व्हाइट फंगस से महिला की आंतों में छेद देखकर डॉक्टर हुए हैरान

My Bharat News - Article 1 12
सर गंगाराम अस्पताल में व्हाइट फंगस के बाद आंतों में छेद का पहला मामला

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमित  मरीज में व्हाइट फंगस के चलते फूड पाइप, छोटी आंत और बड़ी आंत में छेद होने का दुनिया में पहला मामला सामने आया है. दिल्ली के सर गंगा राम अस्पताल  में भर्ती एक 49 वर्षीय महिला में ये मामला डॉक्टर के सामने आया. इसके चलते महिला मरीज की हालत काफी नाजुक थी, इसके बाद इलाज की कड़ी में उसके पेट में पाइप डालकर करीब एक लीटर पस और बाइल द्रव्य निकला गया.

My Bharat News - Article 2 14
महिला की हालत देखते हुए अस्पताल के इमरजेंसी में तुरंत किया गया था एडमिट

बताया जा रहा है कि ये महिला पिछले सप्ताह 13 मई, 2021 को सर गंगा राम अस्पताल के इमरजेंसी में लाई गई थी. जांच के दौरान महिला ने पेट में असहनीय दर्द की शिकायत की थी, इस बीच जांच में पता चला कि उल्टी के साथ महिला पेट के  कब्ज़ से भी पीड़ित थी.

My Bharat News - Article 3 12
कोरोना से संक्रमित महिला को सांस लेने में हुई थी कठिनाई

सर गंगा राम अस्पताल में भर्ती होने के बाद  कोरोना वायरस संक्रमित इस महिला को सांस लेने में काफी कठिनाई हो रही थी। इसके बाद अस्पताल के डॉक्टरों ने सीटी स्कैन किया तो नतीजे के तौर पर मरीज के पेट में हवा और तरल द्रव्य का आभास हुआ, जोकि आंतो में छेद की निशानी मानी जाती है. अस्पताल के डॉक्टर अनिल अरोड़ा ने बताया कि महिला मरीज की हालत काफी नाजुक थी, जिसके चलते महिला को इमरजेंसी सर्जरी के लिए डॉक्टर समीरन नंदी की अध्यक्षता में बनी टीम द्वारा तुरंत ऑपरेशन थिएटर ले जाया गया था.

My Bharat News - Article 4 12
महिला के पेट में पाइप डालकर निकाला गया करीब 1 लीटर पस

इसके बाद डॉक्टर अनिल अरोड़ा ने बताया कि महिला की हालत नाजुक देखकर उपचार के लिए तुरंत उनके पेट में पाइप डालकर करीब एक लीटर पस और वाइल द्रव निकाला गया. वहीं डॉ समीरन नदी के अनुसार 4 घंटे तक चले ऑपरेशन और सर्जरी के बाद महिला की फूड पाइप, छोटी आंत और बड़ी आंत में हुए छेदों को बंद कर दिया गया साथ ही छोटी आंतों में हुए गैंगरीन को भी निकालकर एक टुकड़े को बायोप्सी के लिए भेज दिया गया है.

My Bharat News - Article 2्
डॉ.अनिल अरोड़ा के मुताबिक व्हाइट फंगस की वजह से आंत में छेद होना ये दुनिया का पहला ऐसा मामला है

डॉक्टर अरोड़ा ने बताया कि बायोप्सी से पता चला कि महिला की आंतों में व्हाइट फंगस था और उसकी वजह से घाव होने के बाद आंतों में छेद हो गए थे. इसके बाद महिला को एंटी फंगल ट्रीटमेंट दिया गया और अब महिला की हालत में काफी सुधार है. डॉ अरोड़ा के अनुसार कोविड के उपचार के लिए इस्तेमाल हुए स्टेरॉयड की वजह से ब्लैक फंगस होने और उसकी वजह से आंतों में छेद होने के कुछ मामले पहले भी आए हैं लेकिन व्हाइट फंगस की वजह से आंतों में छेद होने का यह दुनियाभर में पहला मामला है.

My Bharat News - Article 2ू
डॉ.समीरन नंदी की अध्यक्षता में बनी टीम ने महिला का किया ऑपरेशन