29 C
Lucknow
रविवार, जुलाई 25, 2021

उत्तरप्रदेश के ललितपुर की शर्मनाक तस्वीर, शव पोस्टमॉर्टम हाउस से लाने के लिए गिरवी रखने पड़े मां के जेवर,प्रशासन से नहीं मिली मदद

Must read

पेगासस जासूसी मामले में राहुल गांधी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेगासस जासूसी मामले में बीजेपी पर एक के बाद एक कई आरोप लगाते हुए गृह...

बीएसपी के प्रबुद्ध सम्मेलन में दिखे प्रभु श्रीराम और परशुराम के पोस्टर अयोध्या से की सम्मेलन की शुरूआत

यूपी विधान सभा चुनाव 2021 से पहले ब्राह्मणों को अपने पाले में लाने के लिए बीएसपी ब्राह्मण सम्मेलन कर रही है. अयोध्या...

टीएमसी सांसद शांतनु सेन पूरे सत्र के लिए हुए सस्पेंड पेपर फाड़ने के लिए उपसभापति ने की कार्यवाही

टीएमसी सांसद शांतनु सेन ने गुरुवार को राज्यसभा में जो दुर्व्यव्हार किया था उसके लिए उन्हें मानसून सत्र के बाकी दिनों के...

लश्कर ए तैयबा के दो आतंकियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर

उत्तरी कश्मीर के सोपोर में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है.आंतकियों के मारे...

उत्तर प्रदेश. ललितपुर जिले में दंपती के शव को पोस्टमॉर्टम हाउस तक ले जाने और पोस्टमॉर्टम कराने के बाद घर लाने के लिए एक युवक को अपनी बूढ़ी मां के जेवरात साहूकार के पास गिरवी रखने पड़े। युवक के पास वाहनों का किराया देने के लिए पैसे नहीं थे। बताया गया कि आर्थिक तंगी के चलते ही दंपती ने आत्महत्या कर ली थी।

परिजन ने बताया कि जिला प्रशासन ने शवों को पोस्टमॉर्टम हाउस तक भेजने और ले आने में कोई मदद नहीं की। बता दें कि 17 नवंबर को कोतवाली तालबेहट अंतर्गत ग्राम पंचायत खांदी के मजरा करीला के रहने वाले 22 साल के लवकुश कुशवाहा और उसकी 20 वर्षीया पत्नी सीमा कुशवाहा के शव घर में संदिग्धावस्था में पड़े मिले थे। मृतक के भाई भागीरथ और रतीराम ने बताया कि आर्थिक तंगी के चलते आए दिन पति-पत्नी में विवाद होता था। इसी विवाद के चलते दोनों ने आत्महत्या कर ली थी।

प्राइवेट ऐंबुलेंस से लाया गया शव
घटना की सूचना मिलने के बाद क्षेत्राधिकारी तालबेहट और उपजिलाधिकारी तालबेहट मौके पर पहुंचे थे। पंचनामा भरकर दोनों शवों को ललितपुर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया था। दम्पती के शव को ललितपुर स्थित पोस्टमॉर्टम हाउस पर लाने के लिए परिजन ने 2800 रुपए में किराए पर वाहन लिया। इसके बाद पोस्टमॉर्टम हाउस से दोनों शवों को वापस घर ले जाने के लिए प्राइवेट ऐम्बुलेंस को 2500 रुपये में किराए पर लिया।

दोनों वाहनों का किराया चुकाने के लिए परिजन के पास पैसे नहीं थे। जिसके चलते भाई भागीरथ ने मां के हाथ की चांदी की चूड़ियां दो प्रतिशत के ब्याज पर 3 हजार रुपये में एक साहूकार के पास गिरवी रखीं। इसके अलावा मां की चांदी की करधोनी 5 प्रतिशत के ब्याज पर 5 हजार रुपये में गिरवीं रखीं, तब 8 हजार रुपये जुट सके। इसके बाद वाहनों का किराया दिया जा सका। इधर पोस्टमॉर्टम हाउस पर मृतक के भाई भागीरथ और रतीराम ने बताया कि उनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं हैं। इस कारण मां के जेवरात गिरवी रखने पड़े।

- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

पेगासस जासूसी मामले में राहुल गांधी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेगासस जासूसी मामले में बीजेपी पर एक के बाद एक कई आरोप लगाते हुए गृह...

बीएसपी के प्रबुद्ध सम्मेलन में दिखे प्रभु श्रीराम और परशुराम के पोस्टर अयोध्या से की सम्मेलन की शुरूआत

यूपी विधान सभा चुनाव 2021 से पहले ब्राह्मणों को अपने पाले में लाने के लिए बीएसपी ब्राह्मण सम्मेलन कर रही है. अयोध्या...

टीएमसी सांसद शांतनु सेन पूरे सत्र के लिए हुए सस्पेंड पेपर फाड़ने के लिए उपसभापति ने की कार्यवाही

टीएमसी सांसद शांतनु सेन ने गुरुवार को राज्यसभा में जो दुर्व्यव्हार किया था उसके लिए उन्हें मानसून सत्र के बाकी दिनों के...

लश्कर ए तैयबा के दो आतंकियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर

उत्तरी कश्मीर के सोपोर में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है.आंतकियों के मारे...

सिद्धू ने संभाली पंजाब प्रदेश अध्यक्ष की कमान कैप्टन अमरिंदर से जंग के बीच सिद्धु की हुई ताजपोशी

कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष की कमान संभाली ली है. चंडीगढ़ में आयोजित एक कार्यक्रम में सिद्धू की...