आंध्र प्रदेश : हैवानियत की सारी हदें पार करते हुए 80 से अधिक लोगों ने 13 साल की नाबालिग के साथ 8 महीनों तक किया गैंगरेप

My Bharat News - Article Rape
मासूम पर टूटी मुसीबतें

आंध्र प्रदेश के गुंटूर में 13 साल की नाबालिग के साथ गैंगरेप की होश फाख्ता करने वाली खबर सामने आई है, जहां 13 साल की मासूम का पाला 80 दरिंदों से पड़ गया, इन दरिंदों ने उसकी इज्जत के साथ तो खिलवाड़ किया ही साथ ही इंसानियत के ऊपर से लोगों का विश्वास उठ जाए ऐसे कूकृत्य को अपनी हवश के लिए अंजाम दिया. पुलिस ने अब इन सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

My Bharat News - Article 6 1 2
हैवानों ने इंसानियत को किया शर्मसार

मामला आंध्र प्रदेश के गुंटूर का है जहां मात्र 13 साल की बच्ची के साथ इन जानवरों की ओर से किया गया कृत्य समाज पर धब्बा है, वो छोटी सी उम्र जिसमें बच्चे अपना जीवन, समाज यहां तक कि अपने शरीर को भी ठीक से नहीं समझ पाते हैं, उस उम्र में इस बच्ची को तेलंगाना व आंध्र के वेश्यालयों में भेड़ियों के हवाले कर दिया गया था. आंध्र प्रदेश पुलिस ने उस नाबालिग को वहां से मुक्त कराया है, इसके बाद उन सभी 80 दरिंदों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और फरार आरोपियों की तलाश कर रही है, ताकि पीड़िता को ‘न्याय’ दिलाया जा सके.

My Bharat News - Article 099
पुलिस ने एक बीटेक छात्र समेत 10 आरोपियों को गिरफ्तार किया

पुलिस के अनुसार गिरफ्तार किए गये आरोपियों में एक बीटेक का छात्र भी है, बच्ची ने पुलिस को जब अपने साथ हुई दरिंदगी की पूरी दास्तां सुनाई तो ये सुनकर पुलिसकर्मी भी हैरान रह गए. दरअसल, सवर्ण कुमारी नाम की एक महिला ने जून 2021 में कोविड-19 महामारी के दौरान एक अस्पताल में पीड़िता की मां से पहले दोस्ती की और कोविड के कारण जब उसकी मां की मौत हो गई तो इस महिला ने बिना इसके पिता को बताए अपने साथ ले गई और वैश्यालयों के हवाले कर दिया. अगस्त 2021 में लड़की के पिता ने जब पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराई तो पुलिस ने मुख्य आरोपी सवर्ण कुमारी की तलाश की.इस मामले में पहली गिरफ्तारी जनवरी 2022 में हुई थी, वहीं कल यानि 19 अप्रैल को गुंटूर पश्चिम क्षेत्र पुलिस ने बी.टेक के एक छात्र सहित 10 लोगों को नाबालिग के साथ गैंगरेप के आरोप में गिरफ्तार किया और पीड़िता को वहां से मुक्त कराया.