एलोपैथी डॉक्टरों पर टिप्पणी के बाद IMA ने बाबा रामदेव को भेजा 1000 करोड़ रूपये का नोटिस

My Bharat News - Article 1 11
विवादित बयान देकर बुरे फंसे बाबा रामदेव

एलोपैथी और डॉक्टरों पर विवादित बयान देकर बाबा रामदेव बुरी तरह फंसे नजर आ रहे हैं. बाबा रामदेव की मुश्किलें पहले से अब और बढ़ गई हैं. इंडियन मेडिकल एसोसिएशन उत्तराखंड ने बाबा रामदेव को एलोपैथी डॉक्टर पर विवादित बयान देने के बाद अब 1000  करोड़ रुपये का मानहानि नोटिस भेजा है. नोटिस में रामदेव से अगले 15 दिन में उनके बयान का खंडन वीडियो और लिखित में माफी मांगने को कहा गया है.

My Bharat News - Article 2 13
बाबा रामदेस को उत्तराखंड आईएमए की ओर से भेजा गया शिकायती पत्र



नोटिस में कहा गया है कि अगर रामदेव 15 दिन के अंदर अपने विवादित बयान का खंडन वीडियो और लिखित माफी नहीं मांगते हैं तो उनसे 1000 करोड़ रुपये की मांग की जाएगी. इसके अलावा रामदेव से 72 घंटे के अंदर कोरोनिल किट के भ्रामक विज्ञापन को सभी स्थानों से हटाने को कहा जाएगा. जिसमे ये दावा किया गया है कि कोरोनिल कोविड वैक्सीन के बाद होने वाले साइड इफेक्ट पर प्रभावी है.

My Bharat News - Article 5 7
आईएमए के महासचिव डॉ.लेले से रामदेव की हुई थी तीखी बहस

आपको बता दें कि पिछले दिनों रामदेव ने बयान दिया था कि एलोपैथिक दवाएं खाने से लाखों लोगों की मौत हुई है. उन्होंने एलोपैथी को स्टुपिड और दिवालिया साइंस तक कह दिया था. इस पर विवाद बढ़ने और केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के कड़े ऐतराज के बाद रामदेव ने अपना बयान वापस ले लिया था.

My Bharat News - Article 54 5
बाबा रामदेव के विवादित बयान के बाद केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने रामदेव को लिखी थी चिट्ठी

माना जा रहा था कि विवाद थम जाएगा लेकिन 24 मई को रामदेव ने एक बार फिर एलोपैथिक चिकित्सा पद्धति पर सवाल उठा दिए हैं. इस बार उन्होंने पतंजलि के लेटरपैड पर लिखी एक चिट्ठी में आईएमए से 25 सवाल किए हैं, जिस पर उनके हस्ताक्षर भी हैं.

My Bharat News - Article 0pp
बाबा रामदेव को 15 दिन का दिया गया है समय

बाबा रामदेव ने इस पत्र में हेपेटाइटिस, लीवर सोयराइसिस, हार्ट एनलार्जमेंट, शुगर लेवल 1 और 2, फैटी लीवर, थायराइड, ब्लॉकेज, बाईपास, माइग्रेन, पायरिया, अनिद्रा, स्ट्रेस, ड्रग्स एडिक्शन, गुस्सा आदि बीमारियों पर स्थायी इलाज को लेकर सवाल पूछे हैं.