25 C
Lucknow
शुक्रवार, सितम्बर 17, 2021

जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ में बादल फटने की घटना से 4 की मौत 30 से ज्यादा लोग अभी भी लापता

Must read

Hardoi: नानी के घर आई 6 साल की मासूम का पड़ोसी ने किया रेप, जाने पूरा मामला…

हरदोई(Hardoi) जिला के संडीला से एक मासूम के साथ दुष्कर्म का घिनौना मामला सामने आया हैं। मंगलवार रात मासूम बच्ची घर के...

Uttarakhand: देर रात भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट के घर पर हुआ धमाका

उत्तराखंड(Uttarakhand) में भाजपा जिलाध्यक्ष नैनीताल प्रदीप बिष्ट के घर पर मंगलवार देर रात करीब 12:30 बजे धमाका होने से हड़कंप मच गया...

देश में सिंगल डोज़ वैक्सीन Sputnik Light की तीसरे ट्रायल को मंज़ूरी

देश में कोरोना बीते दो साल से तबाही मचा रहा हैं और भारत में इससे अछूता नहीं हैं। हालांकि अब जा कर...

IPL: स्टेडियम में मिलेगी दर्शकों को एंट्री, इस दिन से बुक करे टिकट

BCCI ने बुधवार को IPL से जड़ी दर्शकों के लिए एक बड़ी घोषणा की हैं। बोर्ड ने टूर्नामेंट के 14वें सीज़न के...

जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ में लगातार हो रही भारी बारिश के बाद प्राकृतिक आपदा ने लोगों को अपनी चपेट में लिया है.किश्तवाड़ में बादल फटने से 30 से अधिक लोग लापता हो गए हैं,जिसके बाद बचाव अभियान शुरू कर दिया गया है. किश्तवाड़ जिले के होंजर दचान गांव में बादल फटने से 4 की मौत हो गई है,वहीं इस हादसे में करीब 30 से अधिक लोग लापता बताए जा रहे हैं. वहीं हादसे में गायब हुए लोगों के लिए अभी भी बचाव अभियान जारी है.

My Bharat News - Article 79
प्रशासन की ओर से चलाया जा रहा है राहत कार्य

आपको बता दें कि जम्मू क्षेत्र के अधिकांश हिस्सों में पिछले कुछ दिनों से भारी बारिश हो रही है. जुलाई के अंत तक और बारिश की चेतावनी जारी की गई है,साथ ही किश्तवाड़ में अधिकारियों ने जलाशयों और स्लाइड-प्रवण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को सतर्क रहने के लिए कहा गया है.

My Bharat News - Article 99 1
इस हादसे में करीब 30 से अधिक लोग लापता बताए जा रहे हैं.

मौसम विभाग ने आने वाले दिनों में भारी बारिश की भविष्यवाणी की है, नदियों और नालों में जल स्तर बढ़ने की उम्मीद है, जो नदियों, नालों, जल निकायों और स्लाइड-प्रवण क्षेत्रों के पास रहने वाले निवासियों के लिए खतरा पैदा कर सकता है.

My Bharat News - Article
बादल फटने की घटना से करीब 30 से अधिक लोग अभी भी लापता हैं

किश्तवाड़ जिले में भारी बारिश से ज्यादातर नदियों और नालों में जल स्तर बढ़ गया है और बादल फटने से भी जल निकायों पर असर पड़ा है. पहाड़ी इलाका होने की वजह से भूस्खलन होने का खतरा बढ़ गया है,इसी को देखते हुए जिला पुलिस किश्तवाड़ की तरफ हेल्प डेस्क भी लगाया गया है और लोगों को घर पर रहने के लिए कहा गया है.साथ ही लोगों के लिए प्रशासन की ओर से कई हैल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं,इन नंबरों पर फोन कर लोग मदद मांग सकते हैं.

- विज्ञापन -

More articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- विज्ञापन -

Latest article

Hardoi: नानी के घर आई 6 साल की मासूम का पड़ोसी ने किया रेप, जाने पूरा मामला…

हरदोई(Hardoi) जिला के संडीला से एक मासूम के साथ दुष्कर्म का घिनौना मामला सामने आया हैं। मंगलवार रात मासूम बच्ची घर के...

Uttarakhand: देर रात भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट के घर पर हुआ धमाका

उत्तराखंड(Uttarakhand) में भाजपा जिलाध्यक्ष नैनीताल प्रदीप बिष्ट के घर पर मंगलवार देर रात करीब 12:30 बजे धमाका होने से हड़कंप मच गया...

देश में सिंगल डोज़ वैक्सीन Sputnik Light की तीसरे ट्रायल को मंज़ूरी

देश में कोरोना बीते दो साल से तबाही मचा रहा हैं और भारत में इससे अछूता नहीं हैं। हालांकि अब जा कर...

IPL: स्टेडियम में मिलेगी दर्शकों को एंट्री, इस दिन से बुक करे टिकट

BCCI ने बुधवार को IPL से जड़ी दर्शकों के लिए एक बड़ी घोषणा की हैं। बोर्ड ने टूर्नामेंट के 14वें सीज़न के...

राकेश टिकैत ने BJP और AIMIM पर साधा निशाना, बोले AIMIM पार्टी बीजेपी की ‘बी’ पार्टी

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर नेताओं में ज़ुबानी जंग जारी हैं। ऐसे में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश...