34 C
Lucknow
शनिवार, जुलाई 24, 2021

अपनाएं चाणक्य सिद्धांत, जीनव में बनी रहेगी प्रसन्नता, परेशानियों से मिलेगा छुटकारा

Must read

पेगासस जासूसी मामले में राहुल गांधी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेगासस जासूसी मामले में बीजेपी पर एक के बाद एक कई आरोप लगाते हुए गृह...

बीएसपी के प्रबुद्ध सम्मेलन में दिखे प्रभु श्रीराम और परशुराम के पोस्टर अयोध्या से की सम्मेलन की शुरूआत

यूपी विधान सभा चुनाव 2021 से पहले ब्राह्मणों को अपने पाले में लाने के लिए बीएसपी ब्राह्मण सम्मेलन कर रही है. अयोध्या...

टीएमसी सांसद शांतनु सेन पूरे सत्र के लिए हुए सस्पेंड पेपर फाड़ने के लिए उपसभापति ने की कार्यवाही

टीएमसी सांसद शांतनु सेन ने गुरुवार को राज्यसभा में जो दुर्व्यव्हार किया था उसके लिए उन्हें मानसून सत्र के बाकी दिनों के...

लश्कर ए तैयबा के दो आतंकियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर

उत्तरी कश्मीर के सोपोर में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है.आंतकियों के मारे...

चाणक्य नीति: आचार्य चाणक्य एक महान विद्वान थे. जिनकी नीतियों पर चल कर कई साम्राज्य स्थापित हुए. उसकी बनाई नीतियां आज के समय में भी बेहद प्रासंगिक हैं. और लोगों के स्वभाव के बारे में भी बताया है. उसने बताया कि धनवान लोगों के पास कुछ चीजें हमेशा रहती हैं. आचार्य चाणक्य ने अपने इस ज्ञान को चाणक्य नीति में संकलित किया है. चाणक्य नीति में आचार्य चाणक्य द्वारा वर्णित नीतियां आज भी प्रासंगिक हैं. आइए जानते हैं आचार्य चाणक्य के अनुसार जीवन में बनी रहेगी प्रसन्नता, परेशानियों से मिलेगा छुटकारा बस करें ये काम.

चाणक्य नीति के अनुसार, यदि आपकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है तो आप धीरज से काम लें. पुराने कपड़ों को साफ करके पहनें. अगर खाना बासी है तो उसे गर्म करके खाएं. यदि आपके पास रूप नहीं है तो अपना व्यवहार अच्छा रखें. इससे आप दूसरों का दिल जीत सकते हैं.

अगर आप देवराज इंद्र की तरह यश प्राप्त करना चाहते हैं तो ईश्वर के लिए अपने हाथों से माला तैयार करें, चन्दन घिसें और पवित्र ग्रंथों का पाठ करें और उन्हें लिखें.

यदि आप अपने दुश्मनों को डराना चाहते हैं तो आपको उन्हें डरा कर रखना सीखना होगा. जिस प्रकार नाग के फन खड़ा करने मात्र से लोग भयभीत हो जाते हैं. इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि नाग जहरीला है या नहीं.

चाणक्यन नीति के अनुसार, विद्या का इस्तेमाल ही उसे फलदायी बनाता है. जो लोग धन कमाने के लिए वेदों का पाठ करते हैं और नीच लोगों का काम करते हैं और उनका अन्न खाते हैं वो बिना जहर के सांप की तरह शक्तिहीन होते हैं.

चाणक्यै नीति के अनुसार, दूसरों की कमियां उजागर करके महान बनने वाले लोग गर्त में जा गिरते हैं. जिस प्रकार कोई सांप चीटियों के टीले में जा कर अपने प्राण गंवाता है.

- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

पेगासस जासूसी मामले में राहुल गांधी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेगासस जासूसी मामले में बीजेपी पर एक के बाद एक कई आरोप लगाते हुए गृह...

बीएसपी के प्रबुद्ध सम्मेलन में दिखे प्रभु श्रीराम और परशुराम के पोस्टर अयोध्या से की सम्मेलन की शुरूआत

यूपी विधान सभा चुनाव 2021 से पहले ब्राह्मणों को अपने पाले में लाने के लिए बीएसपी ब्राह्मण सम्मेलन कर रही है. अयोध्या...

टीएमसी सांसद शांतनु सेन पूरे सत्र के लिए हुए सस्पेंड पेपर फाड़ने के लिए उपसभापति ने की कार्यवाही

टीएमसी सांसद शांतनु सेन ने गुरुवार को राज्यसभा में जो दुर्व्यव्हार किया था उसके लिए उन्हें मानसून सत्र के बाकी दिनों के...

लश्कर ए तैयबा के दो आतंकियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर

उत्तरी कश्मीर के सोपोर में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है.आंतकियों के मारे...

सिद्धू ने संभाली पंजाब प्रदेश अध्यक्ष की कमान कैप्टन अमरिंदर से जंग के बीच सिद्धु की हुई ताजपोशी

कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष की कमान संभाली ली है. चंडीगढ़ में आयोजित एक कार्यक्रम में सिद्धू की...