27 C
Lucknow
मंगलवार, अक्टूबर 19, 2021

यूपी के प्रतापगढ़ की शर्मनाक तस्वीरें,बीमार पति को पीठ पर लाद अस्पताल में चक्कर काटती रही महिला, नहीं मिला स्ट्रेचर

Must read

T-20 World Cup: हेड कोच रवि शास्त्री का अंतिम टूर्नामेंट, बोले खिलाड़ियों को ज्यादा तैयारी की नहीं है जरूरत

T-20 World Cup में भारतीय क्रिकेट टीम अपना पहला मुकाबला 24 अक्टूबर को पाकिस्तान के खिलाफ खेलेगी। वहीं टीम इंडिया के हेड...

Rajasthan: थाने मे फर्श पर बैठी महिला विधायक, दारू पार्टी पर दिया बड़ा बयान

हाल ही मे राजस्थान(Rajasthan) के जोधपुर में एक महिला विधायक के रिश्तेदार का शराब पीकर गाड़ी चलाने के वजह से चालान कट...

BJP से मुक्त हुए बाबुल सुप्रियों, लोकसभा स्पीकर को सौंपा इस्तीफा, TMC मे जाने के बाद लिया फैसला

मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस(TMC) के नेता बाबुल सुप्रियो ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से मिलकर सांसद पद से इस्तीफा दे दिया है।...

UP विधानसभा चुनाव से पहले प्रियंका गांधी का बड़ा ऐलान, बोली UP में 40 फीसदी टिकट महिलाओं को

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने 2022 में होने वाले UP विधानसभा चुनाव को लेकर मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की।...

यूपी के प्रतापगढ़ स्थित जिला अस्पताल की अव्यवस्था को उजागर करने वाली यह तस्‍वीर मानवता को शर्मसार भी करती है। एक महिला अपने बीमार पति को डॉक्‍टर के पास दिखाने ले आती है। बीमार पति खुद चलने की हालत में नहीं है। मरीज को जब स्‍ट्रेचर नहीं मिल पाता तो महिला पति को अपनी पीठ पर लादकर ले जाने पर मजबूर हो जाती है। खास बात यह कि वहां उसकी मदद करने वाला कोई नहीं मिलता। ना तो अस्‍पताल के किसी कर्मचारी ने और ना ही किसी तीमारदार ने उसकी सहायता करने की जरूरत समझी। महिला का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

My Bharat News - Article pratap34


पीड़ित महिला शोभा का कहना है कि वह प्रतापगढ़ शहर में किराए पर रहती है। वह मूल रूप से अमेठी जिले के निवासी है। वह अपने बीमार पति राधेश्याम का इलाज कराने के लिए शुक्रवार को जिला अस्पताल पहुंची। पहले तो वह काफी देर तक स्ट्रेचर ढूंढती रही और कर्मचारियों से मदद भी मांगी, लेकिन उसे वह न तो स्ट्रेचर मिला और ना ही किसी कर्मचारी ने उनकी किसी तरीके से मदद की।

My Bharat News - Article pratapgrah12



महिला ने इंतजार नहीं किया होगा: मुख्य चिकित्साधीक्षक
खास बात यह है की अस्पताल में इलाज कराने के लिए पहुंचे किसी भी तीमारदार ने भी इस महिला की कोई मदद नहीं की है और वह भी तमाशबीन बने रहे। वही, इस मामले पर मुख्य चिकित्साधीक्षक पीपी पांडेय ने गैरजिम्‍मेदाराना बयान देते हुए कहा कि अस्पताल में हर समय 5 या 6 स्‍ट्रेचर रहते हैं। रोज अस्‍पताल में करीब मरीज 500 आते हैं। ऐसे में तुरंत सबको स्‍ट्रेचर उपलब्‍ध कराना असंभव है। महिला ने इंतजार नहीं किया होगा।

- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

T-20 World Cup: हेड कोच रवि शास्त्री का अंतिम टूर्नामेंट, बोले खिलाड़ियों को ज्यादा तैयारी की नहीं है जरूरत

T-20 World Cup में भारतीय क्रिकेट टीम अपना पहला मुकाबला 24 अक्टूबर को पाकिस्तान के खिलाफ खेलेगी। वहीं टीम इंडिया के हेड...

Rajasthan: थाने मे फर्श पर बैठी महिला विधायक, दारू पार्टी पर दिया बड़ा बयान

हाल ही मे राजस्थान(Rajasthan) के जोधपुर में एक महिला विधायक के रिश्तेदार का शराब पीकर गाड़ी चलाने के वजह से चालान कट...

BJP से मुक्त हुए बाबुल सुप्रियों, लोकसभा स्पीकर को सौंपा इस्तीफा, TMC मे जाने के बाद लिया फैसला

मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस(TMC) के नेता बाबुल सुप्रियो ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से मिलकर सांसद पद से इस्तीफा दे दिया है।...

UP विधानसभा चुनाव से पहले प्रियंका गांधी का बड़ा ऐलान, बोली UP में 40 फीसदी टिकट महिलाओं को

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने 2022 में होने वाले UP विधानसभा चुनाव को लेकर मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की।...

Cruise Drugs Case: आर्यन खान के साथ शिवसेना! नेता किशोर तिवारी ने याचिका दायर कर उठाई आवाज

Cruise Drugs Case: बॉलीवुड के बादशाह खान यानि शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान के बचाव में बॉलीवुड सितारों के अलावा अब...