30 C
Lucknow
रविवार, अगस्त 1, 2021

यूपी के शाहजहांपुर में इंडियन आर्मी की सुरक्षा में सेंध की कोशिश नाकाम, फर्जी दस्तावेजों पर भर्ती कराने वाले गैंग का पर्दाफाश, 5 शातिर गिरफ्तार

Must read

केरल में एक दिन में 22 हजार से अधिक नए कोरोना केस सामने आने से बढ़ी अन्य राज्यों की चिंता

केरल में मंगलवार को कोरोना के 22,129 नए मामले सामने आए हैं और 156 लोगों की कोरोना से मौत हो गई है....

जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ में बादल फटने की घटना से 4 की मौत 30 से ज्यादा लोग अभी भी लापता

जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ में लगातार हो रही भारी बारिश के बाद प्राकृतिक आपदा ने लोगों को अपनी चपेट में लिया है.किश्तवाड़...

बाराबंकी सड़क हादसे में 20 की मौत पीएम मोदी और राष्ट्रपति ने हादसे पर जताया दु:ख

यूपी के बाराबंकी में भीषण सड़क हादसे में कुल 20 लोगों की मौत हो गई है. जबकि कई लोग अभी भी गंभीर...

पेगासस जासूसी मामले में राहुल गांधी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेगासस जासूसी मामले में बीजेपी पर एक के बाद एक कई आरोप लगाते हुए गृह...

यूपी के शाहजहांपुर में भारतीय आर्मी की सुरक्षा में बड़ी सेंध लगाने की कोशिश को नाकाम किया गया है। यहां फर्जी दस्‍तावेजों पर भर्ती कराने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश हुआ है। यह गैंग चलाने वाला एक पूर्व सैनिक ही है। पुलिस ने गिरोह के सरगना और एक सिपाही समेत 5 लोगों को अरेस्‍ट किया है। इनके पास से कई दस्‍तावेज, मोहरें और एक लिस्‍ट बरामद की गई है। इस लिस्‍ट में उन लोगों के नाम हैं जिनको सेना में भर्ती कराने पर उनसे पैसा लेना था। गैंग का सरगना सुरेश मेरठ का रहने वाला है। वह पंचायत अध्‍यक्ष का चुनाव लड़ना चाहता था। पैसे की कमी थी इसलिए उसने फर्जी दस्‍तावेजों के आधार पर सेना में भर्ती कराने का धंधा शुरू कर दिया। मिलिट्री इंटेलिजेंस, एलआईयू समेत अन्य खुफिया एजेंसियां जांच में जुट गई हैं। इसके साथ ही पिछले एक साल में शाहजहांपुर में सेना की नौकरी पाने वालों की भी जांच की जा रही है।


मेरठ के थाना सरधना निवासी सुरेश सोम पूर्व सैनिक है। रिटायर होकर घर आने के बाद उसे नेतागिरी का शौक लग गया। इसी शौक को पूरा करने के लिए उसने सेना में भर्ती करवानी शुरू कर दी। उसके इस गिरोह में एक सिपाही और 3 अन्‍य लोग भी शामिल थे। मंगलवार रात सेना में भर्ती कराने के नाम पर सभी लोग थाना बंडा क्षेत्र में एक मकान में रुके थे। किसी तरह पुलिस को यह सूचना मिल गई और सबको अरेस्‍ट कर लिया गया।
पूछताछ के दौरान पता चला कि एक फर्जी पुलिस वेरीफिकेशन के नाम पर बंडा थाने के सिपाही ने 52 हजार रुपये की घूस ली थी, पुलिस ने उसको भी गिरफ्तार कर लिया है।

1 से 6 लाख रुपये तक वसूलते थे
एसपी एस आनंद ने बताया कि सेना में भर्ती के नाम पर गैंग का सरगना सुरेश 1 लाख से लेकर 6 लाख रुपये लेता था। सभी भर्तियां फर्जी दस्‍तावेजों पर कराई जाती थी। यह गिरोह यूपी के कई जिलों में लोगों को फर्जी दस्तावेजों पर सेना में नौकरी दिला चुका है। नौकरी के नाम पर थाने पर एक फर्जी पुलिस वेरिफिकेशन कराना था, उस वेरिफिकेशन पर ही पुलिस को शक हुआ था, जिसके बाद इस गिरोह का पर्दाफाश हो गया।

- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

केरल में एक दिन में 22 हजार से अधिक नए कोरोना केस सामने आने से बढ़ी अन्य राज्यों की चिंता

केरल में मंगलवार को कोरोना के 22,129 नए मामले सामने आए हैं और 156 लोगों की कोरोना से मौत हो गई है....

जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ में बादल फटने की घटना से 4 की मौत 30 से ज्यादा लोग अभी भी लापता

जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ में लगातार हो रही भारी बारिश के बाद प्राकृतिक आपदा ने लोगों को अपनी चपेट में लिया है.किश्तवाड़...

बाराबंकी सड़क हादसे में 20 की मौत पीएम मोदी और राष्ट्रपति ने हादसे पर जताया दु:ख

यूपी के बाराबंकी में भीषण सड़क हादसे में कुल 20 लोगों की मौत हो गई है. जबकि कई लोग अभी भी गंभीर...

पेगासस जासूसी मामले में राहुल गांधी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए गृह मंत्री अमित शाह से मांगा इस्तीफा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पेगासस जासूसी मामले में बीजेपी पर एक के बाद एक कई आरोप लगाते हुए गृह...

बीएसपी के प्रबुद्ध सम्मेलन में दिखे प्रभु श्रीराम और परशुराम के पोस्टर अयोध्या से की सम्मेलन की शुरूआत

यूपी विधान सभा चुनाव 2021 से पहले ब्राह्मणों को अपने पाले में लाने के लिए बीएसपी ब्राह्मण सम्मेलन कर रही है. अयोध्या...