भारत के बाद इस देश में भी गाय की महत्ता के हो रहें चर्चे, काउ हग के लिए 200 डॉलर तक का कर रहें भुगतान

My Bharat News - Article 11 9
अमेरिका में लोग गाय को लगा रहे गले

कोरोना वायरस की दूसरी लहर के चलते इस समय देश और दुनिया का हाल बेहाल है.कोरोना महामारी की चपेट में आने वाले लोग लगातार जान गंवा रहे हैं और संक्रमण से बचाव के लिए लॉकडाउन में लोग घरों में कैद से हो गए हैं.

My Bharat News - Article 3े
तनाव से मुक्ति पाने के लिए लोग ले रहे गाय का सहारा

ऐसे में डिप्रेशन और एंग्जायटी की समस्या भी मनुष्य के जीवन में आम होती जा रही है.लोग अपने-अपने तरीकों से इससे पार पाने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन अमेरिका और यूरोप में इसके लिए एक अनोखी तरकीब निकाली गई है. अमेरिकी लोग मानसिक शांति के लिए काउ हगिंग यानी गाय को गले लगा रहे हैं, जिसके लिए वे 200 डॉलर तक का भुगतान करने को तैयार हैं.

My Bharat News - Article 2ल
अमेरिका में लोग गाय को गले लगाने के लिए कर रहे 200 डॉलर तक का भुगतान

कांग्रेस नेता मिलिंद देवरा ने सीएनबीसी  का एक वीडियो शेयर करते हुए कहा कि,अमेरिका में लोग गाय को गले लगाने के लिए एक घंटे का  200 डॉलर तक का भुगतान कर रहे हैं.उन्होंने लिखा कि इससे ये बिल्कुल साफ है कि भारत इसमें अमेरिका से आगे है,क्योंकि यहां गायों को 3000 सालों से पूजा जा रहा है.

My Bharat News - Article 3रक 1
अमेरिकी लोगों का मानना है कि गाय के पास होने से उन्हें मिलती है मानसिक संतुष्टि

गाय को गले लगाने के पीछे लोगों का मानना है कि इससे न केवल तनाव से राहत मिलती है बल्कि मा​नसिक स्वास्थ्य के लिहाज से किसी पालतू जानवर का साथ बहुत फायदेमंद है. वैसे, भारत में गाय को सहलाने और गले लगाने की परंपरा काफी पुरानी है, ये दिलचस्प है कि अब दुनिया में ये ट्रेंड बढ़ रहा है और लोग गाय को अधिक महत्व देने को तैयार हुए हैं.

My Bharat News - Article 4दज
डॉक्टरों के मुताबिक गाय को गले लगाने से तनाव का स्तर होता है कम

वहीं इस पर डॉक्टरों का कहना है कि गाय को गले लगाने का एहसास घर पर एक बच्चे या पालतू जानवर को पालने के समान है. एक हग हैप्पी हार्मोन ऑक्सीटोसिन, सेरोटोनिन और डोपामाइन को ट्रिगर करता है, जो कोर्टिसोल यानि कि तनाव हार्मोन को कम करता है. ये तनाव के स्तर, चिंता और अवसाद के लक्षणों को कम करता है.

My Bharat News - Article 2्ल
जगजाहिर है कि गाय के सरल और शांत स्वभाव के चलते भारत में उसे मां का दर्जा दिया जाता है

जगजाहिर है कि गाय स्वभाव से शांत, कोमल और धैर्यवान होती हैं और गले लगाने वालों को उसके गर्म शरीर के तापमान, धीमी गति से दिल की धड़कन और बड़े आकार से फायदा होता है.ये सब प्रक्रिया शरीर के मेटाबोलिज्म, इम्यूनिटी और तनाव प्रतिक्रिया को रेगुलेट करने में मदद करती है.