25 C
Lucknow
रविवार, अक्टूबर 17, 2021

छठ पूजा को लेकर कई राज्यों में रोक, जानें किन राज्यों में क्या है गाइडलाइंस

Must read

Bangladesh में हिंदुओं पर दुर्गा पूजन के दौरान हुआ हमला, तीन ने गवाई जान, जाने पूरा मामला

बांग्लादेश(Bangladesh) में हिंदुओं पर अत्याचार की खबर आए दिन सामने आ रही हैं। बुधवार रात सोशल मीडिया पर हिंदुओं द्वारा कुरान का...

पूर्व पीएम मनमोहन सिंह दिल्ली AIIMS में भर्ती, पीएम मोदी ने स्वास्थ ठीक होने की कामना

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह दिल्ली स्थित ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइन्सेज(AIIMS)मे भर्ती हैं। मनमोहन सिंह को सांस लेने में दिक्कत और...

ठगी मामले में जैकलीन के बाद अब नोरा को भी ED ने भेज समन

200 करोड़ से अधिक की ठगी और फिरौती के मास्टरमाइंड सुकेश चंद्रशेखर मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जैकलीन फर्नांडिस के बाद अब नोरा...

World Sight Day: क्या होता है विश्व दृष्टि दिवस? जाने इस साल की थीम

दुनिया भर में सभी आयु वर्ग के लगभग 1 अरब लोग या तो पास की नजर या दूर की नजर या फिर...

कोरोना के चलते देश के महत्वपूर्ण पर्व और त्योहारों पर भी इसका बुरा असर पड़ा है. इस बार अधिकतर त्योहार कोरोना महामारी के साए में ही मनाए जा रहे हैं. ऐसे में लोगों की सुरक्षा को देखते हुए सरकार की तरफ से सख्ती के साथ गाइडलाइंस जारी की जाती रही हैं. पूर्वांचलियों के लिए प्रसिद्ध छठ का पर्व आज देश के हर कोने में मनाया जाता है. लोग नदी किनारे सूर्य को अर्घ्य देने के लिए भारी तादाद में पहुंचते हैं. लेकिन इस बार छठ के इस महापर्व पर देशभर के अलग-अलग राज्यों में वहां की सरकार ने गाइडलाइन जारी की है. आइये जानते हैं यूपी-दिल्ली से लेकर ओडिशा और महाराष्ट्र तक क्या हैं गाइडलाइन्स?

1-दिल्ली में सार्वजनिक स्थलों पर छठ पूजा पर रोक

दिल्ली सरकार ने कोरोना के तेजी से बढ़ रहे मामलों के देखते हुए इस मौके पर अवकाश तो घोषित किया है लेकिन सार्वजनिक तौर पर छठ पूजा की इजाजत नहीं दी है. हालांकि, लोग अपने घरों में या किसी निजी स्थल पर छठ का यह पर्व मना सकते हैं। त्योहार में कोविड-19 दिशा-निर्देशों का पालन करना जरूरी होगा। हालांकि रोक को लेकर जमकर राजनीति भी हो रही है. यही नहीं महामारी के प्रकोप को देखते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने भी राष्ट्रीय राजधानी में घाटों पर छठ पूजा समारोह आयोजित करने की अनुमति देने से इनकार कर दिया.

2- बिहार में लोगों से घर पर ही छठ पूजा की अपील

बिहार सरकार ने लोगों से इस बार कोरोना महामारी के चलते यथा संभव घर पर ही छठ पूजा करने की अपील की है. इसके साथ ही प्रशासन ने श्रद्धालुओं से तालाब किनारे पूजा करने और अर्घ्य के दौरान उसमें डुबकी नहीं लगाने का आग्रह किया है. गृह विभाग के निर्देशों के अनुसार, छठ पर्व के दौरान बुखार से ग्रस्त व्यक्ति, 60 साल से ऊपर के व्यक्ति, 10 साल से कम उम्र के बच्चे और अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रस्त व्यक्तियों को छठ घाटों पर नहीं जाने की सलाह दी है. इसके साथ ही, प्रत्येक व्यक्ति को मास्क का प्रयोग करने और 2 गज की दूरी का अनिवार्य रूप से पालन करने की सलाह दी गई है.

3-यूपी में छठ पर्व को लेकर सुरक्षा के सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश की योगी सररकार ने कोरोना के बीच छठ पर्व को लेकर जारी गाइडलाइन्स में सुरक्षा के सख्त निर्देश दिए हैं. राज्य के अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने निर्देश जारी करते हुए कहा कि पूजन स्थलों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन होना चाहिए और सभी कार्यक्रमों में 2 गज की दूरी और मास्क का अनिवार्य रूप से इस्तेमाल किया जाना चाहिए. इसके साथ ही, इन गाइडलाइन्स में महिलाओं से कहा गया है कि वे छठ पर्व को घर पर ही मनाएं या घर के पास ही मनाएं. साथ ही, घाटों में पानी के बहाव के समुचित प्रबंध के निर्देश भी दिए गए हैं.

4-झारखंड में छठ घर पर मनाने की अपील

कोरोना महामारी के चलते झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने इस बार छठ पर्व को दिल्ली की तरह की सार्वजनिक तौर पर मनाने की इजाजत नहीं दी है. राज्य सरकार ने सार्वजनिक तालाब, बांध, जलाशय और नदी में छठ पूजा के मौके पर अर्घ्य की इजाजत नहीं दी है. राज्य सरकार ने गाइडलाइन्स में श्रद्धालुओं से छठ पूजा घर में ही मनाने की अपील की है.

5-महाराष्ट्र में समुद्र किनारे छठ पर रोक

महाराष्ट्र में भी कोरोना के चलते इस बार छठ पर्व के मौके राज्य की उद्धव सरकार ने कई तरह की रोक लगाते हुए गाइडलाइन्स जारी की है. बीएमसी ने मुंबई में समुद्र तटों, नदी और तालाब में छठ पूजा मनाने पर रोक लगा दी है. इसके साथ ही, मुंबई पुलिस से भी कहा गया है कि वे सार्वजनिक स्थलों पर श्रद्धालुओं की भीड़ को इकट्ठा होने से रोंके. हालांकि, इन कड़े निर्देशों के बीच कृत्रिक तालाबों में छठ पूजा की इजाजत दी गई है.

6-बंगाल और ओडिशा में लगी रोक

कोरोना महामारी के चलेत बंगाल में छठ पर्व को लेकर कई तरह के प्रतिबंध लगाए गए हैं। राज्य की ममता सरकार ने यहां पर प्रतिबंधित ढंग से समारोह मनाने की इजाजत दी है, लेकिन आतिशबाजी की अनुमति नहीं दी गई. जबकि अगर ओडिशा की बात करें तो यहां पर नदी के किनारे नहाने और समारोह पर पाबंदी लगाई गई है. ओडिशा सरकार ने ये प्रतिबंध इसलिए लगाया है क्योंकि घाट पर लोग एकत्र होते हैं तो भीड़ में कोरोना का संक्रमण अधिक फैलने का खतरा उत्पोन्न होगा। इतना ही नहीं, राज्य सरकार की चेतावनी है कि इस आदेश का उल्लंघन करने वाला कोई भी व्यक्ति 2005 के आपदा प्रबंधन अधिनियम और अन्य संबंधित कानूनों के तहत सजा दी जाएगी।

- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

Bangladesh में हिंदुओं पर दुर्गा पूजन के दौरान हुआ हमला, तीन ने गवाई जान, जाने पूरा मामला

बांग्लादेश(Bangladesh) में हिंदुओं पर अत्याचार की खबर आए दिन सामने आ रही हैं। बुधवार रात सोशल मीडिया पर हिंदुओं द्वारा कुरान का...

पूर्व पीएम मनमोहन सिंह दिल्ली AIIMS में भर्ती, पीएम मोदी ने स्वास्थ ठीक होने की कामना

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह दिल्ली स्थित ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइन्सेज(AIIMS)मे भर्ती हैं। मनमोहन सिंह को सांस लेने में दिक्कत और...

ठगी मामले में जैकलीन के बाद अब नोरा को भी ED ने भेज समन

200 करोड़ से अधिक की ठगी और फिरौती के मास्टरमाइंड सुकेश चंद्रशेखर मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जैकलीन फर्नांडिस के बाद अब नोरा...

World Sight Day: क्या होता है विश्व दृष्टि दिवस? जाने इस साल की थीम

दुनिया भर में सभी आयु वर्ग के लगभग 1 अरब लोग या तो पास की नजर या दूर की नजर या फिर...

IPL 2021: हार के बाद प्लायर्स की आंखे हुई नम, दिल्ली कैपिटल्स को सेमिफाइनल्स में करना पड़ा हार का सामना

दिल्ली कैपिटल्स ने IPL की हर टीम को हरा कर अपनी जगह सेमी फाइनल में बनाई थी, लेकिन कोलकाता नाइट राइडर्स ने...