Maharashtra IT Raid: आयकर विभाग ने महाराष्ट्र के उपमुख्‍यमंत्री अजित पवार से जुड़ी 1000 करोड़ रुपये की संपत्ति को किया सीज

Maharashtra IT Raid: आयकर विभाग ने महाराष्ट्र के उपमुख्‍यमंत्री अजित पवार से जुड़ी 1000 करोड़ रुपये की संपत्ति को किया सीज

महाराष्‍ट्र(Maharashtra) की राजनीति में आज कल जबरदस्‍त हलचल देखने को मिल रही है। राष्‍ट्रीय एजेंसियों द्वारा की जा रही कार्रवाई से आरोप-प्रत्‍यारोप का दौर जारी है। इस बीच पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख की प्रवर्तन निदेशालय द्वारा गिरफ्तारी के बाद अब महाराष्ट्र के उपमुख्‍यमंत्री अजित पवार के खिलाफ कार्रवाई शुरू हो गई है। राज्य के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार की 1000 करोड़ रुपये की संपत्ति सीज़ की है। ऐसे में महाराष्‍ट्र की राजधानी में हलचल और बढ़ सकती है।

दरअसल, पिछले महीने आईटी विभाग ने पवार की बहनों के घरों और कंपनियों पर छापेमारी की थी। इसके बाद से ही संपत्तियों को सीज करने की कार्रवाई पर काम किया जा रहा था। बहन के घरों में छापेमारी में 184 करोड़ रुपए की ऐसी संपत्ति का पता चला था जिसका कोई हिसाब-किताब मौजूद नहीं है।

My Bharat News - Article image

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्टर टैक्सेज (सीबीडीटी) ने एक बयान में कहा था कि बीते 7 अक्टूबर को मुंबई, पुणे, बारामती, गोवा और जयपुर में करीब 70 ठिकानों पर छापेमारी की गई थी। बताया जा रहा है कि छानबीन के दौरान बेनामी लेनदेन का भी पता चला है जिसे सबूत के तौर पर रखा गया है। छापेमारी में बरामद कुछ अहम दस्तावेजों से दो ग्रुपों के पास करीब 184 करोड़ रुपए का पता चला है, जिसका कोई हिसाब मौजूद नहीं है।

हालांकि, इस विभाग की तरफ से दोनों में से किसी भी ग्रुप का नाम नहीं बताया गया है। छापेमारी के दिन महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम अजीत पवार ने मीडिया से कहा था कि आईटी विभाग ने उनकी तीन बहनों के ठिकानों पर भी छापेमारी की है। इनमें से एक कोल्हापुर जिले और दो अन्य महाराष्ट्र के पुणे जिले में रहती हैं। 

आपको बता दे, इससे पहले महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख को प्रवर्तन निदेशालय ने मेराथन पूछताछ के बाद मनीलॉन्ड्रिंग से जुड़े एक केस में गिरफ्तार कर लिया है। हालांकि, देशमुख को इस का अंदाजा नहीं रहा होगा कि उन्‍हें ईडी गिरफ्तार कर लेगी। बताया गया कि अनिल देशमुख से प्रवर्तन निदेशालय ने 12 घंटे तक पूछताछ की। इस दौरान ईडी को पूर्व मंत्री की तरफ से संतोषजनक जवाब नहीं मिला।