जानिए देश के किन-किन हिस्सों में कितनी देर के लिए नजर आएगा आज चंद्रग्रहण

My Bharat News - Article d4
वर्ष 2021 का पहला चंद्रग्रहण लगेगा आज

देश में आज साल 2021 का पहला चंद्रग्रहण लगेगा,ये देश के पूर्वोत्तर भाग में चंद्रोदय के बाद कुछ वक्त के लिए दिखाई देगा. भारतीय मौसम विभाग ने इस बारे में जानकारी दी है. ये पूर्ण चंद्रग्रहण होगा, लेकिन भारत में ये उपछाया चंद्रग्रहण के रूप में ही दिखाई देगा.

My Bharat News - Article 0 8
चंद्रग्रहण दोपहर 3.15 से लेकर शाम 6.23 तक रहेगा

चंद्र ग्रहण बुधवार दोपहर 3.15 बजे शुरू होगा और शाम 6.23 बजे तक चलेगा. शाम को चंद्रोदय के बाद ये दिखना शुरू होगा. इस दौरान 4.39 से 4.58 के बीच पूर्ण चंद्रग्रहण लगेगा. लेकिन इस बार का ये चंद्रग्रहण भारत में हर जगह दिखाई नहीं देगा.

My Bharat News - Article unnamed file 1
सिक्किम को छोड़कर पूर्वोत्तर राज्यों ओडिशा और पं बंगाल के कुछ हिस्सों मे आएगा नजर

मौसम विभाग के मुताबिक, चंद्रग्रहण सिक्किम को छोड़कर पूर्वोत्तर राज्यों, ओडिशा और पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों और अंडमान निकोबार द्वीप समूह में दिखाई देगा. द्वीप समूह में ये करीब 45 मिनट तक देखा जा सकता है. वहीं, पूर्वोत्तर राज्यों में ये 2 मिनट से लेकर करीब आधे घंटा तक दिखाई देगा.

My Bharat News - Article unnamed file 2
पूर्वोत्तर राज्यों में 2 मिनट से लेकर करीब आधे घंटे तक नजर आएगा ग्रहण

चंद्रग्रहण भारत के अलावा उत्तर और दक्षिण अमेरिकी, प्रशांत महासागर, ऑस्ट्रेलिया और एशिया के कई देशों में दिखाई देगा. इसके बाद देश में 19 नवंबर को अरुणाचल प्रदेश और असम के पूर्वी भाग में आंशिक चंद्रग्रहण दिखाई देगा.

My Bharat News - Article 04ं
चंद्रग्रहण के समय पृथ्वी आ जाती है चंद्रमा और सूरज के बीच में

आपको बतायें कि पूर्ण और आंशिक चंद्रग्रहण पृथ्वी के सूर्य और चंद्रमा के बीच में आ जाने की वजह से होते हैं. इस दौरान सूर्य के प्रकाश से चमकने वाला चंद्रमा अंधेरे में डूब जाता है. रात में उसकी रोशनी धरती तक नहीं पहुंच पाती है, ये सिर्फ पूर्णिमा पर ही होता है.

My Bharat News - Article 98 1
पृथ्वी की घनी छाया चंद्रमा को पूरी तरह से ढक लेती है

जब चंद्रमा और सूरज के बीच में पृथ्वी आ जाती है तो, पृथ्वी की घनी छाया चंद्रमा को पूरी तरह से ढंक लेती है. इससे चंद्रमा चमकीला न दिखकर लाल दिखने लगता है.

My Bharat News - Article 0तस 1
टेलिस्कोप की मदद से इस दौरान होने वाली चमक को समझा जा सकता है

सूर्य और चंद्रमा के बीच पृथ्वी के आने पर बीच में तो घनी छाया बनती है, लेकिन उसके चारों और उपछाया बनती है. जब चंद्रमा सिर्फ उपछाया वाले भाग में आता है तो इसे उपछाया चंद्रग्रहण कहते हैं. इस ग्रहण को पहचानना मुश्किल होता है, क्योंकि चंद्रमा की चमक कुछ ही कम होती है. केवल टेलिस्कोप से ही चमक का अंतर समझा जा सकता है.