15 C
Lucknow
सोमवार, नवम्बर 29, 2021

हाथरस केस में सीबीआई ने दाखिल की चार्जशीट, ‘गैंगरेप करने के बाद गुड़िया की हत्या की गई थी’

Must read

गौतम गंभीर को तीसरी बार मिली जान से मारने की धमकी

पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद गौतम गंभीर को फिर जान से मारने की धमकी मिली है। गौतम गंभीर को कथित तौर पर...

UPTET पेपर लीक मामला- सीएम ने कहा- आरोपियों पर गैंगेस्टर और रासुका के तहत कार्रवाई, संपत्ति भी होगी जब्त

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीईटी की परीक्षा लीक मामले को काफी गंभीरता से लिया है। उन्होंने आरोपियों के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट के...

चिरंजीवी ने कोरियोग्राफर के इलाज के लिए दिए 3 लाख

राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता कोरियोग्राफर शिवशंकर मास्टर कोविड-19 से लड़ रहे हैं. कोरियोग्राफर फिलहाल अस्पताल में भर्ती हैं और बताया जा रहा है...

दुनिया में कोरोना से हाहाकार, इजराइल में विदेशियों के आने पर पाबंदी, ब्रिटेन में हाई अलर्ट, साउथ अफ्रीका में लॉकडाउन का विरोध

साउथ अफ्रीका में कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन मिलने बाद दुनिया अलर्ट पर है। इजराइल ने तमाम विदेशी नागरिकों की देश में...

हाथरस.उत्तर प्रदेश में हाथरस गैंगरेप केस के तीन महीने बाद शुक्रवार को मामले की जांच कर रही सीबीआई टीम ने चारों आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दी। आरोपी 19 साल की दलित युवती के साथ गैंगरेप करने तथा बाद में उसकी हत्या कर देने के मामले में न्यायिक हिरासत में हैं। जांच एजेंसी ने हाथरस की एक स्थानीय अदालत में संदीप, लवकुश, रवि और रामू के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है। आरोपियों के खिलाफ गैंगरेप-हत्या की धाराओं के अलावा एससी/एसटी ऐक्ट की धाराएं भी लगाई गई हैं।

आरोपियों के वकील ने कोर्ट के बाहर बताया कि हाथरस की स्थानीय अदालत ने मामले को संज्ञान में लिया है। बता दें कि बीते 14 सितंबर को हाथरस की दलित युवती के साथ कथित उच्च जाति के चार लोगों ने गैंगरेप किया था। युवती की 29 सितंबर को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। इसके बाद कथित तौर पर परिवार की मंजूरी के बिना पुलिस ने आनन-फानन में युवती का दाह-संस्कार कर दिया था।

न्यायिक हिरासत में हैं आरोपी
परिवार ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए थे लेकिन विभाग का कहना है कि परिवार की मर्जी के बाद ही युवती का अंतिम संस्कार किया गया। मामले में यूपी पुलिस के अलावा एसटीएफ ने भी जांच की। बाद में केस सीबीआई को सौंप दिया गया था। एजेंसी मामले में आरोपियों संदीप, लवकुश, रामू और रवि की भूमिका की जांच में लगी है। फिलहाल, चारों आरोपी न्यायिक हिरासत में हैं।

सीबीआई ने अपनी चार्जशीट में चारों पर गैंगरेप और उसके बाद हत्या के गंभीर आरोप लगाए हैं। जांच के दौरान आरोपियों का कई तरह का फरेंसिक टेस्ट किया गया था। इसके अलावा जांचकर्ताओं ने जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज ऐंड हॉस्पिटल के डॉक्टरों से भी बातचीत की, जहां गैंगरेप पीड़िता का इलाज कराया गया था। बता दें कि मामले को लेकर योगी सरकार को भी काफी आलोचनाएं झेलनी पड़ी थीं। यूपी पुलिस गैंगरेप थ्योरी खारिज करने के चलते लोगों के निशाने पर थी।

- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

गौतम गंभीर को तीसरी बार मिली जान से मारने की धमकी

पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद गौतम गंभीर को फिर जान से मारने की धमकी मिली है। गौतम गंभीर को कथित तौर पर...

UPTET पेपर लीक मामला- सीएम ने कहा- आरोपियों पर गैंगेस्टर और रासुका के तहत कार्रवाई, संपत्ति भी होगी जब्त

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीईटी की परीक्षा लीक मामले को काफी गंभीरता से लिया है। उन्होंने आरोपियों के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट के...

चिरंजीवी ने कोरियोग्राफर के इलाज के लिए दिए 3 लाख

राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता कोरियोग्राफर शिवशंकर मास्टर कोविड-19 से लड़ रहे हैं. कोरियोग्राफर फिलहाल अस्पताल में भर्ती हैं और बताया जा रहा है...

दुनिया में कोरोना से हाहाकार, इजराइल में विदेशियों के आने पर पाबंदी, ब्रिटेन में हाई अलर्ट, साउथ अफ्रीका में लॉकडाउन का विरोध

साउथ अफ्रीका में कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन मिलने बाद दुनिया अलर्ट पर है। इजराइल ने तमाम विदेशी नागरिकों की देश में...

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, कई गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश में रविवार यानी 28 नवंबर को हो रही यूपी शिक्षक पात्रता परीक्षा रद्द (UPTET Exam 2022) कर दी गई है....