27 C
Lucknow
मंगलवार, अक्टूबर 19, 2021

अपनाएं चाणक्य सिद्धांत, जीनव में बनी रहेगी प्रसन्नता, परेशानियों से मिलेगा छुटकारा

Must read

T-20 World Cup: हेड कोच रवि शास्त्री का अंतिम टूर्नामेंट, बोले खिलाड़ियों को ज्यादा तैयारी की नहीं है जरूरत

T-20 World Cup में भारतीय क्रिकेट टीम अपना पहला मुकाबला 24 अक्टूबर को पाकिस्तान के खिलाफ खेलेगी। वहीं टीम इंडिया के हेड...

Rajasthan: थाने मे फर्श पर बैठी महिला विधायक, दारू पार्टी पर दिया बड़ा बयान

हाल ही मे राजस्थान(Rajasthan) के जोधपुर में एक महिला विधायक के रिश्तेदार का शराब पीकर गाड़ी चलाने के वजह से चालान कट...

BJP से मुक्त हुए बाबुल सुप्रियों, लोकसभा स्पीकर को सौंपा इस्तीफा, TMC मे जाने के बाद लिया फैसला

मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस(TMC) के नेता बाबुल सुप्रियो ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से मिलकर सांसद पद से इस्तीफा दे दिया है।...

UP विधानसभा चुनाव से पहले प्रियंका गांधी का बड़ा ऐलान, बोली UP में 40 फीसदी टिकट महिलाओं को

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने 2022 में होने वाले UP विधानसभा चुनाव को लेकर मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की।...

चाणक्य नीति: आचार्य चाणक्य एक महान विद्वान थे. जिनकी नीतियों पर चल कर कई साम्राज्य स्थापित हुए. उसकी बनाई नीतियां आज के समय में भी बेहद प्रासंगिक हैं. और लोगों के स्वभाव के बारे में भी बताया है. उसने बताया कि धनवान लोगों के पास कुछ चीजें हमेशा रहती हैं. आचार्य चाणक्य ने अपने इस ज्ञान को चाणक्य नीति में संकलित किया है. चाणक्य नीति में आचार्य चाणक्य द्वारा वर्णित नीतियां आज भी प्रासंगिक हैं. आइए जानते हैं आचार्य चाणक्य के अनुसार जीवन में बनी रहेगी प्रसन्नता, परेशानियों से मिलेगा छुटकारा बस करें ये काम.

चाणक्य नीति के अनुसार, यदि आपकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है तो आप धीरज से काम लें. पुराने कपड़ों को साफ करके पहनें. अगर खाना बासी है तो उसे गर्म करके खाएं. यदि आपके पास रूप नहीं है तो अपना व्यवहार अच्छा रखें. इससे आप दूसरों का दिल जीत सकते हैं.

अगर आप देवराज इंद्र की तरह यश प्राप्त करना चाहते हैं तो ईश्वर के लिए अपने हाथों से माला तैयार करें, चन्दन घिसें और पवित्र ग्रंथों का पाठ करें और उन्हें लिखें.

यदि आप अपने दुश्मनों को डराना चाहते हैं तो आपको उन्हें डरा कर रखना सीखना होगा. जिस प्रकार नाग के फन खड़ा करने मात्र से लोग भयभीत हो जाते हैं. इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि नाग जहरीला है या नहीं.

चाणक्यन नीति के अनुसार, विद्या का इस्तेमाल ही उसे फलदायी बनाता है. जो लोग धन कमाने के लिए वेदों का पाठ करते हैं और नीच लोगों का काम करते हैं और उनका अन्न खाते हैं वो बिना जहर के सांप की तरह शक्तिहीन होते हैं.

चाणक्यै नीति के अनुसार, दूसरों की कमियां उजागर करके महान बनने वाले लोग गर्त में जा गिरते हैं. जिस प्रकार कोई सांप चीटियों के टीले में जा कर अपने प्राण गंवाता है.

- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

T-20 World Cup: हेड कोच रवि शास्त्री का अंतिम टूर्नामेंट, बोले खिलाड़ियों को ज्यादा तैयारी की नहीं है जरूरत

T-20 World Cup में भारतीय क्रिकेट टीम अपना पहला मुकाबला 24 अक्टूबर को पाकिस्तान के खिलाफ खेलेगी। वहीं टीम इंडिया के हेड...

Rajasthan: थाने मे फर्श पर बैठी महिला विधायक, दारू पार्टी पर दिया बड़ा बयान

हाल ही मे राजस्थान(Rajasthan) के जोधपुर में एक महिला विधायक के रिश्तेदार का शराब पीकर गाड़ी चलाने के वजह से चालान कट...

BJP से मुक्त हुए बाबुल सुप्रियों, लोकसभा स्पीकर को सौंपा इस्तीफा, TMC मे जाने के बाद लिया फैसला

मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस(TMC) के नेता बाबुल सुप्रियो ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से मिलकर सांसद पद से इस्तीफा दे दिया है।...

UP विधानसभा चुनाव से पहले प्रियंका गांधी का बड़ा ऐलान, बोली UP में 40 फीसदी टिकट महिलाओं को

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने 2022 में होने वाले UP विधानसभा चुनाव को लेकर मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की।...

Cruise Drugs Case: आर्यन खान के साथ शिवसेना! नेता किशोर तिवारी ने याचिका दायर कर उठाई आवाज

Cruise Drugs Case: बॉलीवुड के बादशाह खान यानि शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान के बचाव में बॉलीवुड सितारों के अलावा अब...