन ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन का कहना है कि छात्र ने फीस वृद्धि और आरक्षण नीति लागू करने में खामियों को लेकर ऑनलाइन विरोध दर्ज कराया था जिसको लेकर उस पर 5,000 रुपये जुर्माना लगाया गया.

My Bharat News - Article 74
वाम छात्र संगठन के मुताबिक छात्र ने फीस वृद्धि और आरक्षण नीति को लेकर किया था विरोध

विश्वविद्यालय के प्रॉक्टोरियल बोर्ड ने मामले की जांच के लिए एक उप-समिति का गठन किया था. विश्वविद्यालय की ओर से 30 जून को एक आदेश में कहा गया था कि छात्र को सजा का अनुपालन करने के बाद परीक्षा में बैठने की अनुमति दी जाएगी और ये निलंबन की सजा हटा रहा है क्योंकि छात्र अपने अंतिम सेमेस्टर में है.

6 अप्रैल, 2021 को प्रॉक्टोरियल बोर्ड की उप-समिति के बीच एक व्यक्तिगत बातचीत हुई. बातचीत के दौरान छात्र ने माना किया कि उसने टिप्पणी की थी और उन टिप्पणियों के लिए खुद को दोषी महसूस नहीं किया.

- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

T-20 World Cup: हेड कोच रवि शास्त्री का अंतिम टूर्नामेंट, बोले खिलाड़ियों को ज्यादा तैयारी की नहीं है जरूरत

T-20 World Cup में भारतीय क्रिकेट टीम अपना पहला मुकाबला 24 अक्टूबर को पाकिस्तान के खिलाफ खेलेगी। वहीं टीम इंडिया के हेड...

Rajasthan: थाने मे फर्श पर बैठी महिला विधायक, दारू पार्टी पर दिया बड़ा बयान

हाल ही मे राजस्थान(Rajasthan) के जोधपुर में एक महिला विधायक के रिश्तेदार का शराब पीकर गाड़ी चलाने के वजह से चालान कट...

BJP से मुक्त हुए बाबुल सुप्रियों, लोकसभा स्पीकर को सौंपा इस्तीफा, TMC मे जाने के बाद लिया फैसला

मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस(TMC) के नेता बाबुल सुप्रियो ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से मिलकर सांसद पद से इस्तीफा दे दिया है।...

UP विधानसभा चुनाव से पहले प्रियंका गांधी का बड़ा ऐलान, बोली UP में 40 फीसदी टिकट महिलाओं को

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने 2022 में होने वाले UP विधानसभा चुनाव को लेकर मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की।...

Cruise Drugs Case: आर्यन खान के साथ शिवसेना! नेता किशोर तिवारी ने याचिका दायर कर उठाई आवाज

Cruise Drugs Case: बॉलीवुड के बादशाह खान यानि शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान के बचाव में बॉलीवुड सितारों के अलावा अब...