कोरोना के इंडियन वेरिएंट कहे जाने पर सरकार ने सोशल मीडिया कंपनियों पर जताई नाराजगी

My Bharat News - Article 42 2
कोरोना को इंडियन वेरिएंट कहे जाने पर नाराज हुए रविशंकर प्रसाद

कोरोना वायरस के नए रूप को ‘इंडियन वैरिएंट’  कहे जाने को लेकर केन्द्र सरकार ने अपनी नाराजगी जताई है. केन्द्र सरकार ने इस संबंध में सोशल मीडिया कंपनियों से भारतीय वैरिएंट के कोरोना वाले सभी कंटेंट को सोशल मीडिया से हटाने की बात कही है.

My Bharat News - Article 11 8
सूचना प्रौघोगिकी मंत्रालय की ओर से सोशल मीडिया कंपनियों को लिखा पत्र

सूचना प्रौघोगिकी मंत्रालय ने इस संबंध में सोशल मीडिया कंपनियों को पत्र लिखकर कहा है कि,भारत की छवि को खराब करने के उद्देश्य से सोशल मीडिया पर इस तरह का जितना भी कंटेंट मौजूद है ऐसी सभी सामग्री तत्काल प्रभाव से हटाई जानी चाहिए, जो कोरोना वायरस के नए रूप को भारत से जोड़ती है.

My Bharat News - Article 3w
सरकार ने बताया कि WHO ने भी कहीं कोरोना को लेकर इंडियन वेरिएंट शब्द का नहीं किया है इस्तेमाल

न्यूज एजेंसी PTI के मुताबिक, सरकार ने अपने पत्र में विश्व स्वास्थ्य संगठन का हवाला दिया है. केंद्र ने कहा है कि WHO ने अपनी किसी भी रिपोर्ट में कोरोना वायरस के B.1.617 वैरिएंट के लिए ‘इंडियन वैरिएंट’ शब्द का इस्तेमाल नहीं किया है. इसलिए सोशल मीडिया पर इस तरह के जो भी कंटेंट मौजूद है, उसे तुरंत हटाया जाना चाहिए.

My Bharat News - Article 1ें
सोशल मीडिया कंपनियों को हर जगह से इस शब्द को हटाने की कही गई है बात

सोशल मीडिया कंपनियों को लिखे पत्र में आईटी मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि भारतीय वैरिएंट शब्द का इस्तेमाल पूरी तरह से गलत है. भारत सरकार स्पष्ट करती है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अपने 32 पेज के दस्तावेज में B.1.617 के लिए इसका कहीं इस्तेमाल नहीं किया है. सरकार ने कहा है कि कोरोना को लेकर गलत सूचना के प्रसार को रोकने के लिए ऐसा किया जाना जरूरी है.