26 C
Lucknow
मंगलवार, अक्टूबर 19, 2021

उत्तरप्रदेश के ललितपुर की शर्मनाक तस्वीर, शव पोस्टमॉर्टम हाउस से लाने के लिए गिरवी रखने पड़े मां के जेवर,प्रशासन से नहीं मिली मदद

Must read

Rajasthan: थाने मे फर्श पर बैठी महिला विधायक, दारू पार्टी पर दिया बड़ा बयान

हाल ही मे राजस्थान(Rajasthan) के जोधपुर में एक महिला विधायक के रिश्तेदार का शराब पीकर गाड़ी चलाने के वजह से चालान कट...

BJP से मुक्त हुए बाबुल सुप्रियों, लोकसभा स्पीकर को सौंपा इस्तीफा, TMC मे जाने के बाद लिया फैसला

मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस(TMC) के नेता बाबुल सुप्रियो ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से मिलकर सांसद पद से इस्तीफा दे दिया है।...

UP विधानसभा चुनाव से पहले प्रियंका गांधी का बड़ा ऐलान, बोली UP में 40 फीसदी टिकट महिलाओं को

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने 2022 में होने वाले UP विधानसभा चुनाव को लेकर मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की।...

Cruise Drugs Case: आर्यन खान के साथ शिवसेना! नेता किशोर तिवारी ने याचिका दायर कर उठाई आवाज

Cruise Drugs Case: बॉलीवुड के बादशाह खान यानि शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान के बचाव में बॉलीवुड सितारों के अलावा अब...

उत्तर प्रदेश. ललितपुर जिले में दंपती के शव को पोस्टमॉर्टम हाउस तक ले जाने और पोस्टमॉर्टम कराने के बाद घर लाने के लिए एक युवक को अपनी बूढ़ी मां के जेवरात साहूकार के पास गिरवी रखने पड़े। युवक के पास वाहनों का किराया देने के लिए पैसे नहीं थे। बताया गया कि आर्थिक तंगी के चलते ही दंपती ने आत्महत्या कर ली थी।

परिजन ने बताया कि जिला प्रशासन ने शवों को पोस्टमॉर्टम हाउस तक भेजने और ले आने में कोई मदद नहीं की। बता दें कि 17 नवंबर को कोतवाली तालबेहट अंतर्गत ग्राम पंचायत खांदी के मजरा करीला के रहने वाले 22 साल के लवकुश कुशवाहा और उसकी 20 वर्षीया पत्नी सीमा कुशवाहा के शव घर में संदिग्धावस्था में पड़े मिले थे। मृतक के भाई भागीरथ और रतीराम ने बताया कि आर्थिक तंगी के चलते आए दिन पति-पत्नी में विवाद होता था। इसी विवाद के चलते दोनों ने आत्महत्या कर ली थी।

प्राइवेट ऐंबुलेंस से लाया गया शव
घटना की सूचना मिलने के बाद क्षेत्राधिकारी तालबेहट और उपजिलाधिकारी तालबेहट मौके पर पहुंचे थे। पंचनामा भरकर दोनों शवों को ललितपुर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया था। दम्पती के शव को ललितपुर स्थित पोस्टमॉर्टम हाउस पर लाने के लिए परिजन ने 2800 रुपए में किराए पर वाहन लिया। इसके बाद पोस्टमॉर्टम हाउस से दोनों शवों को वापस घर ले जाने के लिए प्राइवेट ऐम्बुलेंस को 2500 रुपये में किराए पर लिया।

दोनों वाहनों का किराया चुकाने के लिए परिजन के पास पैसे नहीं थे। जिसके चलते भाई भागीरथ ने मां के हाथ की चांदी की चूड़ियां दो प्रतिशत के ब्याज पर 3 हजार रुपये में एक साहूकार के पास गिरवी रखीं। इसके अलावा मां की चांदी की करधोनी 5 प्रतिशत के ब्याज पर 5 हजार रुपये में गिरवीं रखीं, तब 8 हजार रुपये जुट सके। इसके बाद वाहनों का किराया दिया जा सका। इधर पोस्टमॉर्टम हाउस पर मृतक के भाई भागीरथ और रतीराम ने बताया कि उनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं हैं। इस कारण मां के जेवरात गिरवी रखने पड़े।

- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

Rajasthan: थाने मे फर्श पर बैठी महिला विधायक, दारू पार्टी पर दिया बड़ा बयान

हाल ही मे राजस्थान(Rajasthan) के जोधपुर में एक महिला विधायक के रिश्तेदार का शराब पीकर गाड़ी चलाने के वजह से चालान कट...

BJP से मुक्त हुए बाबुल सुप्रियों, लोकसभा स्पीकर को सौंपा इस्तीफा, TMC मे जाने के बाद लिया फैसला

मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस(TMC) के नेता बाबुल सुप्रियो ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से मिलकर सांसद पद से इस्तीफा दे दिया है।...

UP विधानसभा चुनाव से पहले प्रियंका गांधी का बड़ा ऐलान, बोली UP में 40 फीसदी टिकट महिलाओं को

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने 2022 में होने वाले UP विधानसभा चुनाव को लेकर मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की।...

Cruise Drugs Case: आर्यन खान के साथ शिवसेना! नेता किशोर तिवारी ने याचिका दायर कर उठाई आवाज

Cruise Drugs Case: बॉलीवुड के बादशाह खान यानि शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान के बचाव में बॉलीवुड सितारों के अलावा अब...

Tomato Rate: देश मे महंगाई की मार, पेट्रोल- डीजल के रेट पर बिक रहा टमाटर

हमारे देश मे कुछ समय से महंगाई मे काफी बढोतरी होती नजर आ रही है। उपभोक्ता मंत्रालय के अनुसार 50 से ज्यादा...