America: नीरा टंडन को व्हाइट हाउस में मिली बड़ी जिम्मेदारी, बाइडेन की बनी स्टाफ सचिव

America: नीरा टंडन को व्हाइट हाउस में मिली बड़ी जिम्मेदारी, बाइडेन की बनी स्टाफ सचिव

भारतीय मूल की नीरा टंडन को व्हाइट हाउस में स्टाफ सचिव नियुक्त किया गया हैं। उन्होंने एक बार फिर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन(America President Joe Biden) का भरोसा जीत लिया हैं। इससे पहले मई के महीने में नीरा को बाइडेन का वरिष्ठ सलाहकार नियुक्त किया गया था। वहीं इस नियुक्ति के बाद अब नीरा टंडन को अहम जिम्मेदारी दी गई है, जिसके तहत उनके पास अब राष्ट्रपति बाइडेन के सभी दस्तावेजों का नियंत्रण रहेगा। नीरा टंडन इस पद पर आसीन होने वाली पहली भारतीय-अमेरिकी होंगी।

आपको बता दे नीरा टंडन के लिए यह एक बड़ी उपलब्धि हैं। व्हाइट हाउस के स्टाफ सचिव पर्दे के पीछे रहकर काम करते हैं लेकिन इनकी भूमिका बेहद ही महत्वपूर्ण होती है। एक अधिकारी ने कहा कि व्हाइट हाउस में स्टाफ सचिव की भूमिका केंद्रीय तंत्रिका तंत्र के समान है, जो कि निर्णय लेने की प्रक्रिया को आगे बढ़ाती है और राष्ट्रपति के लिए कई तरह के मुद्दों का प्रबंधन करती है।

नीर टंडन व्हाइट हाउस के वरिष्ठ सलाहकार के अपने पद को बरकरार रखेंगे, जिसमें उन्होंने राष्ट्रपति को कई मुद्दों पर सलाह दी है। वाशिंगटन पोस्ट के मुताबिक, वह व्हाइट हाउस के चीफ ऑफ स्टाफ रोनाल्ड क्लेन को रिपोर्ट करेंगे। 

Who is Neera Tanden? Hillary Clinton loyalist and Joe Biden's pick for  budget chief

राष्ट्रपति बाइडेन ने नीरा टंडन को पिछले साल बजट और प्रबंधन कार्यालय का नेतृत्व करने के लिए नामित किया था, जो कि एक प्रमुख कैबिनेट पद है। हालांकि कुछ माह पूर्व नीरा टंडन ने रिपब्लिकन सीनेटरों के कड़े विरोध के कारण व्हाइट हाउस प्रबंधन एवं बजट कार्यालय के निदेशक के पद के लिए अपना नामांकन वापस ले लिया था।

टंडन के पास नीति और प्रबंधन में दो दशकों से अधिक का अनुभव है जो कि व्हाइट हाउस में नीति को और मजबूत करने का काम करेगा। घरेलू, आर्थिक और राष्ट्रीय सुरक्षा नीति में उनका अनुभव इस नई भूमिका में एक महत्वपूर्ण संपत्ति होगी।

टंडन अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन के कार्यकाल में व्हाइट हाउस में घरेलू नीति की सहायक निदेशक और प्रथम महिला की वरिष्ठ नीति सलाहकार के रूप में अपना करियर शुरू किया था। इसके अलावा टंडन अमेरिका स्वास्थ्य एवं मानव सेवा मंत्रालय में स्वास्थ्य सुधारों की वरिष्ठ सलाहकार रह चुकी हैं।

उन्होंने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के कार्यकाल में अफोर्डेबल केयर एक्ट के कुछ विशेष प्रावधानों पर कांग्रेस और हितधारकों के साथ मिलकर काम किया था।