UP चुनाव से पहले संजय निषाद ने दिया विवादित बयान, बोले – ‘राजा दशरथ के बेटे नहीं थे राम’

UP चुनाव से पहले संजय निषाद ने दिया विवादित बयान, बोले - 'राजा दशरथ के बेटे नहीं थे राम'

UP विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भले ही BJP ने निषाद पार्टी के साथ गठबंधन कर लिया हो लेकिन निषाद पार्टी के अध्यक्ष और एमएलसी संजय निषाद आए दिन कोई न कोई ऐसा बयान दे देते हैं जिससे बीजेपी पशोपेश में पड़ जाती है।

ऐसे ही प्रयागराज के सर्किट हाउस में मीडिया से बात करते हुए संजय निषाद ने मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम को लेकर एक विवादित बयान दिया। संजय निषाद ने कहा की भगवान श्री राम और निषाद राज का जन्म मखौड़ा घाट पर हुआ, पुत्रयेष्ठ कामी यज्ञ में नियोग विधि से खीर खिलाने के बहाने हुआ, संजय निषाद ने कहा खीर खाने से कोई बच्चा नहीं होता। संजय निषाद ने भगवान श्री राम को राजा दशरथ का तथाकथित पुत्र बताया। संजय निषाद ने बताया कि श्रीराम राजा दशरथ के नहीं बल्कि श्रृंगऋषि निषाद के पुत्र हैं।

संजय निषाद ने बढ़ाई BJP की टेंशन, कहा - अपनी मांगों को लेकर हर जिले में  करेंगे धरना-प्रदर्शन Sanjay Nishad said will hold protest every district  regarding demands

भगवान श्री राम को लेकर संजय निषाद ने कहा की उनके माता-पिता उन्हे नहीं समझ सके। यहां तक की अयोध्या वासी भी भगवान श्री राम को नहीं समझ पाए, लेकिन निषाद राज पहले ऐसी शक्ति थे। जिन्होंने भगवान श्री राम को पहचाना, ये बात उन्हे इजरायल के एक लायब्रेरी में पता चली। उन्होंने कहा की भगवान श्री राम की पहचान राजा निषाद को थी, इसलिए वे भगवान के समान है। राजा निषाद और भगवान श्री राम की गले मिलते हुई भव्य प्रतिमा लगाई जाए।

वहीं इस पूरे मामले पर AIMIM चीफ असदुद्दीन आवैसी ने भी चुटकी ली है,ओवैसी ने कहा, संघ प्रमुख मोहन भागवत तो डीएनए एक्सपर्ट हैं। उनको इस पूरे मामले पर स्पष्टीकरण देना चाहिए। ओवैसी ने संजय निषाद के विवादित बयान को दोहराते हुए कहा कि भगवान राम का जन्म निषाद परिवार में हुआ था, वे राजा दशरथ के पुत्र नहीं हैं। बीजेपी और संघ के बड़े नेताओं को इस मामले में अब कुछ तो बोलना चाहिए।