सीएम की चेतावनी के बाद भी नहीं सुधर रहे यूपी के निजी अस्पताल मनमाने ढंग से कर रहे वसूली

My Bharat News - Article 1 5
आदेशों की यूपी के अस्पतालों में उड़ी धज्जियां

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस बात को स्पषट कर दिया है कि कोरोना मरीजों के इलाज में किसी भी तरह की ढिलाई बर्दाशत नहीं की जाएगी और ना ही पीड़ित के परिजनों से इलाज के नाम पर किसी भी तरह की गैर वसूली की जाएगी सीएम ने अधिकारियों को आदेश दिया है कि इस तरह के प्रदेश भर में जितने भी अस्पताल हैं जो गलत ढंग से पैसे वसूल रहे हैं उनपर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए..

My Bharat News - Article 2 6
सीएम योगी ने निजी अस्पतालों में लगाम लगाने के लिए दिए हैें आदेश

लेकिन उत्तर प्रदेश के कई ऐसे अस्पतालों से लगातार शिकायते आ रही हैं कि वहां पर मनमाने ढंग से पैसे की वसूली की जा रही है और अस्पताल में ऑक्सीजन की सुविधा के लिए कई घंटों तक लोगों को इंतजार करना पड़ रहा है.

My Bharat News - Article 3 6
अस्पतालों का दौरा करते हुए सीएम ने की मरीजों से खुद मुलाकात

कोरोना महामारी के बीच मेरठ में निजी अस्पतालों की मनमानी नहीं रुक रही है. सीएम योगी आदित्यनाथ के दौरे के बाद भी अस्पताल मरीजों से मनमाने रेट वसूल रहे हैं. एक दिन में मरीज से 20 हजार तक की दवाइयां मंगवाई जा रही हैं.दो दिन में 4 ऑक्सीजन सिलिंडर लगाने के दावे किए जा रहे हैं, सिलिंडर के नाम पर मरीजों के परिजनों से 3500 रुपये तक वसूले जा रहे हैं.

My Bharat News - Article 4 6
इलाज के नाम पर निजी अस्पतालों में की जा रही अवैध वसूली पर सीएम योगी हुए सख्त

आलम यह है कि अपनों के इलाज के लिए कोई घर गिरवी रखकर पैसे जुटा रहा है तो बिल न चुकाने पर तीमारदार को गैलरी में बैठाया जा रहा है.

My Bharat News - Article 6 5
यूपी के कई अस्पतालों में खुद दौरा करने पहुंचे सीएम योगी

गढ़ रोड कमालपुर निवासी वर्षा के परिजनों ने घर गिरवी रखकर इलाज के लिए पैसे जुटाए हैं,परिजनों ने बताया कि अस्पताल पक्का बिल नहीं दे रहे हैं, कच्चे बिल में भी अलग-अलग चार्ज जोड़कर दिखाया जा रहा है. यही हाल बागपत रोड स्थित एक प्राइवेट अस्पताल का है जहां पर नर्सिंग चार्ज 2500, एनआईबीपी चार्ज 2500, ड्रिप चार्ज 200, डाक्टर विजिट 2000 जोड़ कर दिखाया जा रहा है.

My Bharat News - Article 7 6
ऑक्सीजन सिलिंडर के नाम पर अस्पतालों में हो रहा बड़ा खेल

बागपत रोड स्थित निजी अस्पताल में भर्ती किया गया, अस्पताल ने दो दिन तक 42 हजार का कच्चा बिल बनाया. तीमारदार आकाश ने बताया कि दो दिन में मरीज को चार ऑक्सीजन सिलिंडर लगाने की बात कही गई है.साथ ही आईसीयू सहित अन्य सेवाओं के नाम भी अवैध वसूली की जा रही है.