34 C
Lucknow
शनिवार, जुलाई 24, 2021

जानिए आखिर क्या है फ्रेश फ्रूट केक आंदोलन और किन वर्ग से जुड़े लोग शामिल हो रहे इस आंदोलन में

Must read

पेगासस जासूसी मामले में राहुल गांधी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेगासस जासूसी मामले में बीजेपी पर एक के बाद एक कई आरोप लगाते हुए गृह...

बीएसपी के प्रबुद्ध सम्मेलन में दिखे प्रभु श्रीराम और परशुराम के पोस्टर अयोध्या से की सम्मेलन की शुरूआत

यूपी विधान सभा चुनाव 2021 से पहले ब्राह्मणों को अपने पाले में लाने के लिए बीएसपी ब्राह्मण सम्मेलन कर रही है. अयोध्या...

टीएमसी सांसद शांतनु सेन पूरे सत्र के लिए हुए सस्पेंड पेपर फाड़ने के लिए उपसभापति ने की कार्यवाही

टीएमसी सांसद शांतनु सेन ने गुरुवार को राज्यसभा में जो दुर्व्यव्हार किया था उसके लिए उन्हें मानसून सत्र के बाकी दिनों के...

लश्कर ए तैयबा के दो आतंकियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर

उत्तरी कश्मीर के सोपोर में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है.आंतकियों के मारे...

बीते साल में कोरोना संकट ने लगभग-लगभग सभी की जिंदगी को प्रभावित किया है. कई लोगों के रोजगार छूट गए तो कई की आमदनी घट गई. कृषि क्षेत्र पर भी कोरोना महामारी का काफी असर हुआ है.इस संकट काल में किसानों को आर्थिक रूप से नुकसान उठाना पड़ा है, लेकिन ग्रामीण महाराष्ट्र के किसानों ने अब अपनी आमदनी बढ़ाने के लिए एक आंदोलन की शुरूआत की है. फ्रेश फ्रूट केक नाम से शुरू किया गया ये आंदोलन सोशल मीडिया पर भी काफी सुर्खियां बटोर रहा है.

My Bharat News - Article 090
कोरोना महामारी के दौर से ही फलों की कम होती मांग को लेकर किसानों ने जताई थी चिंता

बीते वर्ष की ही तरह इस वर्ष भी फिर से एक बार पूरी दुनिया कोरोना महामारी की वजह से बेहाल है.कई देशों की अर्थव्यवस्था इस महामारी की वजह से पटरी से उतर गई है. भारत की इकोनॉमी भी कोरोना संकट की वजह से काफी प्रभावित हुई है. कृषि क्षेत्र से जुड़े लोगों की आमदनी पर भी कोरोना की मार पड़ी हैं.दरअसल फलों की  बिक्री कम होने की वजह से किसानों को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है लेकिन अब ग्रामीण महाराष्ट्र के किसानों ने अपनी आमदनी बढ़ाने की दिशा में एक नई पहल शुरू की है.

My Bharat News - Article 086
महाराष्ट्र के फल उत्पादकों की ओर से जन्मदिन के अवसर पर बेकरी केक की बजाय फ्रेश फ्रूट्स केक को चुनने की लोगों से की अपील

महाराष्ट्र के फल उत्पादकों की ओर से जन्मदिन या अन्य किसी खास अवसर के लिए बेकरी केक की बजाय फ्रेश फ्रूट्स से बने केक को एक हेल्दी ऑप्शन के रूप में प्रमोट किया जा रहा है. किसानों और कृषि एक्सपर्ट्स के मुताबिक फ्रेश फ्रूट केक आंदोलन सोशल मीडिया पर भी काफी सुर्खियां बटोर रहा है. इस आंदोलन का उद्देश्य फलों की मांग को बढ़ाना है. फिलहाल ये फ्रूट आंदोलन महाराष्ट्र के कई शहरों में फेमस हो रहा है. माना जा रहा है कि इस मुहिम की वजह से देश में फलों की मांग बढ़ सकती है.

My Bharat News - Article 054
महाराष्ट्र किसानों की ओर से चलाए जा रहे फ्रेश फ्रूट्स केक आंदोलन को सोशल मीडिया की मदद से मिल रही मदद

आपको बता दें कि खेती से जुड़े कई संगठनों द्वारा स्थानी स्तर पर उगाए जाने वाले फलों जैसे तरबूज, खरबूजा, अंगूर, नारंगी, अनानास और केले से बने केक के इस्तेमाल को बढ़ावा दिया जा रहा है.मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो ‘फ्रूट केक’ मूवमेंट ने सोशल मीडिया पर काफी लोकप्रियता हासिल कर ली है. कई किसान संगठनों ने तो इस कॉन्सेप्ट पर फ्रेश फ्रूट केक प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया है. एक किसान संगठन होय आम्ही शेतकारी सोशल मीडिया पर एक फ्रेश फ्रूट केक कंप्टीशन का आयोजन करवा रहा है.इसमें हिस्सा लेने वाले प्रतियोगियों को स्थानीय तौर पर मौजूद फलों से केक बनाना है.इस संगठन के एक सदस्य ने बताया कि फ्रेश फ्रूट केक आंदोलन के तेज होने पर एक कंप्टीशन आयोजित करने का निर्णय लिया गया था.

My Bharat News - Article 06543
आंदोलन चला रहे संगठन के सदस्य का कहना है कि आंदोलन के और तेज होने पर चलाया जाएगा कंप्टीशन

इसमें लोगों से फ्रेश फ्रूट्स केक को फोटो और वीडियो एंट्री के तौर पर मंगाए गए हैं और अब तक 150 से ज्यादा प्रविष्टियां मिल चुकी हैं. फिलहाल ‘फ्रेश फ्रूट केक आंदोलन’ किसानों और उनके परिवारों तक ही सीमित है, उम्मीद जताई जा रही है कि सोशल मीडिया की मदद से ये आम आदमी तक भी पहुंचेगा और जल्द ही यह सभी फल उत्पादकों की आमदनी बढ़ाने का एक स्थायी समाधान बन जाएगा.

- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

पेगासस जासूसी मामले में राहुल गांधी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेगासस जासूसी मामले में बीजेपी पर एक के बाद एक कई आरोप लगाते हुए गृह...

बीएसपी के प्रबुद्ध सम्मेलन में दिखे प्रभु श्रीराम और परशुराम के पोस्टर अयोध्या से की सम्मेलन की शुरूआत

यूपी विधान सभा चुनाव 2021 से पहले ब्राह्मणों को अपने पाले में लाने के लिए बीएसपी ब्राह्मण सम्मेलन कर रही है. अयोध्या...

टीएमसी सांसद शांतनु सेन पूरे सत्र के लिए हुए सस्पेंड पेपर फाड़ने के लिए उपसभापति ने की कार्यवाही

टीएमसी सांसद शांतनु सेन ने गुरुवार को राज्यसभा में जो दुर्व्यव्हार किया था उसके लिए उन्हें मानसून सत्र के बाकी दिनों के...

लश्कर ए तैयबा के दो आतंकियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर

उत्तरी कश्मीर के सोपोर में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है.आंतकियों के मारे...

सिद्धू ने संभाली पंजाब प्रदेश अध्यक्ष की कमान कैप्टन अमरिंदर से जंग के बीच सिद्धु की हुई ताजपोशी

कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष की कमान संभाली ली है. चंडीगढ़ में आयोजित एक कार्यक्रम में सिद्धू की...