16 C
Lucknow
रविवार, नवम्बर 28, 2021

6 साल के मासूम को डॉक्टरों ने घोषित किया मृत, मां पुकारती रही और चलने लगी सांस

Must read

गौतम गंभीर को तीसरी बार मिली जान से मारने की धमकी

पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद गौतम गंभीर को फिर जान से मारने की धमकी मिली है। गौतम गंभीर को कथित तौर पर...

UPTET पेपर लीक मामला- सीएम ने कहा- आरोपियों पर गैंगेस्टर और रासुका के तहत कार्रवाई, संपत्ति भी होगी जब्त

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीईटी की परीक्षा लीक मामले को काफी गंभीरता से लिया है। उन्होंने आरोपियों के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट के...

चिरंजीवी ने कोरियोग्राफर के इलाज के लिए दिए 3 लाख

राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता कोरियोग्राफर शिवशंकर मास्टर कोविड-19 से लड़ रहे हैं. कोरियोग्राफर फिलहाल अस्पताल में भर्ती हैं और बताया जा रहा है...

दुनिया में कोरोना से हाहाकार, इजराइल में विदेशियों के आने पर पाबंदी, ब्रिटेन में हाई अलर्ट, साउथ अफ्रीका में लॉकडाउन का विरोध

साउथ अफ्रीका में कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन मिलने बाद दुनिया अलर्ट पर है। इजराइल ने तमाम विदेशी नागरिकों की देश में...

हरियाणा के बहादुरगढ़ से चौका देने वाला मामला सामने आया है. जहां एक 6 साल के मासूम को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया था. वहीं मां घर पर रोते हुए मृत बेटे के शव को जिंदा करने की करुण पुकार लगाती रही थी और इतने में मासूम की सांसे फिर से चलने लग गई.

My Bharat News - Article hariyana news 2
कुणाल को 26 मई को रोहतक के एक प्राईवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया था


दरअसल किला मोहल्ले के निवासी विजय शर्मा के पोते कुणाल शर्मा को 26 मई को दिल्ली के डॉक्टरों ने टाइफाइड से मृत घोषित कर दिया और शव को पैक करके बेटे के पिता हितेश और मां जानवी को सौंप दिया था. लेकिन घर जाकर वह फिर से जिंदा हो गया.

My Bharat News - Article download 5
26 मई को दिल्ली के डॉक्टरों ने टाइफाइड से मृत घोषित कर दिया था कुणाल को

बच्चे के पिता कुणाल को लेकर अपने साले के घर पहुंचे और वहां उसका अंतिम संस्कार करने की तैयारी चल रही थी. इसी बीच दादी ने जिद करते हुए कहा कि उन्हें अपने पोते की शक्ल देखनी है और उसे पैतृक घर पर लाया जाए. जिसके बाद कुणाल के पिता उसे घर लेकर आए. अगर दादी कुणाल की शक्ल देखने की जिद ना करती तो कुणाल का अंतिम संस्कार हो चुका होता.
इस दौरान थोड़ी देर बाद कुणाल के शरीर में कुछ हरकत दिखी तो परिजनों को उम्मीद जागी. जिसके बाद पिता हितेश बच्चे का चेहरा चादर की पैकिंग से बाहर निकाला और कुणाल को मुंह से सांस देने लगे. इस दौरान उसके शरीर में कुछ और हरकत दिखाई दी तो पड़ोसी सुनील ने बच्चे की छाती पर दबाव देना शुरू किया.

My Bharat News - Article 2 14
अगर दादी कुणाल की शक्ल देखने की जिद ना करती तो कुणाल का अंतिम संस्कार हो चुका होता.

इसके बाद मासूम कुणाल को 26 मई को रोहतक के एक प्राईवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां डॉक्टरों ने उसके 15 फीसदी बचने की ही संभावना जताई थी वहीं धीरे-धीरे मासूम कुणाल ठीक होने लगा और मंगलवार को वो अपने घर भी पहुंच गया है.

- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

गौतम गंभीर को तीसरी बार मिली जान से मारने की धमकी

पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद गौतम गंभीर को फिर जान से मारने की धमकी मिली है। गौतम गंभीर को कथित तौर पर...

UPTET पेपर लीक मामला- सीएम ने कहा- आरोपियों पर गैंगेस्टर और रासुका के तहत कार्रवाई, संपत्ति भी होगी जब्त

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीईटी की परीक्षा लीक मामले को काफी गंभीरता से लिया है। उन्होंने आरोपियों के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट के...

चिरंजीवी ने कोरियोग्राफर के इलाज के लिए दिए 3 लाख

राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता कोरियोग्राफर शिवशंकर मास्टर कोविड-19 से लड़ रहे हैं. कोरियोग्राफर फिलहाल अस्पताल में भर्ती हैं और बताया जा रहा है...

दुनिया में कोरोना से हाहाकार, इजराइल में विदेशियों के आने पर पाबंदी, ब्रिटेन में हाई अलर्ट, साउथ अफ्रीका में लॉकडाउन का विरोध

साउथ अफ्रीका में कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन मिलने बाद दुनिया अलर्ट पर है। इजराइल ने तमाम विदेशी नागरिकों की देश में...

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, कई गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश में रविवार यानी 28 नवंबर को हो रही यूपी शिक्षक पात्रता परीक्षा रद्द (UPTET Exam 2022) कर दी गई है....