25 C
Lucknow
शुक्रवार, सितम्बर 17, 2021

पीजीआई अस्पताल में पूर्व राज्यपाल ने ली अंतिम सांस 96 वर्ष की उम्र में हुआ निधन

Must read

Hardoi: नानी के घर आई 6 साल की मासूम का पड़ोसी ने किया रेप, जाने पूरा मामला…

हरदोई(Hardoi) जिला के संडीला से एक मासूम के साथ दुष्कर्म का घिनौना मामला सामने आया हैं। मंगलवार रात मासूम बच्ची घर के...

Uttarakhand: देर रात भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट के घर पर हुआ धमाका

उत्तराखंड(Uttarakhand) में भाजपा जिलाध्यक्ष नैनीताल प्रदीप बिष्ट के घर पर मंगलवार देर रात करीब 12:30 बजे धमाका होने से हड़कंप मच गया...

देश में सिंगल डोज़ वैक्सीन Sputnik Light की तीसरे ट्रायल को मंज़ूरी

देश में कोरोना बीते दो साल से तबाही मचा रहा हैं और भारत में इससे अछूता नहीं हैं। हालांकि अब जा कर...

IPL: स्टेडियम में मिलेगी दर्शकों को एंट्री, इस दिन से बुक करे टिकट

BCCI ने बुधवार को IPL से जड़ी दर्शकों के लिए एक बड़ी घोषणा की हैं। बोर्ड ने टूर्नामेंट के 14वें सीज़न के...

अरूणाचल प्रदेश के पूर्व राज्यपाल एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व राजस्व मंत्री माता प्रसाद का मंगलवार की देर रात निधन हो गया.पूर्व राज्यपाल 96 वर्ष के थे और काफी लंबे से बीमार चल रहे थे.लखनऊ के पीजीआई अस्पताल में पूर्व राज्यपाल ने अंतिम सांस ली.उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले के मछलीशहर तहसील क्षेत्र के कजियाना मोहल्ले में 11 अक्टूबर 1924 को जन्मे माता प्रसाद बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे.माता प्रसाद के निधन की खबर मिलते ही पूरे जौनपुर में शोक छा गया उनके निधन से जौनपुर के लोगों में काफी दुख है.

My Bharat News - Article
पूर्व राज्यपाल माता प्रसाद

आपको बताएं कि देश की नरसिंह राव सरकार ने 21 अक्टूबर 1993 में माता प्रसाद को अरुणाचल प्रदेश का राज्यपाल बनाया और 31 मई 1999 तक ये राज्य के राज्यपाल पद पर रहे.राज्यपाल पद पर रहते हुए माता प्रसाद को तत्कालीन गृह मंत्री लालकृष्ण आडवाणी ने पद छोड़ने को कहा तो उन्होंने उनके इस प्रस्ताव को दरकिनार कर दिया था.

My Bharat News - Article

नेताओं के बीच में और जनता के बीच काफी लोकप्रिय रहने के अलावा सादगी की प्रतिमूर्ति रहे माता प्रसाद ने मौजूदा समय के राजनेताओं को आईना दिखाया है.आज के दौर में जहां एक बार विधायक या मंत्री बनते ही नेतागण गाड़ी बंगले के साथ लाखों-करोड़ों में खेलने लगते हैं,वही 5 बार विधायक, 2 बार एमएलसी,उत्तर प्रदेश में नारायण दत्त तिवारी के मुख्यमंत्री काल में राजस्व मंत्री और राज्यपाल रहे माता प्रसाद पैदल या रिक्शे पर बैठे बाजार से सामान खरीदते अक्सर दिख जाते थे आज के समय में भी उनको पैदल चलना ही पसंद था.

राजनीतिक काल में स्वर्गीय बाबू जगजीवन राम को अपना आदर्श मानने वाले माता प्रसाद जौनपुर के शाहगंज विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के टिकट पर 1957 से 1974 तक लगातार 5 बार विधायक रहने के साथ ही 1980 से 1992 तक उत्तर प्रदेश विधान परिषद के सदस्य रहें.प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी ने इन्हें अपने मंत्रिमंडल में 1988 से 89 तक राजस्व मंत्री बनाया था.माता प्रसाद जी की कार्य कुशलता को देखते हुए कांग्रेस पार्टी ने इन्हें1955 में जिला कांग्रेस कमेटी का सचिव भी बनाया था.

- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

Hardoi: नानी के घर आई 6 साल की मासूम का पड़ोसी ने किया रेप, जाने पूरा मामला…

हरदोई(Hardoi) जिला के संडीला से एक मासूम के साथ दुष्कर्म का घिनौना मामला सामने आया हैं। मंगलवार रात मासूम बच्ची घर के...

Uttarakhand: देर रात भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट के घर पर हुआ धमाका

उत्तराखंड(Uttarakhand) में भाजपा जिलाध्यक्ष नैनीताल प्रदीप बिष्ट के घर पर मंगलवार देर रात करीब 12:30 बजे धमाका होने से हड़कंप मच गया...

देश में सिंगल डोज़ वैक्सीन Sputnik Light की तीसरे ट्रायल को मंज़ूरी

देश में कोरोना बीते दो साल से तबाही मचा रहा हैं और भारत में इससे अछूता नहीं हैं। हालांकि अब जा कर...

IPL: स्टेडियम में मिलेगी दर्शकों को एंट्री, इस दिन से बुक करे टिकट

BCCI ने बुधवार को IPL से जड़ी दर्शकों के लिए एक बड़ी घोषणा की हैं। बोर्ड ने टूर्नामेंट के 14वें सीज़न के...

राकेश टिकैत ने BJP और AIMIM पर साधा निशाना, बोले AIMIM पार्टी बीजेपी की ‘बी’ पार्टी

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर नेताओं में ज़ुबानी जंग जारी हैं। ऐसे में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश...