27 C
Lucknow
रविवार, सितम्बर 19, 2021

किसान नेता राकेश ‘टिकाऊ’ टिकैत ने आंदोलन को लेकर कही बड़ी बात सरकार को बताया इतनी आसानी से नहीं खत्म होने वाला आंदोलन

Must read

पूर्व केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने TMC का थामा दामन, राजनीति से संन्यास लेने का किया था फैसला

पश्चिम बंगाल में उपचुनाव से पहले बीजेपी को लगा बड़ा झटका। पूर्व मंत्री रहे बाबुल सुप्रियों ने आज तृणमूल कांग्रेस(TMC) का दामन थाम...

Moradabad: सरेराह चाकू से गोदकर की हत्या, देखे वीडियो

उत्तर प्रदेश के जनपद मुरादाबाद(Moradabad) में कटघर थाना क्षेत्र के गुलबाबाड़ी इलाके में एक मर्डर से दहशत फैल गई हैं। दरअसल, एक...

Periods में इस लक्षण को कभी न करे नजरंदाज, हो सकता हैं कैंसर, जानिए कैथरीन की कहानी..

पीरियड्स(Periods) में होने कुछ लक्षणों को लोग आम समझकर नजरंदाज कर देते हैं, लेकिन कुछ लक्षण हमारे लिए जानलेवा भी साबित हो...

ISIS-K का दावा, भारत में पांच साल पहले पकड़ा गया था काबुल एयरपोर्ट का आत्मघाती हमलावार

इस्लामिक स्टेट खुरासान (ISIS-K) ने दावा किया हैं कि पिछले महीने काबुल एयरपोर्ट पर हमला करने वाला आत्मघाती हमलावर को पांच साल...

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने देश भर में चल रहे किसान आंदोलन को लेकर बड़ी बात कही है.राकेश टिकैत ने बताया कि सरकार के तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का विरोध अक्टूबर से पहले खत्म होने वाला नहीं है.राकेश टिकैत ने किसानों से जुड़े मुद्दों पर सरकार की ओर से लाए जा रहे कानूनों का विरोध करते हुए नारा देते कहा कि ‘’कानून वापसी नहीं,तो घर वापसी नहीं’’.

My Bharat News - Article
राकेश टिकैत भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता

देश भर में हो रहे किसान आंदोलन को लेकर दिल्ली से जुड़ी अलग-अलग सीमाओं पर पंजाब, हरियाणा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश समेत कई अन्य जगहों के किसान कानूनों के विरोध में पिछले 2 महीनों से ज्यादा समय से आंदोलन कर रहे हैं.किसानों की मांग सरकार की ओर से लाए गए कानूनों को वापस लेने के अलावा, एमएसपी पर कानून बनाने की है.किसानों का दावा है कि सरकार ने ये कानून चंद उद्योगपतियों की मदद करने के लिए लाई है, जबकि केंद्र सरकार इन नए कृषि कानूनों को किसानों के हित में सुधार लाने के लिए बताती रही है.

My Bharat News - Article 876
किसान आंदोलन के दौरान भावुक हुए राकेश टिकैत के आंसुओं ने आंदोलन को दी नई धार

आंदोलन में सबसे लम्बे समय तक टिके रहे किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा, ”हमने सरकार को बता दिया कि ये आंदोलन अक्टूबर तक चलेगा.अक्टूबर के बाद आगे की तारीख देंगे,बातचीत भी चलती रहेगी.नौजवानों को इस आंदोलन के पीछे बहकाया गया और उनको लाल किले का रास्ता बताया गया कि पंजाब की कौम बदनाम हो.26 जनवरी के दिन हुई लाल किले पर हिंसा में किसान कौम को बदनाम करने की कोशिश की गई है जिससे किसानों को कोई लेना-देना नहीं है.

My Bharat News - Article
राकेश टिकैत ने सरकार को कही बड़ी बात

किसान आंदोलन को राजनीति का रूप देने के लिए अलग-अलग राज्यों से विभिन्न पार्टी के नेता दिल्ली पहुंचे रहे हैं जिसके चलते शिवसेना नेता संजय राउत ने भी गाजीपुर में किसानों के प्रदर्शन स्थल पर राकेश टिकैत से मुलाकात की.शिवसेना नेता संजय राउत दोपहर में करीब एक बजे पहुंचे और मंच के पास राकेश टिकैत और अन्य प्रदर्शनकारियों से मुलाकात की.संजय राउत ने संवाददाताओं से कहा कि 26 जनवरी के बाद जिस तरह से यहां तोड़फोड़ हुई और किसान आंदोलन के दमन की कोशिश की गई, हमने महसूस किया कि किसानों के साथ खड़ें रहना और पूरे महाराष्ट्र, शिवसेना तथा उद्धव ठाकरे साहब की ओर से समर्थन करना हमारी जिम्मेदारी है.

My Bharat News - Article
संजय राउत मिलने पहुंचे राकेश टिकैत से

वहीं प्रदर्शन वाली जगह पर अलग-अलग पार्टी के नेताओं के आने पर राकेश टिकैत ने कहा कि किसानों का विरोध राजनीतिक नहीं है और किसी राजनीतिक दल के नेता को मंच पर स्थान नहीं दिया गया है.आपको बतायें कि इससे पहले शिरोमणि अकाली दल, आम आदमी पार्टी, कांग्रेस, राष्ट्रीय लोक दल, समाजवादी पार्टी सहित अन्य दलों के नेताओं ने गाजीपुर का दौरा करते हुए राकेश टिकैत के समर्थन में खड़े होते हुए सरकार के विरोध में आवाज उठाई थी.

My Bharat News - Article
कुछ दिनों पहले ही जयंत चौधरी पहुंचे थे राकेश टिकैत से मिलने

वहीं 6 फरवरी को किसानों की ओर से चक्का जाम किये जाने के ऐलान पर आंदोलन वाली सीमा पर लोहे और कंक्रीट ढांचे से बैरीकेड लगा दिए गए और बाड़बंदी कर दी गई है. इसके अलावा सड़कों पर कीलें लगा दी गई ताकि कोई प्रदर्शनकारी दिल्ली की ओर नहीं बढ़ सके,विरोध स्थल पर इंटरनेट सेवा को भी बंद कर दिया गया है.गाजीपुर की सुरक्षा इतनी चाकचौबंद की गई है कि कई लेयर में सैकड़ों की तादात में सुरक्षाकर्मी बिल्कुल अलर्ट मोड पर तैनात हैं और सीनियर ऑफिसर उन्हें तैयारी को लेकर निर्देश दे रहे हैं.रास्ते को पूरी तरह छावनी में बदलते हुए सुरक्षा का कड़ा पहरा किया गया है.

My Bharat News - Article
आंदोलन कारियों को रोकने के लिए पुलिस ने रोडों पर बिछाई कीलें
- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

पूर्व केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने TMC का थामा दामन, राजनीति से संन्यास लेने का किया था फैसला

पश्चिम बंगाल में उपचुनाव से पहले बीजेपी को लगा बड़ा झटका। पूर्व मंत्री रहे बाबुल सुप्रियों ने आज तृणमूल कांग्रेस(TMC) का दामन थाम...

Moradabad: सरेराह चाकू से गोदकर की हत्या, देखे वीडियो

उत्तर प्रदेश के जनपद मुरादाबाद(Moradabad) में कटघर थाना क्षेत्र के गुलबाबाड़ी इलाके में एक मर्डर से दहशत फैल गई हैं। दरअसल, एक...

Periods में इस लक्षण को कभी न करे नजरंदाज, हो सकता हैं कैंसर, जानिए कैथरीन की कहानी..

पीरियड्स(Periods) में होने कुछ लक्षणों को लोग आम समझकर नजरंदाज कर देते हैं, लेकिन कुछ लक्षण हमारे लिए जानलेवा भी साबित हो...

ISIS-K का दावा, भारत में पांच साल पहले पकड़ा गया था काबुल एयरपोर्ट का आत्मघाती हमलावार

इस्लामिक स्टेट खुरासान (ISIS-K) ने दावा किया हैं कि पिछले महीने काबुल एयरपोर्ट पर हमला करने वाला आत्मघाती हमलावर को पांच साल...

राजनैतिक चर्चे में आई Rakhi Sawant, ट्विटर के ज़रिये पक्ष में बोले पति राकेश

बॉलीवुड और टेलीविज़न जगत की ड्रामा क्वीन राखी सावंत(Rakhi Sawant) अक्सर ही चर्चा में रहती हैं। सोशल मीडिया पर राखी सावंत काफी...